Heavy Rain in Lucknow: प्रशासन ने जारी क‍िया अलर्ट, जरूरी काम हो तभी न‍िकलें घर से बाहर

Heavy rain in Lucknow डीएम ने तहसीलों में एसडीएम को ग्रामीण इलाको में जाकर लोगों की मदद करने और जलभराव की स्थिति में लोगों को सुरक्षित स्थान पर स्थानांतरित करने के निर्देश दिये हैं। राजस्व अफसरों और कर्मचारियों को फील्ड में जाने को कहा गया है।

Anurag GuptaThu, 16 Sep 2021 04:36 PM (IST)
डीएम ने अफसरो को फील्ड पर निकलने के दिये निर्देश।

लखनऊ, जागरण संवददाता। भारी बारिश के चलते राजधानी में हाई अलर्ट कर दिया गया है। प्रशासन ने लगातार हो रही बारिश और जलभराव को देखते हुए लोगों को घरों में रहने के निर्देश दिए हैं। डीएम ने लोगों से अपील की है कि आवश्यक काम पर घरों से बाहर निकलें। अफसरों को राहत कार्यो में जुट जाने को कहा गया है। बुधवार रात से जारी बारिश गुरुवार तक जारी है। तमाम इलाकों में जलभराव और सड़कों के बंद होने से यातायात पूरी तरह बाधित है। कई जगहों पर पेड़ ग‍िरे हैं तो कहीं सड़कें धंस गईं हैं। इससे बड़े हादसे का भी अंदेशा है। कई जगह पोल भी ग‍िरे हैं। इसे लोग घरों में रहें और सुरक्षि‍त रहें।  

डीएम अभिषेक प्रकाश ने एडवाइजरी जारी कर लोगों से बिजली के खंभों और तारों से दूर रहने को कहा है। नालों और खुले मेनहोल के आसपास सावधानी बरतने को कहा है। प्रशासन ने अपील की है कि अगर आपदा में स्मार्ट सिटी स्थिति कमांड सेंटर पर फोन कर मदद ले सकते हैं। वहीं हालात खराब होते देख डीएम अभिषेक प्रकाश प्रभावित इलाकों का जायजा लेने निकलेंं।

डीएम  ने  कहा  जलभराव और रास्‍ते में ग‍िरे पेड़ों की सूचना के ल‍िए नगर निगम कंट्रोल रूम नम्बर 6389300137/6389300138/6389300139 पर, ब‍िजली ब्रेकडाउन के ल‍िए हेल्पलाइन नम्बर 1912 तथा अन्य किसी समस्या हेतु इंट्रीग्रेटेड कंट्रोल कमाण्ड सेंटर के नम्बर 0522.4523000 पर समस्या दर्ज कराएं और धैर्यपूर्वक निस्तारण की प्रतीक्षा करें।

डीएम ने ग्रामीण इलाकों में भी अधिकारियों को लगातार नजर रखने को कहा है। सभी तहसीलों के अधिकारियों को ग्राम प्रधानों और सचिवों से संपर्क में रहने के निर्देश दिए हैं। अगर किसी गांव में कोई घर गिरता है तो तत्काल इसकी सूचना तहसीलदार को करें। जलभराव की स्थिति में लोगों को ठहराने का इंतजाम स्कूलों या आसपास किसी सुरक्षित जगह करने को कहा गया है।

डीएम ने नगर निगम और लेसा के अधिकारियों से भी बात करके प्रभावित लोगों को तत्काल राहत उपलब्ध कराने को कहा है। जहां पर भी जलभराव है खासकर अंडर पास और पुलों के नीचे वहां पर पंप लगाकर पानी निकालने के निर्देश दिए हैं। डीएम ने अधिकारियो को गौशालाओं को भी निरीक्षण करने को कहा है। पशुओं के चारे की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित कराने के लिए ग्राम सचिवों को निर्देश दिए गए हैं।

बुधवार से शुरू हुई मूसलाधार बारिश से अधिकांश इलाके जलमग्न हो गए। गलियों में पानी भर जाने से लोग घरों में कैद रहने को मजबूर हो गए। कामकाजी लोग कामधंधे पर नहीं निकल पाए। जिनको भी जरूरी काम से निकलना पड़ा वे पानी के बीच से निकले। लगातार बारिश से अधिकांश मोहल्लों में भीषण जलभराव हो गया है। इंद‍िरानगर, गोमतीनगर, अलीगंज, व‍िकासनगर समेत राजधानी के अध‍िकाशं मोहल्‍ले पूरी तरह जलमग्‍न हो गए हैं। लोंंगों के घरों में पानी घुस गया है। 

सरोजनीनगर के शांति नगर, त्रिपुरारी नगर, कंचन पुरी ,शमा बिहार, अवध विहार, रुस्तम विहार, आजाद नगर, सोसायटी कॉलोनी, अमौसी समेत विभिन्न कालोनियों में जलभराव हो गया। इन मोहल्लों में घरों के सामने भीषण पानी भर गया है, जिससे लोग घरों से बाहर नहीं निकल पाए। बारिश से लोग घरों में कैद रहे वहीं रोजमर्रा के कामकाज भी प्रभावित रहे। बारिश के कारण नादरगंज व गहरू पावर हाउस से से पोषित इलाकों की विद्युत आपूर्ति भी कई घंटे काटी गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.