Eid ul Fitr 2021: लखनऊ में नहीं दिखा चांद, अब जुमे के दिन 14 मई को रोजेदारों की ईद

Eid ul Fitr 2021: ईद पर गले न मिलने और परिवार के साथ ईद मनाने की अपील।

Eid ul Fitr 2021 30वां रोजा भी रखेंगे रोजेदार। ईद पर गले न मिलने और परिवार के साथ ईद मनाने की अपील। मौलाना ने नमाज के साथ ही अल्लाह से समाज को कोरोना से महफूज करने की दुआ करने की अपील की है।

Divyansh RastogiWed, 12 May 2021 07:38 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। Eid ul Fitr 2021: इबादत का महीना रमजान का 27वां रोजा सोमवार को पूरा हो चुका है। अब ईद के चांद के दीदार को बुधवार की शाम से ही मौलाना आसमान की ओर से टकटकी लगाए देख रहे थे। हर कोई खुले आसमान में चांद की एक झलक पाने को बेकरार था। मरकजी चांद कमेटियों ने जब देर शाम चांद न दिखने का एलान किया तो एक ओर से रोजेदारों में ईद न होने की उदासी थी तो दूसरी ओर 30वें रोजे पर एक दिन और अल्लाह की इबादत करने का मौका मिलने की खुशी थी। 30 दिन का रोजा रहने का मौका मिलने पर रोजेदारों ने एक दूसरे को फोन पर बधाई दी। शुक्रवार को जुमे के दिन ईद होने से तैयारियों का समय मिलने का संतोष भी रोजेदारों में नजर आया।

इमाम ईदगाह मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने बताया कि बुधवार को चांद नहीं दिखाई दिया। जिसकी वजह से ईद अब शुक्रवार को होगी। ऐसे में रोजेदार 30वीं रमजान पर एक दिन का रोजा गुरुवार को भी रख सकेंगे। मौलाना ने नमाज के साथ ही अल्लाह से समाज को कोरोना से महफूज करने की दुआ करने की अपील की है। उन्होंने ईद पर गले न मिलने और सोशल मीडिया के माध्यम से मुबारकबाद देने और घर में परिवार के साथ ईद की खुशियां मनाने की गुजारिश भी की है। शिया धर्म गुरु और इमाम-ए-जुमा मौलाना कल्बे जवाद ने सभी को ईद के मुबारक दिन शारीरिक दूरी बनाकर नमाज घरों में नमाज पढ़ने और गले लगाने से परहेज करने की गुजारिश की है। इफ्तारी के बाद चांद देखने की उत्सुकता सभी रोजेदारों में नजर आई। मरकजी चांद कमेटियों की ओर से रोेजेदारों से भी चांद के दिखाई देने की सूचना देने की अपील की थी जिसके चलते रोजेदार छतों पर आसमान की ओर टकटकी लगाए बैठे थे। देर शाम चांद न दिखाई देने और शुक्रवार को ईद होेने की घोषणा की गई। वहीं पुराने लखनऊ और अमीनाबाद सहित सभी बाजारों में में लॉकडाउन के प्रतिबंध के चलते दुकानें बंद थीं । इसकी वजह से ईद की खरीदारी का बाजार भी ठंडा रहा।

ईद पर पांच लोग ही मस्जिद में पढ़ेंगे नमाज: कोरोना संक्रमण के चलते व लॉकडाउन की पाबंदियों पर अमल करने के लिए ईदगाह या जामा मस्जिद और शहर की अन्य मस्जिदों में ईद पर पांच रोजेदार ही नमाज अदा करेंगे। काजी-ए- शहर मुफ्ती इरफान मियां फरंगी महली ने इसका फतवा भी बीते दिनों जारी किया था। वहीं मजलिस-ए-उलमाए हिंद की वेबसाइट पर ईद की लाइव  नमाज होगी। वरिष्ठ शिया धर्मगुरु और इमाम-ए-जुमा मौलाना कल्बे जवाद ने सभी को शुक्रवार को ईद के मुबारक दिन शारीरिक दूरी बनाकर नमाज घरों में नमाज पढ़ने और गले लगाने से परहेज करने की गुजारिश की है। उन्होंने बताया कि मजलिस-ए-उलमाए हिंद की वेबसाइट पर लाइव होगी ईद की नमाज लाइव होगी। सुबह 11 बजे से नमाज अदा की जाएगी। ईद के लिए हमेशा से ही रहा है कि पहले गरीबो की मदद करें फिर खुद ईद मनाएं। ऐसे में इस बार इसका खास ख्याल रखें। अच्छे-अच्छे पकवान खाने से अच्छा है कि जरूरतमंदों की मदद करें।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.