Jagran Impact: लखनऊ में अवैध दुकानों के निर्माण पर LDA का हंटर, सुप्पा कब्रिस्तान में 16 दुकान सील

लखनऊ: ऐशबाग स्थित मोतीझील में सुप्पा के वक्फ कब्रिस्तान में कब्रों के ऊपर निर्माणाधीन दुकानों को एलडीए ने सील किया।
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 02:21 PM (IST) Author: Divyansh Rastogi

लखनऊ, जेएनएन। Jagran Impact: राजधानी के ऐशबाग स्थित मोतीझील में सुप्पा के वक्फ कब्रिस्तान में कब्रों के ऊपर करीब चार दर्जन अवैध दुकानों का निर्माण किया गया है। जिनमें 16 निर्माणाधीन दुकानों को एलडीए ने मंगलवार को सील कर दिया है। दैनिक जागरण ने इस गड़बड़ी पर लगातार खबरें लिखी हैं, जिसके बाद ये कार्रवाई की गई। संयुक्त सचिव ऋतु सुहास ने बताया कि कार्रवाई की गई है। बची हुई दुकानों पर भी जल्द ही एक्शन लिया जाएगा।

ये है पूरा मामला

दरअसल, सुन्नी वक्फ बोर्ड का ये कब्रिस्तान है। स्थानीय लोगों की शिकायतें हैं कि ये दुकानें बनने से इस सड़क पर जाम लगेगा और ये अवैध निर्माण है। सुप्पा कब्रिस्तान पर करीब 100 साल पुराना है। यहां अनेक नामी हस्तियों की कब्र हैं। जिनमें लखनऊ के प्रख्यात संगीतज्ञ अहमद जान थिरकवा की भी कब्र है। इस कब्रिस्तान का केयर टेकर उप्र सुन्नी वक्फ बोर्ड है। पिछले कुछ दिनों से यहां रहने वाले लोग इस बबात को लेकर परेशान हैं कि यहां अचानक दुकानों का निर्माण किया जा रहा है। 32 दुकानें पहले बनाई गई हैं अब 16 दुकानें और भी बनाई जा रही हैं। सभी दुकानों का रुख उस सड़क की ओर है,  जो कब्रिस्तान के पास से गुजरती है। लोगों की आशंका है कि जब ये सारी दुकानें खुल जाएंगी तो यहां जाम लगेगा। दूसरी ओर उनको अवैध निर्माण के खिलाफ कार्रवाई न होने से भी परेशानी है।

क्या कहते हैं अफसर ? 

एलडीए की संयुक्त सचिव ऋतु सुहास ने बताया कि हमने ये काम रुकवा दिया है। मौके पर टीम गई और संचालकों को नोटिस दे दिया था। आखिरकार मंगलवार निर्माण सील कर दिया गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.