अब आसानी से करें खाद्य पदार्थों में मिलावट की पहचान, बस फालो करने होंगे ये Tips

त्योहार के सीजन में गुझिया से लेकर दूध, पनीर, खोया और मिठाई में भारी मिलावट होती है।

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारी एसपी सिंह ने बताया कि होली के त्योहार के मद्देनजर दुकानों मंडियों और डेयरी पर हो रहे मिलावट के खेल की रोकथाम और कार्यवाही के लिए विभाग द्वारा पांच टीमें बनाई गई हैं।

Rafiya NazWed, 03 Mar 2021 05:31 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। होली के त्योहार पर गुझिया से लेकर दूध, पनीर, खोया और मिठाई में भारी मिलावट होती है। इस कारण बाजार से कोई भी सामान खरीदते समय सावधानी बरतें। आप खुद से ख्ररीदी गई वस्तु का परीक्षण कर सकते हैं। अगर मिलावट समझ में आये तो तत्काल हमारे टोफ-फ्री हेल्प लाइन नंबर 1800112100 पर फोन कर दे सकते हैं। तत्काल विभाग द्वारा कार्यवाही की जाएगी। बुधवार को यह जानकारी खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारी एसपी सिंह ने दी। वह दैनिक जागरण द्वारा आयोजित प्रश्न पहर कार्यक्रम में कार्यालय में उपस्थित रहें। दोपहर दो बजे से तीन बजे तक तमाम लोगों ने कार्यालय के लैंड लाइन नंबर फोन कर जानकारी ली। इसके बाद श्री सिंह ने सभी के सवालों का जवाब देकर उनकी जिज्ञासा शांत की।

सवाल : मिलावटी दूध और खोया मिलने पर उसकी शिकायत कहां और कैसे करें?

विवेक वर्मा, बंग्ला बाजार

जवाब : हर एक क्षेत्र में फूड सेफ्टी अधिकारी का कार्यालय है। आप वहां शिकायत कर सकते हैं। अगर वहां भी न जाना चाहें तो हमारे टोफ-फ्री हेल्प लाइन नंबर 1800112100 पर फोन कर शिकायत करें। 24 घंटे के अंदर शिकायत पर कार्यवाही की जाएगी।

सवाल : पनीर में मिलावट की पहचान कैसे करें?

ऊर्षा वर्मा, बंग्ला बाजार

जवाब : थोड़ी सी पनीर अपने हाथ में लें और उसे अंगुली से रगड़ते रहें। अगर उसमें चिकनाई छूट रही है तो समझे कि पनीर ठीक है।

सवाल : दूध में मिलावट की पहचान कैसे करें?

अरुण द्विवेदी, राजाजीपुरम

जवाब : दूध को एक बोतल में लें और उसे हिलाएं। अगर उसमें झाग आए और थोड़ी देर तक बना रहे, तो समझिए कि दूध में डिटर्जेंट की मिलावट है। इसके अलावा पानी की मिलावट देखनी है तो नाखून पर एक बूंद रखें। अगर वह फैल जाए तो समझिए की पानी की मिलावट है।

सवाल : देशी घी की मिलावट कैसे चेक करें?

स्नेहा सिंह, 9 न्यू तिलक नगर

जवाब : देशी घी की मिलावट चेक करने के लिए बजार से थोड़ा ऑयोडीन टिंचर ले लें। उस टिंचर को थोड़े से घी में थोड़ा मिलाएं। अगर टिंचर बैंगनी से नीला हो जाए तो समझिए की घी में मिलावट है।

सवाल : मिठाई में चांदी के वास्तविक वर्क की पहचान कैसे करें?

अनामिका तिवारी, हैदरगंज लखनऊ

जवाब : मिठाई में लगे वर्क को हाथ में लें और अंगुली से उसे रगड़ें अगर वह पूरा घुल जाए तो समझिए कि चांदी का वास्तविक वर्क है। अगर उसकी गोली बन जाए तो एल्युमिनियम का होता है। इस तरह वर्क की पहचान करें।

सवाल : काली मिर्च में बहुत मिलावट की शिकायत है इसकी पहचान कैसे करें?

उपासना अवस्थी, कुंडरी रकाबगंज

जवाब : काली मिर्च में अकसर पपीते के बीज की मिलावट की जाती है। उसकी पहचान के लिए एक ग्लास में थोड़ी सी काली मिर्च डालें। काली मिर्च नीचे बैठ जाएगी और जो पपीते के बीच होंगे वह ऊपर आ जाएंगे। काली मिर्च का भार पपीते के बीज से अधिक होता है।

सवाल : खोया की मिलावट को कैसे चेक करेंगे?

संजय यादव, खदरा

जवाब : खोए में अक्सर आलू, शकरकंद मिलाई जाती है। उसे चेक करने के लिए थोड़ा खोया हाथ में लें और फिर उसे अंगुली से रगड़े अगर उसमें चिकनाई नहीं है तो समझिए कि खोया ठीक नहीं है।

सवाल : मिठाइयों में मिलावट की पहचान कैसे करें?

भूमि निगम, राजाजीपुरम

जवाब : कभी भी बहुत चमकदार (साइनिंग वाली) मिठाई दुकान से न लें। उसमें मिलावट हो सकती है।

सवाल : चीनी में मिलावट कैसे परखें?

गीता गुप्ता, आलमबाग

जवाब : चीनी को एक ग्लास में घोल दें। चीनी होगी तो घुल जाएगी। अगर मिलावट होती तो उसमें सफेद-सफेद कड़ नीचे सतह पर बैठ जाएंगे।

होली के त्योहार को लेकर जांच और छापेमारी के लिए बनीं पांच टीमें

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारी एसपी सिंह ने बताया कि होली के त्योहार के मद्देनजर दुकानों, मंडियों और डेयरी पर हो रहे मिलावट के खेल की रोकथाम और कार्यवाही के लिए विभाग द्वारा पांच टीमें बनाई गई हैं। यह टीमें पांचों तहसील और 23 जोन में मिठाई की दुकानों, मंडियों, किराना व्यवसायी, रेस्टोरेंट, डेयरी, नमकीन कारखानों आदि पर छापेमारी कर कार्यवाही करेंगी। यहां से मिली खाद्य वस्तुओं की सैंपलिंग करेंगी। मिलावट होने पर दुकानदारों के खिलाफ कार्यवाही होगी।

बीते माह लिए गए 180 सर्विलांस और 200 विधिक नमूने

खाद्य सुरक्षा अधिकारी एसपी सिंह ने बताया कि बीते माह सुरक्षा के दृष्टिगत खोया, दूध, आटा, घी और तेल के 180 सर्विलांस और 200 विधिक नमूने लिए गए हैं। नमूनों की जांच भी की जा रही है। लैब में मिलावट की पुष्टि होने पर कार्यवाही की जाएगी।

ब्लाकों में आशा बहुओं और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दी ट्रेनिंग

गर्भवती महिलाओं की सुरक्षा के दृष्टिगत उन्हें पोषण और खाद्यान की जानकारी देने हेतु सभी ब्लाकों में आशा बहुओं और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग दी गई है। आशा बहुएं और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता गर्भवती महिलाओं को जागरूक कर रही हैं।

ईट-राइट चैलेंज से जानें कहां हैं सुरक्षित खाद्यान

खाद्य सुरक्षा अधिकारी एसपी सिंह ने बताया शहर में रहने वाले अथवा बाहर से आने वाले लोगों के लिए केंद्र सरकार की योजना पर ईट-राइट चैलेंज जागरूकता कार्यक्रम की शुरूआत की गई है। इसके तहत छह बिंदु हैं। जिससे लोगों को यह जानकारी होगी कि किस रेस्टोरेंट में मानक के अनुरूप कितना शुद्ध खानपान है। कहां पर खाने का मानक हाईजीन के अनुरूप है। फ्रेश फ्रूट एवं विजेटबल कहां शुद्ध मिल रही है। बच्चों के लिए स्वच्छ खानपान की विधि क्या है। यह सब जानकारी लोगों को गूगल से मिल सकेगी। गूगल पर किसी भी व्यक्ति द्वारा एफएसएसएआइ.जीओवी.आइएन टाइप करें आपको ईट-राइट चैलेंज से संबंधित सारी जानकारी मिल जाएगी।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.