top menutop menutop menu

Corona Virus Lucknow News Update: लखनऊ में कोरोना से चार की मौत, दो मंत्रियों में भी मिला वायरस, अब तक 32 की मौत

लखनऊ, जेएनएन। कोरोना वायरस लगातार हमलवार हो रहा है। ऐसे में संक्रमित मरीजों की संख्या के साथ-साथ मौतों का ग्राफ भी बढ़ रहा है। अस्पताल में भर्ती मरीज हर रोज दम तोड़ रहे हैं। रविवार को लखनऊ के चार मरीजों की मौत हो गई। वहीं दो मंत्री वायरस की चपेट में आ गए। ऐसे में लखनऊ में अब तक कोरोना वायरस से 32 मौत हो चुकी हैं। इसके अलावा दो और मरीजों की मौत हुई है जो कि गैर जनपद के हैं। वहीं राजधानी में रविवार को एक परिवार के 17 लोगों समेत 165 नए केस आए हैं। इसे लेकर अब तक लखनऊ में 20303 लोग संक्रमित हो गए हैं। 

इंदिरा नगर में भूतनाथ बाजार के दवा व्यवसाई कोरोना की चपेट में आ गए। पिता-बेटे दोनों को केजीएमयू में भर्ती कराया गया। इसमें 55 वर्षीय व्यक्ति की हालत रात में बिगड़ गई। वेंटिलेटर पर इलाज चला। मगर, मरीज रेस्परेटरी फेल्योर में चला गया। ऐसे में डॉक्टरों के काफी प्रयास के बावजूद बचाया नहीं जा सका। वहीं बेटा ऑक्सीजन सपोर्ट पर है। इसके अलावा लोहिया संस्थान के कोविड अस्पताल में भर्ती फैजाबाद रोड निवासी 53 वर्षीय व्यक्ति की कोरोना से मौत हो गई। संस्थान के प्रवक्ता डॉ. श्रीकेश के मुताबिक मरीज को सात जुलाई को भर्ती किया गया। वेंटिलेटर पर रविवार को मौत हो गई। लिहाजा, शहर निवासी दो मरीजों की मौत हुई है। लखनऊ में मृतकों का आंकड़ा 30 पहुंच गया। इसके अलावा हरदोई के हरियांवा में तैनात सीओ नागेश मिश्रा की शनिवार रात हालत गंभीर हो गई। उन्हें लोहिया कोविड अस्पताल से पीजीआइ रेफर किया गया। जहां इलाज के दरम्यान निधन हो गया। वहीं लोहिया अस्पताल की इमरजेंसी में आए दूसरे जनपद के मरीज की मौत हो गई। जांच में कोरोना पॉजि टिव पाया गया। इसके बाद परिवारजनों को कोविड-प्रोटोकॉल के तहत पैक कर बॉडी सौंपी गई।

शहर में बढ़ रहा वायरस का संक्रमण

शहर में वायरस के संक्रमण का प्रकोप भयावह हो रहा है। अब जरा भी लापरवाही व्यक्ति पर भारी पड़ सकती है। रविवार को यूपी सरकार के दो मंत्री और कोरोना की चपेट में अा गए। इसमें एक मंत्री उपेंद्र तिवारी हैं। दूसरे राज्य मंत्री ठाकुर रघुराज सिंह है। सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के मुताबिक दोनों मंत्री को पीजीआइ भर्ती कराया गया है। वहीं परिवारजनों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। 

लखीमपुर में धौरहरा सांसद के घर कोरोना की दस्तक

सांसद रेखा वर्मा के परिवार के एक सदस्य की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इसके बाद से ही परिवार समेत सांसद ने खुद को क्वारंटाइन किया है। 14 दिन तक किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेंगी। 

सीतापुर : किशोरी सहित तीन और कोरोना पॉजिटिव

शनिवार देर रात सीडीआरआई से सीएमओ को प्राप्त रिपोर्ट में किशोरी सहित तीन और लोगों के पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। इसमें बिसवां क्षेत्र की 16 वर्षीय किशोरी भी शामिल है। सीएमओ डॉ आलोक वर्मा ने बताया कि परसेंडी क्षेत्र के लालपुर गांव के एक महिला ने कुछ दिन पहले किसी बात को लेकर कीटनाशक का सेवन कर लिया था। उसके घर वालों ने उसे 5 जुलाई को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। डॉक्टरों ने इसे केजीएमयू लखनऊ रेफर कर दिया था, जहां जांच में ये महिला 7 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी। इस महिला की बहू भी कोरोना वायरस से संक्रमित है। इसे खैराबाद अस्पताल में शिफ्ट किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ बिसवां कस्बे के खंभा पुरवा मुहल्ले की 16 वर्षीय किशोरी भी कोरोना से संक्रमित मिली है। बिसवां के मगरहिया मुहल्ले का 43 वर्षीय एक युवक भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इन सभी को खैराबाद अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। 

हरदोई में कोरोना संक्रमण से क्षेत्राधिकारी की मौत

जिले में कोरोना के संक्रमण से क्षेत्राधिकारी की मौत हो गई। हरदोई की हरियावां सर्किल सीओ नागेश मिश्रा करीब 10 दिन से बीमार थे। निमोनिया की शिकायत पर उनका इलाज चल रहा था। जिला अस्पताल में उनका कोरोना टेस्ट कराया गया जोकि निगेटिव आया लेकिन हालत में सुधार न होने से लखनऊ रेफर कर दिया गया। जहां वह वेंटीलेटर पर थे। शनिवार की शाम उन्हें पीजीआइ में शिफ्ट किया गया। रविवार की सुबह उनका निधन हो गया। नागेश मिश्रा सीओ के पहले हरदोई में शहर कोतवाल के अलावा सांडी, पिहानी में कोतवाल भी रहे।

अब तक के एक दिन में सर्वाधिक केस 

राजधानी में शुक्रवार को 685 सैंपल संग्रह किए गए। शनिवार को लैब में 202 मरीजों में वायरस की पुष्टि हुई है। शहर में एक दिन में सर्वाधिक संक्रमित मरीजों की संख्या रही। ऐसे में शहर में कुल मरीजों का आंकड़ा 2138 पहुंच गया। वहीं केजीएमयू में इलाज करा रहीं 44 वर्षीय महिला का निधन हो गया है। जानकीपुरम निवासी महिला को सांस की समस्या थी। हालत गंभीर होने पर उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर भी रखा गया। मगर, बचाया नहीं जा सका। वहीं सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल के मुताबिक,  एक बलरामपुर जनपद निवासी मरीज की भी कोरोना से मौत हुई है। शहर में मृतकों की संख्या 28 हो गई है।

अस्पताल बंद, पुलिसकर्मी संक्रमित

शनिवार को करीब आधा दर्जन निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई। सीएमओ ने संबंधित अस्पतालों को यूनिट बंद कर सैनिटाइज के निर्देश दिए हैं। वहीं, मोहनलालगंज कोतवाली में दो पुलिसकर्मियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। इसमें एक महिला व पुरुष दारोगा है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 56 पुलिसकर्मियों की कोविड 19 की जांच सैंपल लिए थे। वहीं, सीएमओ कार्यालय का संक्रमित कर्मी सीएचसी गए थे, ऐसे में स्वास्थ्य केंद्र को 48 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। इसके अलावा शहर के कई पुलिस कर्मी संक्रमित पाए गए।

एक परिवार में नौ लोगों में वायरस

​​​​​राजाजीपुरम के ई-ब्लॉक सेक्टर-12 में एक ही परिवार के नौ लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। बिस्मिल पार्क के पास निवासी गर्भवती में निजी अस्पताल में कोरोना पाया गया। इसके बाद पति, ससुर, सास, जेठ, जेठानी, देवर, ढाई वर्षीय दो बच्चियां समेत नौ में कोरोना पाया गया। वहीं, बन्थरा निवासी एक महिला सहित तीन लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई।

कैंट में लौटा वायरस, केजीएमयू, एंबुलेंस कर्मी संक्रमित

डालीगंज में तीन, केजीएमयू में तीन, फैजाबाद रोड पांच, मलिहाबाद में एक, डीजी ऑफिस में आठ, बीकेटी में एक, गोमतीनगर में 14, राजाराम मोहन राय मार्ग में एक, जानकीपुरम में पांच, खदरा में एक, अशोक नगर में एक, पारा में एक, सर्वोदयनगर में दो, राजेंद्रनगर का एक, इंदिरानगर में 11, आलमबाग में पांच, 102 में 12, चौक में पांच, कानपुर रोड में दो, लालबाग में तीन, होमगार्ड्स मुख्यालय में दो, अलीगंज में दो, राजाजीपुरम में सात, मंडी समिति सीतापुर रोड में छह, पुलिस मुख्यालय महानगर में तीन, पल्टन छावनी में दो, कैंट में दस10, महानगर में एक, सरोजनीनगर में दो, गौतमपल्ली में एक, रायबरेली रोड का एक, चारबाग का एक, निशातगंज का एक, कैंट रोड के दो, शारदानगर के दो, तेलीबाग में पांच, कुर्सी रोड के चार, कैसरबाग के पांच, हजरतगंज के दो , जगत नारायण रोड के तीन, रकाबगंज के नौ मरीज पाए गए हैं।

24 डिस्चार्ज, 708 सैंपल

अस्पतालों में भर्ती मरीज कोरोना से जंग भी जीत रहे हैं। शनिवार को 24 मरीज डिस्चार्ज किए गए। वहीं, 708 सैंपल संग्रह किए गए। इसके अलावा 62 क्षेत्रों को कंटेनमेन्ट जोन बनाया गया। साथ ही 24 कंटेनमेन्ट जोन हटाये जाने का पत्र डीएम को भेजा गया है।

जुलाई में बार-बार टूट रहा रिकॉर्ड

तारीख - केस

एक - 30

दो - 37

तीन - 47

चार - 78

पांच - 53

छह - 79

सात - 84

आठ - 65

नौ - 76

दस - 140

ग्यारह - 202

11 दिन में 891

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.