पूर्व सांसद धनंजय सिंह की तलाश में जौनपुर में लखनऊ पुलिस का फिर छापा, फिर खाली हाथ

Ex MP Dhananjay Singh पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह की गिरफ्तारी के लिए मंगलवार को अपर पुलिस अधीक्षक व सीओ सदर एसओजी टीम ने उनके पैतृक आवास बन्सफा में छापेमारी की। आधा घंटे की तलाशी के दौरान मौके पर पूर्व सांसद नही मिले।

Dharmendra PandeyTue, 11 May 2021 06:17 PM (IST)
बाहुबली धनंजय सिंह अब फिर से जौनपुर से राजनीति में खासी रुचि ले रहा है।

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव खत्म होने के बाद एक बार फिर से पुलिस ने जौनपुर से बहुजन समाज पार्टी से सांसद रहे धनंजय सिंह पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। बाहुबली धनंजय सिंह अब फिर से जौनपुर से राजनीति में खासी रुचि ले रहा है। जौनपुर के मल्हनी से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में विधानसभा का उप चुनाव हारने के बाद धनंजय सिंह ने जौनपुर से अपनी पत्नी को जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़वाया और अब पत्नी श्रीकला धनंजय सिंह को जिला पंचायत अध्यक्ष बनवाने की जुगत में भी है।

पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह की गिरफ्तारी के लिए मंगलवार को अपर पुलिस अधीक्षक व सीओ सदर एसओजी टीम ने उनके पैतृक आवास बन्सफा में छापेमारी की। आधा घंटे की तलाशी के दौरान मौके पर पूर्व सांसद नही मिले। इस दौरान विधान परिषद सदस्य बृजेश कुमार सिंह प्रिंसू व पूर्व सांसद के वाहन चालको से बातचीत करने के बाद पुलिस खाली हाथ लौट गई। विधान परिषद सदस्य बृजेश कुमार सिंह प्रिंसू ने पुलिस को बताया कि मैं तो अभी आया हूं। मुझे जानकारी नही है। वहीं, अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन सिंह ने बताया कि लखनऊ में अजीत सिंह हत्याकांड में पूर्व सांसद धनंजय सिंह विभूति खंड थाना में साजिशकर्ता के रूप में नामजद आरोपित हैं। इस मामले में जारी वारंट के आधार पर उनके पैतृक आवास बन्सफा में छापेमारी की गई। तलाशी के दौरान वे वहां नही मिले।

मऊ से ब्लॉक प्रमुख रहे मऊ अजीत सिंह की लखनऊ में गैंगवार में हत्या के मामले में साजिकर्ता के रूप में नामजद पूर्व सांसद धनंजय सिंह पर 25 हजार रुपए का इनामी भी घोषित है। लखनऊ पुलिस ने मंगलवार को धनंजय सिंह की तलाश में जौनपुर में सिकरारा थाना क्षेत्र में बनसफा गांव में छापा मारा। आज भी लखनऊ पुलिस खाली हाथ लौटी। आज भी जौनपुर पुलिस के साथ ही लखनऊ पुलिस की टीम धनंजय सिंह ढूंढने गयी थी लेकिन नहीं मिला था।

जौनपुर और लखनऊ की संयुक्त टीम ने छापेमारी की कार्रवाई की, लेकिन मौके पर कोई नहीं मिला। आज भी घर पर जिला पंचायत सदस्य का चुनाव रिकॉर्ड वोट से जीतने वाली धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला घर पर थीं। पूर्व सांसद धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला ने जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ा और वार्ड नंबर 46 से सर्वाधिक मत से जीतीं। इससे पहले बीते तीन अप्रैल को भी लखनऊ पुलिस ने जौनपुर में धनंजय सिंह की तलाश में छापा मारा था, लेकिन वह पुलिस को नहीं मिला था। इसके कुछ दिन बाद ही धनंजय सिंह अपनी पत्नी के चुनाव के प्रचार में लगातार दिखा।

पूर्व सांसद धनंजय सिंह 2017 में जौनपुर के खुटहन थाने में दर्ज पुराने मामले में बेल बांड कैंसिल करा कर पांच मार्च को प्रयागराज की विशेष एमपी/एमएलए कोर्ट में हाजिर हुआ था, जहां से उसे नैनी जेल भेज दिया गया था। उसने नैनी जेल में अपनी जान को खतरा बताया। इसके बाद उसे 11 मार्च फतेहगढ़ जेल ट्रांसफर कर दिया गया था। जहां तीन हफ्ते रहने के बाद उसे जमानत मिली। इसके बाद वह गुपचुप तरीके से अपने समर्थकों के साथ निकल गया। तब से पुलिस उसकी तलाश में छापेमारी कर रही है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.