प्रेम व‍िवाह कर खाई थी साथ जीने मरने की कसम, दो माह संग रहने के बाद पत्‍नी का गला रेतकर फरार

लखनऊ के पारा के मुन्नूखेड़ा गोकुलग्राम आवास विकास कालोनी के तीसरी मंजिल पर पति ने पत्नी की धारदार चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी और मकान का दरवाजा बंदकर फरार हो गया। दरवाजा न खुलने पर भाई ने पुलिस को सूचित किया।

Rafiya NazWed, 04 Aug 2021 04:24 PM (IST)
लखनऊ के पारा क्षेत्र में विवाहिता की चाकू मारकर हत्‍या कर दी।

लखनऊ, संवादसूत्र। पारा के मुन्नूखेड़ा गोकुलग्राम आवास विकास कालोनी के तीसरी मंजिल पर पति ने पत्नी की धारदार चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी और मकान का दरवाजा बंदकर फरार हो गया। बुधवार सुबह नवविवाहिता का भाई, बहन का हालचाल लेने के लिए आया था। लेकिन दरवाजा लॉक था। भाई ने बहन को आवाज दी, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। तो भाई ने दरवाजे के नीचे की झीरी से झांक कर देखा तो उसकी बहन पैर दिखाई दे रहा था। जिस पर भाई ने 112 पर पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़ा। तो देखा कि नवविवाहित का खून से लथपथ शव अन्दर कमरे की फर्श पर पड़ा हुआ था और मौके से सफेद रंग की खून से सनी शर्ट व आला कत्ल खून से सना चाकू भी बरामद किया।

दो माह पूर्व हुई थी शादी: उन्नाव अचलगंज नेवरना निवासी श्रीकृष्ण की 26 वर्षीय बेटी लकी रावत उर्फ दीपिका ने बीते 31 मई 2021 को ठाकुरगंज रमना रिंगरोड फरीदीपुर सुन्दरनगर निवासी रामसनेही यादव के बेटे दुर्गेश यादव उर्फ अभिषेक के साथ प्रेम विवाह किया था और शादी में दीपिका की मां श्यामा उर्फ कमला देवी शामिल हुई थी। शादी के बाद से लकी उर्फ दीपिका अपने प्रेमी पति दुर्गेश के साथ मुन्नूखेड़ा गोकुलग्राम आवास कालोनी के 28 नम्बर ब्लाक की तीसरी मंजिल में पिछले दो माह से किराए पर रह रही थी। दीपिका पीजीआई में ब्यूटी पार्लर चलाती थी। नवविवाहिता लकी उर्फ दीपिका के भाई बच्चूलाल ने आरोप लगाया कि शादी के बाद से दुर्गेश व उसकी मां पिता रामसनेही और भाई दहेज के प्रताड़ित कर मारपीट करते थे। बहन दीपिका बीते 2 अगस्त को मायके गई थी और बहन को सोने की जंजीर व झाले देकर और लॉकेट लेकर ससुराल आई थी। जहां ससुरालीजनों ने मिलकर दीपिका की पिटाई कर दी थी। जिस पर दीपिका ने टेम्पो चालक के फोन से घर पर फोन कर घटना की जानकारी दी थी। जिस पर भाई बच्चूलाल 3 अगस्त को बहन दीपिका का हाल चाल लेने के लिए मुन्नूखेड़ा आवास पर आया था। लेकिन दरवाजा बंद था। बच्चूलाल ने बताया कि वो निचले तल पर पेड़ के नीचे बैठा रहा।

दरवाजा खोलने पर उड़ गए होश: आज सुबह दोबारा दरवाजा खटखटाकर आवाज दी। लेकिन घर से कोई जवाब नहीं मिला। जिस पर दरवाजे के नीचे से झीरी से झांककर देखा तो बहन दीपिका का पैर जमीन पर दिखाई दिया। जिस पर घटना की जानकारी 112 पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पारा पुलिस ने दरवाजा तोड़कर देखा तो लकी उर्फ दीपिका का शव अन्दर कमरे में खून से लथपथ फर्श पर पड़ा हुआ था। दीपिका का गला धारदार चाकू से रेता गया था। तो वहीं उसके हाथ में चाकू के वार थे। घटना की जानकारी होते ही मौके पर एडीसीपी दक्षिणी पुणेन्द्र सिंह एसीपी काकोरी आसुतोष कुमार पारा इंस्पेक्टर राजेश कुमार व फारेंसिक टीम मौके पर पहॅुचकर छानबीन में जुट गए। घटना को लेकर मृतक लकी उर्फ दीपिका के भाई बच्चूलाल ने प्रेमी पति दुर्गेश यादव उर्फ अभिषेक व उसके पिता रामसेनही और माॅ व भाई के खिलाफ दहेज हत्या का आरोप लगाकर पारा थाना में तहरीर दी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.