Murder in Lucknow: लखनऊ में मेडिकल स्टोर संचालक की गोली मार कर हत्या, दोस्त पर आरोप

Murder in Lucknow: लखनऊ में मेडिकल स्टोर संचालक की गोली मार कर हत्या, दोस्त पर आरोप
Publish Date:Sat, 19 Sep 2020 09:26 PM (IST) Author: Divyansh Rastogi

लखनऊ, जेएनएन। Murder in Lucknow: उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शनिवार रात बेखौफ बदमाशों ने सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया। मेडिकल स्टोर संचालक की गोली मार कर हत्या कर दी गई। घटना के समय संचालक अपने मेडिकल स्टोर पर बैठे थे। हत्या का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। आरोप है कि व्यापारी को उसी के परिचित ने गोली मारी है। पुलिस हमलावर के बारे में पता लगा रही है। हालांकि, उसका सुराग नहीं लग सका है। घटना से पूरे इलाके में दहशत फैल गई। वहीं, पुलिस पर भी सवाल उठने लगे हैं। घटना की जानकारी पर भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा। पुलिस की टीमें बदमाशों की तलाश में दबिश दे रही हैं। 

ये है पूरा मामला 

मामला खदरा इलाके का है। यहां दीनदयालनगर हसनगंज निवासी आशुतोष त्रिवेदी (29) की काव्या मेडिकल स्टोर के नाम से दुकान है। शनिवार रात आशुतोष दुकान पर थे। इस बीच अज्ञात बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी। गोली चलने की आवाज से आस पास की दुकानों में बैठे लोगों में अफरा-तफरी मच गई। लोगों ने दुकान में देखा तो आशुतोष खून से लथपथ हालत में पड़े थे। इस बीच आशुतोष के पिता रमेश चंद्र त्रिवेदी भी पहुंच गए। उन्होंने पुलिस को सूचना दी और आस पड़ोस के लोगों की मदद से बेटे को ट्रामा लेकर पहुंचे। ट्रामा में डॉक्टरों ने आशुतोष को मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी पर इंस्पेक्टर हसनगंज अमरनाथ वर्मा और पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने छानबीन शुरू की पर बदमाशों का कोई सुराग उनके हाथ नहीं लगा। इंस्पेक्टर ने बताया कि पारिवारिक रंजिश समेत कई बिंदुओं पर मामले की जांच की जा रही है।

जय सिंह नाम के युवक पर लगा आरोप 

मृतक आशुतोष के पिता ने उसके दोस्त जय सिंह पर हत्या का आरोप लगाया है। आरोप है कि जय सिंह का कुछ दिन पहले आशुतोष से किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। शनिवार को आशुतोष दुकान में बैठा था। इस दौरान जय सिंह भी वहां पहुंच गया। इसी दौरान दोनों में कहासुनी हो गई और जय सिंह ने आशुतोष को गोली मार दी। पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय के मुताबिक, आशुतोष और जय सिंह दोस्त थे। जय सिंह की तलाश की जा रही है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। हत्या का कारण पता लगाया जा रहा है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.