लखनऊ का यातायात स्मार्ट बनाने के लिए अंतरराष्ट्रीय कंपनी को जिम्मा, चिह्नित होंगे ब्लैक स्पॉट

यातायात माह में शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में काफी सुधार हुआ है। अधिकतर लोग हेलमेट लगाने लगे हैं। ट्रैफिक नियमों का पालन कर रहे हैं। अब हादसों में कमी लाने के लिए जल्द ही अंतराष्ट्रीय कंपनी शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने का काम करेगी।

Dharmendra MishraTue, 30 Nov 2021 09:16 PM (IST)
लखनऊ का ट्रैफिक स्मार्ट बनाने के लिए अंतरराष्ट्रीय कंपनी को सौंपा काम।

लखनऊ, जागरण संवाददाता। यातायात माह में शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में काफी सुधार हुआ है। अधिकतर लोग हेलमेट लगाने लगे हैं। ट्रैफिक नियमों का पालन कर रहे हैं। अब हादसों में कमी लाने के लिए एक बृहद योजना तैयार की गई है। जल्द ही अंतराष्ट्रीय स्तर पर काम करने वाली एक कंपनी शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने का काम करेगी। शासन ने भी इसके लिए मंजूरी दे दी है।

इस कंपनी के इंजीनियर और पूरी टीम शहर के ब्लैक स्पाट का चिन्हांकन करेंगे। मुख्य मार्गों पर अवैध कट कौन से हैं। जहां जाम की ज्यादा समस्या है वहां पर क्या किया जाए। चौराहों की रोड इंजीनियरिंग समेत अन्य बिंदुओं पर काम करेगी। इस कंपनी ने महाराष्ट्र, पुणे और हैदराबाद में सड़क सुरक्षा और यातायात व्यवस्था पर काम किया है। वहां काफी सुधार हुआ है।

मंगलवार को यह जानकारी पुलिस लाइन में आयोजित यातायात माह के समापन के मौके पर अधिकारियों ने दी। मंडलायुक्त रंजन कुमार ने बताया कि यातायात माह एक माह ही नहीं बल्कि पूरे साल मनाना चाहिए। इससे लोगों में जागरूकता आती है। लोग रोड सेफ्टी के लिए सजग होते हैं। वहीं, जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने कहा कि जल्द ही अंतरराष्ट्रीय कमेटी से शहर की सड़कों का निरीक्षण कराया जाएगा। कमेटी पहले रिपोर्ट तैयार करेगी। उसके बाद उसकी रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

जेसीपी कानून व्यवस्था पीयूष मोर्डिया ने कहा कि मुख्य मार्ग पर बने गेस्ट हाउस की पार्किंग लोग अन्य कार्यों में प्रयोग कर रहे हैं। इसने खिलाफ भी कार्रवाई जल्द ही अभियान चलाकर की जाएगी। इसकी वजह से काफी दिक्कतें होती हैं। इस दौरान स्कूली बच्चों ने सांस्कृति प्रस्तुतियां दी। इस दौरान अधिकारियों ने सभी से यातायात नियमों का पालन करने की सलाह दी। उन्होंने बताया कि यातायात नियम आपकी सुरक्षा के दृष्टिगत बनाए गए हैं। कार्यक्रम का आयोजन रिजर्व पुलिस लाइन स्थित परेड ग्राउंड में किया गया। इस दौरान रोड सेफ्टी एक्सपर्ट सुमित मिश्रा, सैय्यद एहतेशाम और पंकज शर्मा ने लोगों को यातायात नियमों की जानकारी दी।

कमेटी की निगरानी में हटेगा अतिक्रमणः पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने बताया कि शहर के अमीनाबाद, आलमबाग और भूतनाथ मार्केट तीन बाजार पहले फेस में चुनी गई हैं। इसके लिए जिलाप्रशासन, पुलिस, नगर  निगम और स्थानीय लोगों की कमेटी बनाई जा रही है। अभियान चलाकर अतिक्रमण हटाया जाएगा। दोबारा अतिक्रमण लगा तो लगाने वाले के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। मंडलायुक्त रंजन कुमार, जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश और नगर आयुक्त अजय कुमार द्विवेदी और जेसीपी कानून व्यवस्था पीयूष मोर्डिया के साथ हुई बैठक में इसकी रूपरेखा तैयार कर ली गई है।

एक किमी दूरी से रफ्तार से अधिक चल रही गाड़ियों का करेगा चालानः ट्रैफिक पुलिस के बेड़े में लेजर स्पीड रडार को शामिल किया गया है। इस यंत्र में एक अत्याधुनिक कैमरा लगा है। पुलिस कर्मी मुख्य रोड पर स्टैंड पर लगाकर खड़ा करेंगे। इसके बाद करीब एक किमी दूर सामने से आ रही गाड़ियों की रफ्तार मानक से अधिक होने पर उनका आटो चालन कर हो जाएगा। इसके अलावा स्पीड गन से 500 मीटर दूर सामने से आ रही गाड़ियों का चालान किया जा सकता है। दोनों यंत्र ट्रैफिक पुलिस के पास आ गए हैं। बाकी के 40 फीसद को भी दुरुस्त जल्द ही दुरुस्त करना है।

एडीसीपी श्रवण कुमार ने बताया कि यातायात माह में हुई कार्रवाई से लोगों में सुधार हुआ है। शहर में एक से 30 नवंबर के बीच 23692 वाहन चालकों का यातायात नियम तोड़ने पर चालान किया गया है। इसमें यातायात नियम तोड़ने वाले लोगों से 17.79 लाख का जुर्माना वसूला गया। सबसे अधिक चालान हेलमेट न पहनने वाले 5488 लोगों के किए गए। इतनी बड़ी कार्रवाई के बाद लोगों में सुधार हुआ है। यातायात माह शुरू होने के दौरान प्रति दिन करीब 200 लोगों के चालान हेमलेट न पहनने वालों के होते थे। अब यह संख्या 85-90 हो गई है। हेलमेट न पहनने से सर्वाधिक लोगों की मौत सड़क हादसे में होती है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.