लखनऊ के राजकीय आश्रम बालिका इंटर कॉलेज की प्राचार्य वंदना त्रिवेदी निलंबित, बासी खाना मामले में गाज

लखनऊ के मोहान रोड स्थित राजकीय आश्रम पद्धति बालिका इंटर कालेज में फूड प्वाइजनिंग के मामले में खराब खाना देने पर फर्म कृष्णा इंटरप्राइजेज पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। एडीसीपी दक्षिणी राजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि प्रिंसिपल वंदना त्रिवेदी की तहरीर पर यह कार्रवाई की है।

Dharmendra MishraSun, 28 Nov 2021 11:13 PM (IST)
लखनऊ में फूड प्वाइजनिंग मामले में कृष्णा इंटरप्राइजेज पर मुकदमा।

लखनऊ, जेएनएन। लखनऊ के मोहान रोड स्थित राजकीय आश्रम पद्धति बालिका इंटर कालेज में फूड प्वाइजनिंग के मामले में प्रधानाचार्य वंदना त्रिवेदी को निलंबित कर दिया गया है। उनकी जगह अभिलाषा त्रिपाठी को नया प्रधानाचार्य बनाया गया है। समाज कल्याण निदेशक राकेश कुमार ने छात्राओं को घटिया खाना देने के मामले में यह कार्रवाई की है। 

इससे पहले रविवार को खराब खाना देने पर फर्म कृष्णा इंटरप्राइजेज पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। एडीसीपी दक्षिणी राजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि राजकीय आश्रम पद्धति बालिका विद्यालय की प्रिंसिपल वंदना त्रिवेदी की तहरीर पर बालिकाओं को खराब खाना परोसने के आरोप में यह कार्रवाई की गई है। फर्म अभिषेक अग्रवाल की है। वहीं कैटर्स फहीम की भूमिका भी संदिग्ध है। जांच में जो भी नाम तथ्यों के आधार पर आएंगे उसके अनुसार आगे कार्रवाई की जाएगी।

18 छात्राएं हुई थीं बीमारः राजकीय आश्रम पद्धति बालिका इंटर कालेज में फूड प्वाइजनिंग से 18 छात्राएं बीमार पड़ी थीं। इनमें से 16 को लोकबंधु अस्पताल, एक को सरोजनीनगर स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। एक अन्य छात्रा की हालत गंभीर होने पर केजीएमयू में उसका इलाज कराया जा रहा है। लोकबंधु में भर्ती छात्राओं से रविवार को प्रमुख सचिव समाज कल्याण हिमांशु कुमार ने बातचीत कर मामले की जानकारी ली।

कई दिन से दिया जा रहा था बासी खानाः छात्राओं ने बताया कि उन्हें कई दिनों ने बासी भोजन दिया जा रहा था। प्रधानाचार्य वंदना त्रिवेदी से कई बार शिकायत के बावजूद सुनवाई नहीं हुई। शनिवार को भी शिकायत की गई थी। पहले एक-दो छात्राओं को उल्टी और पेट दर्द की शिकायत हुई, लेकिन प्रधानाचार्य ने ध्यान नहीं दिया। छात्राओं की आपबीती सुनकर स्तब्ध प्रमुख सचिव समाज कल्याण हिमांशु कुमार ने मामले की जांच कर एक दिन के अंदर रिपोर्ट देेने और मेस संचालक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने का आदेश दिया।

जांच रिपोर्ट में प्रधानाचार्य और कुछ शिक्षकों की भूमिका मिली संदिग्ध

उप निदेशक समाज कल्याण श्रीनिवास द्विवेदी ने छात्राओं और विद्यालय की जांच कर अपनी रिपोर्ट निदेशक समाज कल्याण को सौंप दी है। इसमें प्रधानाचार्य और कुछ शिक्षकों की भूमिका संदिग्ध पाई गई है। छात्राओं ने शनिवार को घटिया खाने के विरोध में प्रदर्शन किया था। प्रदर्शन करने के लिए छात्राएं कालेज से निकलकर बुद्धेश्वर चौराहे तक पहुंच गई थीं। रविवार को कक्षा सात की छात्रा सेजल की भी तबीयत बिगड़ गई और उसे सरोजनीनगर के स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया।

खाद्य विभाग ने लिए सैंपलः राजकीय आश्रम पद्धति बालिका इंटर कालेज में खाद्य एवं औषधि विभाग के डीओ एसपी सिंह ने खाने का नमूना लिया और जय प्रकाश नारायण सर्वोदय विद्यालय में चल रही मेस का निरीक्षण भी किया। राजकीय आश्रम पद्धति बालिका विद्यालय व जय प्रकाश नारायण सर्वोदय विद्यालय के छात्र-छात्राओं का खाना बनाने के लिए विभाग ने पटना की कृष्णा इंटरप्राइजेज को जिम्मेदारी दी है। प्रधानाचार्य वंदना त्रिवेदी ने बताया कि खाने की गुणवत्ता ठीक न होने की कई बार शिकायत की गई, लेकिन उच्च अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया। संचालक के विरुद्ध पहले भी कारण बताओ नोटिस जारी हुआ था।

जिलाधिकारी ने मांगा स्पष्टीकरणः जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने विद्यालय में भोजन की आपूर्ति करने वाली फर्म को हटाते हुए उसके खिलाफ एफआइआर के निर्देश दिए। भोजन आपूर्ति के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की गई है। 27 नवंबर की शाम भोजन की गुणवत्ता जांचने वाले कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही के लिए कहा गया है। संस्था की प्रधानाध्यापक से स्पष्टीकरण मांगा गया है।

छात्राओं की मांग पर गणित और फिजिक्स के शिक्षकों की तैनातीः समाज कल्याण विभाग ने छात्राओं की मांग पर विद्यालय में गणित और भौतिक विज्ञान के शिक्षकों की तैनाती कर दी है। साथ ही मेस का संचालन की रही संस्था का करार निरस्त करने के लिए जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश को पत्र भेजा है। छात्राओं ने महिला गार्ड पर अभद्रता का आरोप लगाया था, जिसे हटाने के लिए संबंधित विभाग को पत्र भेज दिया गया है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.