Ayodhya Ram Mandir News: रामनगरी के कुंडों का होगा क्यूआर कोड, स्कैन करते ही स्क्रीन पर होगा इतिहास

अयोध्या में स्थित पौराणिक कुंडों को भी पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की योजना नगर निगम ने बनाई गई है। कुंडों की सफाई प्राकृतिक रसायनों से की जाएगी ताकि जलीय जीवों को नुकसान न पहुंचे। रामकी पैड़ी के साथ संवारे जाएंगे आठ पौराणिक कुंड।

Anurag GuptaSun, 26 Sep 2021 06:30 AM (IST)
नमामि गंगे योजना के अंतर्गत आठ करोड़ रुपये की लागत से होगा पुनरुद्धार।

अयोध्‍या, [रविप्रकाश श्रीवास्तव]। रामनगरी के विकास में पौराणिकता को सहेजते हुए आधुनिक तकनीक का भी उपयोग किया जाएगा। रामनगरी के कुंडों का इतिहास क्यूआर कोड में समेटने की योजना बनाई गई है। इसकी शुरूआत नमामि गंगे योजना के तहत पुनर्जीवित किए जाने वाले आठ कुंडों के विकास में देखने को मिलेगी। वैदिक विधि से इन कुंडों का जीर्णोद्धार किया जाएगा, वहीं प्रत्येक कुंड का अलग-अलग क्यूआर कोड भी जनरेट करने की तैयारी है। योजना साकार हुई तो रामनगरी में पहली बार किसी पौराणिक जलस्रोत का इतिहास क्यूआर कोड में उपलब्ध होगा। यह प्रयोग सफल होने पर भविष्य में अन्य कुंडों के विकास में भी यह देखने को मिल सकता है। कुंडों के पास क्यूआर कोड के बोर्ड लगाए जाएंगे।

अयोध्या में स्थित पौराणिक कुंडों को भी पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की योजना नगर निगम ने बनाई गई है। कुंडों की सफाई प्राकृतिक रसायनों से की जाएगी, ताकि जलीय जीवों को नुकसान न पहुंचे। दिल्ली की संस्था सीएफएम के सचिव सौरव घोष की निगरानी में इस रसायन का परीक्षण लाल डिग्गी तालाब की सफाई के लिए किया गया, जिसका परिणाम काफी उत्साहजनक रहा है। घोष के अनुसार कुंडों के लिए क्यूआर कोड बनाए जाने पर विचार किया जा रहा है। सफाई के बाद कुंडों की पहचान से जुड़ी चित्रकारी भी की जाएगी। प्रस्तावित योजना के दृष्टिगत प्राधिकरण के सचिव डॉ. संजीव कुमार ने कुंडों का भ्रमण कर उनकी स्थिति देखी।

सचिव ने रामकी पैड़ी पर चल रहे सुंदरीकरण कार्य का भी जायजा लिया। यह योजना कुंडों को सुंदर बनाने के साथ उसके आसपास रहने वाले लोगों के लिए रोजगार का भी द्वार खोलेगी। पुनरुद्धार के बाद इन स्थानों पर नगर निगम दुकानें भी बनवाएगा, जो रोजगार के लिए किराए पर उपलब्ध कराया जाएगा। दुकानदारों की जिम्मेदारी कुंड की निगरानी करने की भी होगी, जिससे उसकी निर्मलता बरकरार रहे।

इन कुंडों का होगा सुंदरीकरण : ब्रह्मकुंड, खजुहा कुंड, विद्याकुंड, अग्निकुंड, दशरथ कुंड, सीता कुंड, क्षीरसागर व लाल डिग्गी तालाब। 

क्या है क्यूआर कोड : क्यूआर (क्विक रिस्पांस) कोड बार कोड का एक वर्जन है, जिसमें किसी विशेष वस्तु एवं विषय से संबंधित जानकारी जुड़ी रहती हैं। क्यूआर स्कैनर का उपयोग करके इसमे संग्रहीत जानकारी तक पहुंचा जा सकता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.