लखनऊ के यहियागंज में आए थे गुरु तेग बहादुर, आठ को गुरुद्वारे में मनाया जाएगा शहीदी दिवस

सिखों के नवें गुरु तेग बहादुर का शहीदी दिवस आठ दिसंबर को मनाया जाएगा। राजधानी के ऐतिहासिक गुरुद्वारे यहियागंज में बिहार के पटना साहिब में जन्मे गुरु गोविंद सिंह 1672 में छह वर्ष की आयु में आनंदपुर साहिब से पटना साहिब जाते समय दो महीने 13 दिन गुरुद्वारा यहियागंज रुके।

Dharmendra MishraPublish:Wed, 01 Dec 2021 01:00 PM (IST) Updated:Wed, 01 Dec 2021 01:00 PM (IST)
लखनऊ के यहियागंज में आए थे गुरु तेग बहादुर, आठ को गुरुद्वारे में मनाया जाएगा शहीदी दिवस
लखनऊ के यहियागंज में आए थे गुरु तेग बहादुर, आठ को गुरुद्वारे में मनाया जाएगा शहीदी दिवस

लखनऊ, जागरण संवाददाता।  सिखों के नवें गुरु तेग बहादुर का शहीदी दिवस आठ दिसंबर को मनाया जाएगा। गुरुद्वारों में विशेष आयोजन होगा। राजधानी के ऐतिहासिक गुरुद्वारे यहियागंज में बिहार के पटना साहिब में जन्मे गुरु गोविंद सिंह 1672 में छह वर्ष की आयु में अपनी माता माता गुजरी और माता कृपाल जी महाराज के साथ आनंदपुर साहिब से पटना साहिब जाते समय दो महीने 13 दिन गुरुद्वारा यहियागंज में ठहरे थे।

यहीं नहीं इसी स्थान पर गुरु तेग बहादुर जी महाराज 1670 में यहां आए थे और तीन दिन तक रुके थे। गुरु गोविंद सिंह द्वारा हस्त लिखित गुरु ग्रंथ साहिब भी गुरुद्वारे में मौजूद है। हुक्म नामे भी गुरुद्वारे की शोभा बढ़ा रहे हैं।

कायस्थ समाज का जुड़ावः

गुरुद्वारे के सचिव मनमोहन सिंह हैप्पी ने बताया कि जिस समय गुरु महाराज इस स्थान पर आए उस समय इस स्थान की सेवा उदासी संप्रदाय के भाई संगतिया जी कर रहे थे। कायस्थ समाज इस स्थान के पास रहता था। कायस्थ समाज ने गुरु जी की सेवा कर आशीर्वाद प्राप्त किया था। इसलिए इस स्थान का खास महत्व है।

लखनऊ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने की तैयारियांः

लखनऊ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से भी आयोजन को लेकर तैयारियां शुरू हो गईं हैं। कमेटी के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह बग्गा ने बताया कि आयोजन गुरुद्वारों में होगा। शहीदी दिवस को ऐतिहासिक बनाने के साथ ही सुरक्षा का ध्यान रखने की अपील की गई है। गुरुद्वारा नाका हिंडोला में विशेष दीवान सजेगा। महासचिव हरपाल सिंह जग्गी ने बताया कि गुरुद्वार सदर में भी आयोजन होगा।

प्रवक्ता सतपाल सिंह मीत ने बताया कि शहीदी दिवस महिला संगत सत्संग करेंगी। गुरुद्वारा आशियाना के चेयरमैन जेएस चड्ढ़ा ने बताया आठ दिसंबर को विशेष दीवान के साथ प्रकाश होगा। गुरुद्वारा मानसरोवर कानपुर रोड के अध्यक्ष संपूर्ण सिंह बग्गा ने बताया कि लंगर के साथ दीवान सजाया जाएगा। गुरुद्वारा इंदिरानगर के जसवंत सिंह और गुरुद्वारा पटेल नगर के सचिव राजिंदर सिंह बग्गा के संयोजन में विशेष प्रकाश हाेगा।