गाल ब्लैडर में लंबे समय तक पथरी से हो सकता है कैंसर, जान‍िए क्‍या कहते हैं लोह‍िया संस्‍थान के व‍िशेषज्ञ

लंबे समय तक पेट का साफ नहीं रहना कब्ज मलद्वार के रास्ते खून आना एसिडिटी इत्यादि को लंबे समय तक नजरअंदाज करना व गाल ब्लैडर में कई महीनों तक पथरी को पाले रहना खतरनाक साबित हो सकता है।

Anurag GuptaThu, 23 Sep 2021 08:22 PM (IST)
लोहिया संस्थान के गैस्ट्रो सर्जरी विभाग के अध्यक्ष ने पाठकों के सवालों के दिए जवाब।

लखनऊ, जागरण संवाददाता। जागरण के हेलो डाक्टर कार्यक्रम में गुरुवार को लोहिया संस्थान के गैस्ट्रो सर्जरी विभाग के अध्यक्ष डा. अंशुमान पांडेय ने पाठकों के सवालों के जवाब दिए। उनके अनुसार असंयमित खान-पान, असंतुलित जीवनशैली और शारीरिक गतिविधि का शून्य होना गैस्ट्रो संबंधी दिक्कतों की वजह बन रहा है। लंबे समय तक पेट का साफ नहीं रहना, कब्ज, मलद्वार के रास्ते खून आना, एसिडिटी इत्यादि को लंबे समय तक नजरअंदाज करना व गाल ब्लैडर में कई महीनों तक पथरी को पाले रहना खतरनाक साबित हो सकता है। इससे कैंसर समेत कई अन्य बीमारियां हो सकती हैं। पाठकों द्वारा उनसे पूछे गए कुछ प्रमुख सवाल और उनके जवाब-

सवाल- मुझे पेट में गैस व कब्ज की दिक्कत रहती है। -सुदेश त्रिपाठी, हरदोई

जवाब - आप तेल, मसाला, मिर्च और मैदा से बनी वस्तुओं से परहेज करें। पानी खूब पीएं। खाने में सलाद, दही-छाछ, हरी पत्तेदार सब्जियां (बरसात में छोड़कर) खाएं। फास्ट फूड व जंक फूड से दूर रहें। ऐसा दो से तीन हफ्ते करने पर भी ठीक नहीं हों तो ओपीडी में आकर दिखाएं।

सवाल- मेरी उम्र 62 वर्ष है। पेट में गैस बहुत बनती है। -रणबीर सि‍ंह, अंबेडकरनगर

जवाब - ज्यादा देर तक खाली पेट न रहें। थोड़ा-थोड़ा करके कई बार खाएं। एक बार में ज्यादा न खाएं क्योंकि इससे भी गैस बनती है। रात को खाना खाने के बाद तुरंत नहीं, कम से कम दो घंटे बाद सोएं।

सवाल - मेरी उम्र 35 वर्ष है। थकान और चक्कर आता है। -राम सवारथ, अंबेडकरनगरजवाब - आप कुछ दिन तक शिकंजी पीएं। नमक-पानी का घोल दिन में कम से कम एक लीटर ले सकते हैं। पानी भी तीन लीटर तक रोजाना पीएं। लंबे समय तक समस्या दूर न हो तो एक बार आकर अस्पताल में जांच करा लें।

सवाल - मेरे पिता 70 वर्ष के हैं। 10 साल से कब्ज की समस्या है। -परी तिवारी, फतेहगढ़, अयोध्या

जवाब - किसी टबनुमा बर्तन में गुनगुना पानी रखकर पांच मिनट तक बैठें। ऐसा दिन में तीन-चार बार करें। मलद्वार पर नारियल का तेल लगाएं। खाने में सलाद, दही, छाछ व चोकरयुक्त अनाज अधिक लें। इसके अतिरिक्त ओपीडी में आकर जांच कराएं तो उचित परामर्श व दवाएं दी जा सकेंगी।

सवाल - मेरे गाल ब्लैडर में पथरी हो गई है। होम्योपैथिक व आयुर्वेदिक दवाओं से निकल नहीं रही। क्या करें? -प्रतिभा, रायबरेली

जवाब - गाल ब्लैडर में लंबे समय तक पथरी पालकर नहीं रखनी चाहिए। गाल ब्लैडर में यदि स्टोन है तो उसकी बायोप्सी भी करानी चाहिए। जांच के बाद देखा जाएगा कि क्या करना है? अगर जरूरत हो तो गाल ब्लैडर को पूरी तरह रिमूव कराया जा सकता है। इससे जि‍ंदगी पर कोई विपरीत असर नहीं पड़ता, मगर हम कैंसर की गर्त में जाने से बच सकते हैं। लोहिया संस्थान में इसका उपयुक्त इलाज मौजूद है।

सवाल - मेरे गले की खराश नहीं जा रही। कभी-कभी खट्टा पानी मुंह में आता है। -सुधीर भटनागर, रकाबगंज, लखनऊ

जवाब - आप रात का खाना खाकर तुरंत न सोएं। हल्का भोजन करें। खाने में सलाद व फाइबर अधिक लें। पर्याप्त पानी पीएं। सोडा या फ्रीज की रखी वस्तुएं न लें। ठंडी तासीर वाला भोजन करें। आराम न होने पर एंडोस्कोपी कराएं।

सवाल - मुझे दो वर्ष से कब्ज है। पेड़ू में हफ्तेभर से तेज दर्द है। -शेरखान, सफदरगंज, बाराबंकी

जवाब - भोजन में सलाद, हरी शाक-सब्जी अधिक लें। पर्याप्त पानी पहले की तरह पीते रहें। सुबह-शाम एक्सरसाइज करें। एक बार में अधिक भोजन न करें। आराम न होने पर एक बार अस्पताल में आकर दिखा लें। जांच के बाद सही स्थिति पता चलेगी।

सवाल - कोरोना की दूसरी लहर में 13 दिन आक्सीजन पर था। इसके बाद पेट निकल आया। -सत्येंद्र दुबे, राजपुर, गोंडा

जवाब - कुछ लोगों को जरूरत से ज्यादा स्टेराइड व अन्य एंटीबायोटिक दवाएं दी गई हैं। यह पोस्ट कोविड का असर हो सकता है। एक्सरसाइज करें। खान-पान दुरुस्त रखें। चार से छह महीने में यह समस्या ठीक हो सकती है।

सवाल - मुझे खाने के बाद डकार आती है। उम्र 65 वर्ष है। -दिनेशचंद्र गुप्ता, लखीमपुर खीरी

जवाब - दिन में कम से कम तीन लीटर पानी पीएं। बाहर का खाना-पीना बंद करें। भोजन में सलाद अधिक लें। ज्यादा तला, भुना व मिर्च-मसाला न खाएं। खाने के बाद कुछ देर चहलकदमी करें। कुछ दिन बाद समस्या ठीक हो जाएगी।

सवाल - मुझे चार-पांच दिन पहले बुखार था। प्लेटलेट 78 हजार व हीमोग्लोबिन 9.7 है। -उमाकांत तिवारी, गोंडा

जवाब - आपको यदि अब भी बुखार है तो किसी नजदीकी अस्पताल में डेंगू की जांच करा लें। अभी प्लेटलेट का स्तर चि‍ंताजनक नहीं है, मगर सतर्क रहें। अनार, पालक, गाजर इत्यादि खाएं।

सवाल - बारिश के दौरान खान-पान कैसा हो? -विनोद गौर, डेरामूसी, अयोध्या

जवाब - कच्ची व पत्तेदार सब्जियां, दही, छाछ न लें। ज्यादा तला-भुना व तेलयुक्त भोजन न करेें। ताजा व घर का भोजन करें। हल्का ही खाएं।

सवाल - मुझे गैस बनती है। खाने के बाद लैट्रिन जाना पड़ता है? -संतोष कुमार, सीतापुर, सिरौली

जवाब - बाहर का और बासी खाना न खाएं। खाने में सलाद अधिक लें। पानी पर्याप्त मात्रा में पीएं। दूध व चाय से दूर रहें। गुर्दे में संक्रमण है तो यूरोलाजी विभाग में दिखा लें।

सवाल - मेरे गाल ब्लैडर का वर्ष 2014 में आपरेशन हुआ था। पेट में दर्द रहता है। -विमला मिश्रा, इंदिरानगर, लखनऊ

जवाब - कभी-कभी गाल ब्लैडर के आपरेशन के बाद दर्द रह सकता है। गैस्ट्रोइंटेस्टाइटिस की वजह से ऐसा हो सकता है। भारी भोजन न करें। सलाद, चोकरयुक्त भोजन लें। चाहें तो एक बार दिखा लें।

सवाल - मुझे भूख नहीं लगती। कब्ज रहती है।  -शक्तिराम, हरदोई

जवाब - पानी की मात्रा बढ़ाएं। सलाद व हरी शाक-सब्जी अधिक लें। ठंडी ताशीर वाली वस्तुएं अधिक लें। मलद्वार से खून या थक्के आते हों तो जांच कराएं।

सवाल - मुझे कब्ज व गैस की समस्या रहती है? -लखन, न्यू हैदराबाद, लखनऊ

जवाब - आपको अगर थायराइड, बीपी की समस्या नहीं है तो खान-पान में सुधार करें। सलाद अधिक लें। पानी खूब पीएं। एक्सरसाइज करें। समस्या ठीक न होने पर ओपीडी में आकर दिखाएं।

सवाल - मेरा पेट साफ नहीं होता। स्टूल ढीला होता है और गैस बनती है? -राजेश शर्मा, सीतापुर

जवाब - रात का खाना खाकर तुरंत न सोएं। दिनचर्या व खान-पान में बदलाव करें। पानी अधिक पीएं।

सवाल - शाम के समय अक्सर गले में जलन होती है? -सतीश द्विवेदी, तरसोला, हरदोई

जवाब - यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइटिस हो सकता है। तला-भुना, मिर्च-मसाला न लें। ज्यादा समय खाली पेट न रहें। खाने के बाद तुरंत न सोएं।

सवाल - मुझे कुछ दिनों पहले कोविड हुआ था। अब गैस रहने लगी है? -हरेंद्र, विकासनगर, लखनऊ

जवाब - पोस्ट कोविड के असर से ऐसा हो सकता है। दिनचर्या और खान-पान ठीक रखें। तीन-चार माह में यह समस्या खुद ठीक हो जाएगी।

सवाल - मुझे खाना पच नहीं रहा है। पाइल्स की भी समस्या है? -अवनीश, गोंडा, मनकापुर

जवाब - गुनगुने पानी में रोजाना दिन में तीन-चार बार पांच मिनट तक बैठें। मलद्वार में सोते समय नारियल का तेल लगाएं। मल के साथ खून आता है तो आकर जांच कराएं। अन्यथा बाद में यह रैक्टम कैंसर बन सकता है।

सवाल - पेट साफ नहीं रहता। दिन में तीन-चार बार जाना पड़ता है। -आशीष दुबे, अयोध्या

जवाब - सोमवार व बृहस्पतिवार को किसी भी दिन लोहिया संस्थान की ओपीडी में आकर दिखा लें। दिनचर्या व खान-पान इससे पहले दुरुस्त कर लें।

सवाल - मैंने गाल ब्लैडर का आपरेशन कराया था। अब होंठ सूखे और जीभ में दर्द रहता है? -अनुपमान शुक्ला, लखनऊ

जवाब - एसिड रिफलेक्शन व गैस्ट्रोइंटेस्टाइटिस की वजह से ऐसा हो सकता है। एंडोस्कोपी व अन्य जांच करके देखना पड़ेगा। इसके लिए अस्पताल आ जाएं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.