Lucknow COVID-19 News: लखनऊ में चढ़ता सैनिटाइजर का बाजार, हर जेब में शीशी; हर जगह खरीदार

Lucknow COVID-19 News कोरोना की रफ्तार से भी तेज दोड़ रहा सैनिटाइजर का बाजार। थोक दुकानदारों की मानें तो खरीदार सैनिटाइजर मांगते हैं या फिर मास्क। हर माह करीब दो से ढाई करोड़ का सैनिटाइजर शहर की दुकानों से उठता।

Divyansh RastogiPublish:Tue, 11 May 2021 06:30 AM (IST) Updated:Tue, 11 May 2021 11:09 AM (IST)
Lucknow COVID-19 News: लखनऊ में चढ़ता सैनिटाइजर का बाजार, हर जेब में शीशी; हर जगह खरीदार
Lucknow COVID-19 News: लखनऊ में चढ़ता सैनिटाइजर का बाजार, हर जेब में शीशी; हर जगह खरीदार

लखनऊ [नीरज मिश्र]। Lucknow COVID-19 News: सैनिटाइजर का बाजार कोरोना की रफ्तार से भी तेज दौड़ रहा है। सुंक्रमण काल में आज हर जेब में एक शीशी, हर जगह खरीदार मिलेगा। यही वजह है कि सैनिटाइजर बाजार तेजी से चढ़ रहा है। लोकल हो या फिर ब्रांडेड सभी की मांग है। थोक दुकानदारों की मानें तो खरीदार सैनिटाइजर मांगते हैं या फिर मास्क। उसके बाद ही दवा की बात की शुरू होती है। करीब पांच गुना यह कारोबार चढ़ा है। हर माह करीब दो से ढाई करोड़ का सैनिटाइजर शहर की दुकानों से उठता है।

अब लोग ढूंढते हैं सैनिटाइजर में च्वायज और खुशबू: पिछले साल हो लोग इसे ले तो जाते थे लेकिन सावधानी से प्रयोग करते थे। स्किन को लेकर लोग चिंतित थे। लेकिन इस बार का ट्रेंड बदला हुआ है। लोग अब सैनिटाइजर में प्वायज ढूंढते हैं। ब्रांड और खुशबू पसंद करते हैं। फिर खरीदारी करते हैं। ज्यादातर लोग ब्रांड को तरजीह देते है जिस पर भरोसा बना हुआ है।

बडे़ परिवार ले जाते हैं पांच लीटर की पैकिंग, शीशियों में भरकर करते हैं प्रयोग:  बडे़ परिवार वाले लोग पांच लीटर वाली पैकिंग पसंद करते हैं। वजह होती है घर के सदस्यों की संख्या। थोक में कैन खरीदकर ले गए और फिर शीशियों में भरकर इसका प्रयोग करते हैं।

शीशियों का भी जलवा, हर शीशी के रेट अलग: दो सौ एमएल मिलीलीटर से लेकर एक लीटर तक की शीशी बाजार में उपलब्ध है। किसी में स्पेंकर लगा है तो कोई नीचे की तरफ प्रेस करने से चलती हैं। इन डिजाइनर शीशियों का भी जलवा कायम है। इनकी डिमांड है। 30 रुपये से लेकर 80 और 100 रुपये तक कीमत की खाली शीशियां हैं।

सैनिटाइजर मात्रा- रेट रुपये में 100 एमएल-30 से 50 500 एमएल-250 से 350 लोकल सैनिटाइजर 05 लीटर-700 से 800

लखनऊ केमिस्ट एसोसिएशन कार्यकारी अध्यक्ष सुरेश कुमार के मुताबिक, लोग जागरूक हुए हैं। इससे सैनिटाइजर का बाजार सही मायने में चढ़ा है। हरेक की जेब में आज सैनिटाइजर की शीशी मिलेगी। लोग कुछ खरीदे या ना लेकिन सैनिटाइजर और मास्क जरूर ले रहे हैं। अब यह लोगों की दिनचर्या में शामिल हो गया है। खपत पांच गुनी से भी ज्यादा हो गई है।

दवा विक्रेता समिति के प्रवक्ता सीएम दुबे बताते हैं कि कोरोना काल में सैनिटाइजर का धंधा चोखा है। ज्यादातर हर दुकान पर सैनिटाइजर मिलेगा। डिमांड अब ब्रांडेड की ओर ज्यादा है। लोकल भी खूब बिक रहा है। सबसे ज्यादा बिक्री ओटी मास्क, एन-95 के अलावा सैनिटाइजर की है।