यूपी चुनाव में जिन्ना बनाम गन्ना पर घमासान, पोस्टर के जरिए भाजपा ने योगी सरकार की सपा सरकार से की तुलना

UP Assembly Election 2022 उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में जिन्ना और गन्ना की एंट्री के साथ ही राजनीतिक घमासान मच गया है। भारतीय जनता पार्टी इस मुद्दे को जोरशोर से उठाते हुए कैश कराने की पुरजोर कोशिश भी कर रही है।

Umesh TiwariTue, 30 Nov 2021 05:48 PM (IST)
भारतीय जनता पार्टी के अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक पोस्टर ट्वीट किया गया है।

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में 'जिन्ना' और 'गन्ना' की एंट्री के साथ ही राजनीतिक घमासान मच गया है। भारतीय जनता पार्टी इस मुद्दे को जोरशोर से उठाते हुए कैश कराने की पुरजोर कोशिश भी कर रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी जनसभाओं में जिन्ना का जिक्र करते हुए समाजवादी पार्टी पर निशाना साधने से नहीं चूकते हैं। इसी क्रम में मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी के अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक पोस्टर ट्वीट किया गया है, जिसकी टैग लाइन 'फर्क साफ है...समाज में कांटे बोने वालों और मिठास घोलने वालों के बीच' दी गई है।

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। इस बीच भारतीय जनता पार्टी ने ट्वीट के जरिए समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा है। एक पोस्टर के जरिए भाजपा ने सपा सरकार और योगी सरकार के बीच की तुलना की है। इस पोस्टर में अखिलेश यादव के कटीले कैक्टस की तुलना में सीएम योगी आदित्यनाथ के विकास का गन्ना दिखाया गया है। यह पोस्टर कार्टून के रूप में पेश किया गया है।

पोस्टर के एक हिस्से में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को दिखाया गया है जो कैक्टस को पानी दे रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दिखाया गया है जो गन्ने के पौधे को पानी दे रहे हैं। अखिलेश यादव का कैक्टस सिर्फ समस्याओं और विभेदकारी नीतियों से पटा हुआ है तो वही सीएम योगी आदित्यनाथ के गन्ने के पौधे में विकास की परियोजनाएं लगे पड़े हैं। अखिलेश के कैक्टस का नाम जिन्ना रखा गया है, जबकि योगी आदित्यनाथ के पौधे को गन्ने का नाम दिया गया है।

भाजपा के इस पोस्टर में अखिलेश के जिन्ना वाले कैक्टस में गुंडागर्दी, धर्मांतरण, परिवारवाद, भ्रष्टाचार, हिंदू घृणा, तुष्टीकरण, जिहाद और दंगा को रखा गया है। वहीं सीएम योगी आदित्यनाथ के गन्ने में डिफेंस कारिडोर, एयरपोर्ट, यूनिवर्सिटी, मेडिकल पार्क, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, फिल्म सिटी, सबका साथ और सबका विकास को रखा गया है।

बता दें कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव द्वारा जिन्ना को गांधी-नेहरू-पटेल जैसा फ्रीडम फाइटर बताने के बाद भाजपा लगातार घेराबंदी कर रही है। जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शिलान्यास के मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंच से लोगों को जिन्नावादियों से सावधान रहने की अपील की थी। उन्होंने कहा था कि आज ये देश के अंदर नया द्वंद बना है कि देश गन्ने की मिठास को नई उड़ान देगा या जिन्ना के अनुयायियों से फिर दंगा करवाने की शरारत करवाएगा? और यही सब तय करने के लिए आज आप सबका आह्वान करने के लिए मैं खुद आपके बीच आया हूं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.