कोरोना काल में बढ़ी गुड़ की मांग, गन्ना किसानों के लिए वरदान बने खांडसारी इकाई व गुड़ कोल्हू

अब किसानों को मिल रहा 275-285 रुपये प्रति क्विंटल का गन्ना मूल्य। राज्य गुड़ महोत्सव अब 6-7 मार्च को। (फाइल)

कोरोना काल में चीनी की बजाए गुड़ की बढ़ी मांग। अब किसानों को मिल रहा 275-285 रुपये प्रति क्विंटल का गन्ना मूल्य। राज्य गुड़ महोत्सव अब 6-7 मार्च को। 2021 तक प्रदेश में करीब 243 नई खांडसारी इकाइयों के लाइसेंस जारी किए गए। इसमें 133 इकाइयां संचालित हो चुकी है।

Divyansh RastogiSat, 27 Feb 2021 05:11 PM (IST)

लखनऊ  [राज्य ब्यूरो]। कोरोना काल में चीनी की बजाए गुड़ की बढ़ी मांग गन्ना किसानों के लिए वरदान सिद्ध हो रही है। खांडसारी इकाइयों के साथ कोल्हुओं का भी कारोबार बढ़ा है। इसके चलते किसानों को गत वर्ष की तुलना में गन्ने का मूल्य 50-60 रुपये प्रति क्विंटल अधिक यानी 275-285 रुपये मिल रहा है। कोल्हुओं पर बेहतर मूल्य मिलने से किसानों को राहत है।

खांडसारी व गुड़ उद्योग को प्रोत्साहित करने का नतीजा रहा कि वर्ष 2019 से 2021 तक प्रदेश में करीब 243 नई खांडसारी इकाइयों के लाइसेंस जारी किए गए। इसमें 133 इकाइयां संचालित हो चुकी है। इसके अलावा प्रदेश में करीब पांच हजार कोल्हुओं में गुड़ उत्पादन किया जा रहा है। मेरठ जिले के अतराड़ा गांव में गत पांच वर्ष से कोल्हू संचालित करने वाले जयभगवान का कहना है कि इस बार गुड़ की मांग में बढ़ोतरी हुई है। गुजरात, बिहार, पश्चिम बंगाल व महाराष्ट्र जैसे राज्यों के अलावा खाड़ी के देशों में गुड़ निर्यात हो रहा है। 

गुड़ की मांग बढ़ने के कारण ही किसानों को गत वर्षों की तुलना में ज्यादा गन्ना मूल्य मिल रहा है। मुजफ्फरनगर के किसान रामवीर कहते है कि कोल्हुओं पर गन्ने का दाम नगद मिलने से राहत है। इसके चलते चीनी मिलों द्वारा गन्ना मूल्य भुगतान में देरी होने के बावजूद किसानों में आक्रोश अपेक्षाकृत कम है। गन्ना विकास मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि 25 वर्षों में पहली बार 243 नई खांडसारी इकाइयों की स्थापना के लाइसेंस जारी हुए हैं। उन्होंने कहा कि इन इकाइयों में 273 करोड़ का पूंजी निवेश होने के साथ करीब 50 हजार लोग रोजगार पाएंगे। 

राज्य गुड़ महोत्सव अब 6-7 मार्च को: राज्य गुड़ महोत्सव अब 6-7 मार्च को आयोजित किया जाएगा। अपर मुख्य सचिव गन्ना विकास व चीनी मिलें संजय आर भूसरेडड़ी ने बताया कि संत रविदास जयंती के अवसर पर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के चलते 27-28 फरवरी को प्रस्तावित गुड़ महोत्सव का स्थगित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि अब गुड़ महोत्सव आगामी 6-7 मार्च आयोजित किया जाएगा। आयोजन तिथि बदलने के साथ स्थान में बदला गया है। गुड़ महोत्सव अवध शिल्पग्राम अमर शहीद पथ के स्थान इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान विभूति खंड गोमतीनगर में आयोजित किया जाएगा। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.