यूपी में मानव तस्करी मामला: एटीएस ने एयरपोर्ट पर बढ़ाई छानबीन, आरोपितों के बैंक खातों की पड़ताल तेज

आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) ने बांग्लादेश व म्यांमार के नागरिकों की पहचान बदलकर उन्हें विदेश भेजने वाले मानव तस्करों के मददगारों की तलाश में जुटा है। इसी कड़ी में एटीएस ने दिल्ली एयरपोर्ट पर काम करने वाले कुछ युवकों से पूछताछ भी की है।

Vikas MishraPublish:Thu, 25 Nov 2021 10:26 AM (IST) Updated:Thu, 25 Nov 2021 04:17 PM (IST)
यूपी में मानव तस्करी मामला: एटीएस ने एयरपोर्ट पर बढ़ाई छानबीन, आरोपितों के बैंक खातों की पड़ताल तेज
यूपी में मानव तस्करी मामला: एटीएस ने एयरपोर्ट पर बढ़ाई छानबीन, आरोपितों के बैंक खातों की पड़ताल तेज

लखनऊ, राज्य ब्यूरो। आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) ने बांग्लादेश व म्यांमार के नागरिकों की पहचान बदलकर उन्हें विदेश भेजने वाले मानव तस्करों के मददगारों की तलाश में जुटा है। इसी कड़ी में एटीएस ने दिल्ली एयरपोर्ट पर काम करने वाले कुछ युवकों से पूछताछ भी की है। एटीएस ने आरोपित अजय घिल्डियाल से उनका सामना भी कराया था। अजय व उसके कुछ साथियों के बैंक खातों का ब्योरा भी खंगाला जा रहा है।

एटीएस अब मानव तस्करों के लिए फर्जी दस्तावेज तैयार करने वालों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। एटीएस ने इसे लेकर पुलिस रिमांड पर लिए गए रोहिंग्या मु.जमील व उसके साले नूर अमीन से लंबी पूछताछ की है। दोनों से पूछताछ में सामने आए तथ्यों के आधार पर कई संदिग्धों की तलाश भी जा रही है। दूसरी ओर एटीएस को उम्मीद है कि फर्जी दस्तावेजों के जरिए गलत ढंग से विदेश भेजे गए घुसपैठियों को एयरपोर्ट में बोर्डिंग में मदद करने वाले कुछ और चहरे जल्द बेनकाब होंगे।

अजय के मोबाइल फोन की भी छानबीन की जा रही है। कुछ ऐसे नंबर भी सामने आए हैं, जिन पर अजय की अधिक बातचीत होती थी। उन नंबरों को भी खंगाला जा रहा है। एटीएस देहरादून निवासी अजय घिल्डियाल को भी 10 दिनों की पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है। एटीएस इस गिरोह के जरिए विदेश भेजे गए बांग्लादेश व म्यांमार के नागरिकों के बारे में भी पड़ताल कर रही है। उनका पूरा ब्योरा जुटाने का प्रयास किया जा रहा है।