लखनऊ में एंबुलेंस में लगी आग से CNG टैंक और ऑक्सीजन सिलेंडर में विस्फोट, दहला इलाका-कई घायल

एंबुलेंस में लगे सीएनजी टैंक और उसमें रखे ऑक्सीजन सिलेंडर में विस्फोट हो गया।

कालीचरण इंटर कालेज के सामने हुआ हादसा निजी एम्बुलेंस में वेल्डिंग कर रहा था मैकेनिक। सीएनजी टैंक और ऑक्सीजन सिलेंडर में विस्फोट से दहला इलाका घायल ट्रामा सेंटर में भर्ती। विस्फोट इतना भीषण था कि आसपास मौजूद लोग दुकानों से निकलकर भागने लगे।

Anurag GuptaMon, 12 Apr 2021 04:24 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। कालीचरण इंटर कॉलेज से सटे दुकान के बाहर निजी एंबुलेंस में वेल्डिंग के दौरान अचानक आग लग गई देखते ही देखते आग ने एंबुलेंस को चपेट में ले लिया। दमकलकर्मी और स्थानीय लोग आग बुझाने की कोशिश करने लगे तभी एंबुलेंस में लगे सीएनजी टैंक और उसमें रखे ऑक्सीजन सिलेंडर में विस्फोट हो गया। हादसे में पांच लोग घायल हो गए, जिन्हें ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। विस्फोट इतना भीषण था कि आसपास मौजूद लोग दुकानों से निकलकर भागने लगे।

हादसे में घायल पत्रकार सिरके वाली गली चौक निवासी अखिल सक्सेना एम्बुलेंस में आग लगी देखकर रुक गए। वह आग बुझाने में दमकलकर्मियों की मदद को आगे बढ़े। इसी बीच विस्फोट हो गया। धमाका इतना तेज था कि अखिल करीब 50 मीटर दूर उछलकर जा गिरे। वहीं, आसपास की दुकानों में आग लग गई और एंबुलेंस के परखच्चे उड़ गए। गाड़ी के अलग अलग हिस्से चारों तरफ बिखर गए। विस्फोट से वहां भगदड़ मच गई। रिक्शे से जा रहे राहगीर भी धमाके की चपेट में आ गए और सड़क पर गिर पड़े। स्थानीय लोगों ने आसपास लगी दुकानों में दमकलकर्मियों की मदद से आग बुझाने की कोशिश की। किसी तरह आग पर काबू पाया जा सका। धमाके में अखिल के अलावा गौशाला रोड बालागंज निवासी मनीष, मल्लाही टोला निवासी शानू, दमकलकर्मी राजेश, दुर्गा प्रसाद और ज्ञान प्रकाश भी घायल हो गए। वहीं, वेल्डिंग कर रहे इनायत को भी मामूली चोट आई है।

स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। अखिल के पैर में गंभीर चोट आई है। एडीसीपी पश्चिम राजेश कुमार श्रीवास्तव के मुताबिक दुकानदार इनायत एम्बुलेंस की मरम्मत कर रहा था। इसी बीच आग लग गई थी। आग पर काबू पाने की कोशिश कर रहे तीन दमकलकर्मी भी झुलस गए। प्रथमदृष्टया दुकानदार की लापरवाही सामने आई है। इस संबंध में तहरीर मिलने पर एफआइआर दर्ज कर कारवाई की जाएगी। घायलों की हालत खतरे से बाहर है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। घटनास्थल की वीडियोग्राफी कराई गई है। पुलिस का कहना है कि एम्बुलेंस किसी सुशील नाम के व्यक्ति की है, जिसके बारे में पता लगाया जा रहा है।

पहले भी हुआ था हादसा : स्थानीय लोगों ने बताया कि इससे पहले भी वहां तीन बार हादसा हो चुका है इनायत की दुकान के बाहर पूर्व में गाड़ियों में आग लगी थी इसकी जानकारी ठाकुरगंज पुलिस को भी थी बावजूद इसके उसके खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई नहीं की गई यही कारण है कि सोमवार को एक बार फिर हादसा हो गया। खास बात यह है कि जिस स्थान पर वेल्डिंग की जा रही थी वहां से करीब तीन सौ मीटर दूर फायर स्टेशन है।

जल गए बिजली के तार भी : एम्बुलेंस में विस्फोट से वहां से गुजर रहे बिजली के तारों में आग लग गई। शॉर्ट सर्किट की आशंका के कारण फौरन घटना की जानकारी बिजली विभाग को दी गई। इसके बाद वहां की बिजली काटी गई। बाद में बिजली विभाग के कर्मचारी भी घटनास्थल पर पहुंचे और मौके का मुआयना किया। विस्फोट के कारण चार दुकानों में आग लगने से नुकसान भी हुआ है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.