दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

LDA सचिव ने 113 संपत्तियों का मांगा ब्योरा, अब तय होगी जवाबदेही

एक अप्रैल से 16 मई 2021 तक कंप्यूटर में परिवर्तन का ब्योरा तलब।

एक अप्रैल से 16 मई 2021 तक कंप्यूटर में परिवर्तन का ब्योरा तलब। 109 संपत्तियों का आवंटन एक समायोजन और तीन संपत्तियों में नाम परिवर्तन। पांच सौ संपत्तियों में हुए भ्रष्टाचार के बाद लखनऊ विकास प्राधिकरण हर माह कंप्यूटर में चढ़ने वाली संपत्ती का सत्यापन कराएगा।

Divyansh RastogiTue, 18 May 2021 10:51 AM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। लखनऊ विकास प्राधिकरण (लविप्रा) अपनी एक-एक संपत्ती पर निगरानी रखने के लिए नई फुल प्रूफ व्यवस्था की है। अब जो भी कंप्यूटर में संपत्तियों का ब्योरा चढ़ेगा, उसकी जांच होगी और संबंधित अधिकारी इसका सत्यापन करके लविप्रा सचिव पवन कुमार गंगवार व कंप्यूटर सेल के प्रभारी प्रोग्रामर एनालिस्ट राघवेंद्र मिश्र को अवगत कराएगा। कंप्यूटर में नाम संशोधन, संपत्तियों का समायोजन, सेक्टरवार आवंटन का ब्योरा हर माह अपग्रेड होगा। पांच सौ संपत्तियों में हुए भ्रष्टाचार के बाद लखनऊ विकास प्राधिकरण हर माह कंप्यूटर में चढ़ने वाली संपत्ती का सत्यापन कराएगा। 

लविप्रा सचिव पवन कुमार गंगवार ने बताया कि एक अप्रैल से 16 मईं 2021 तक 113 संपत्तियों का ब्योरा लविप्रा के कप्यूटर पर चढया गया। इनमें एक पारा की संपत्ती का समायोजन, तीन संपत्तियों के नामों में संशोधन है, जो रजनी खंड, सेक्टर जे जानकीपुरम और सेक्टर सी प्रियदशर्नी नगर है। इसी तरह हाल में प्राधिकरण द्वारा बेची गई वाणिज्यक 109 संपत्तियों का ब्योरा है। उन्होंने बताया कि अब कप्यूटर में कोई भी अपडेट अगर होती है तो सर्वर को कप्यूटर नंबर, संबंधित कर्मचारी की आइडी, समय, दिन सहित पूरी जानकारी मिल जाएगी।

यही नहीं घर से भी लागिन करने पर सर्वर बता देगा कि कौन कर्मचारी किस आइडी से कहा से काम कर रहा है। सचिव के मुताबिक पारदर्शिता बनी रहेगी तो सभी अनुभाग के अफसरों को काम करने में सहूलियत होगी और प्राधिकरण के हित में यह निर्णय किया गया है। उन्होंने बताया कि कोई भी गड़बड़ी अब आसान नहीं होगी। 

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.