Green Corridor in Lucknow: पहले फेज पर खर्च हाेंगे 817 करोड़, गऊघाट-कुड़ियाघाट और खदरा में बनेगा फ्लाईओवर

लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने बताया कि ग्रीन कारिडोर प्रोजेक्ट के अंतर्गत गोमती नदी के दोनों किनारों पर प्रथम फेज आइआइएम रोड से शहीद पथ तक नया बंधा एवं उसके चौड़ीकरण तथा उसके ऊपर सड़क निर्माण किया जाना है।

Anurag GuptaThu, 16 Sep 2021 05:55 PM (IST)
ग्रीन कारिडोर पर कैटल कालोनी, गऊघाट, प्रबंध नगर व फैजुल्लागंज से होगा कनेक्ट।

लखनऊ, जागरण संवाददाता। ग्रीन कारिडोर के कामों को गति देने का काम लविप्रा उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने तेज कर दिया है। जो काम अक्टूबर माह से शुरू होने थे, उनकी शुरुआत सितंबर माह से शुरू कर दी गई है। इसी क्रम में बुधवार को कार्यदायी संस्था टाटा कन्सलटिंग इंजीनियर्स द्वारा प्रोजेक्ट के पहले फेज की संशोधित डीपीआर लखनऊ विकास प्राधिकरण को सौंप दिया। डीपीआर तय होने से अब इस परियोजना का काम जल्द ही स्वरूप लेना शुरू कर देगा। पहले फेस को बनाने में करीब 817 करोड़ का खर्च आया है।

लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने बताया कि ग्रीन कारिडोर प्रोजेक्ट के अंतर्गत गोमती नदी के दोनों किनारों पर प्रथम फेज आइआइएम रोड से शहीद पथ तक नया बंधा एवं उसके चौड़ीकरण तथा उसके ऊपर सड़क निर्माण किया जाना है। परियोजना के कार्यों को शीघ्र प्रारंभ करने के लिए फेज एक के कामों को तीन भागों में विभाजित किया गया है। इसमें आइआइएम रोड से हार्डिंग ब्रिज (लाल पुल) तक, लाल पुल से पिपराघाट तक एवं पिपराघाट से शहीद पथ तक बांटा गया है।

उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने बताया कि टाटा कन्सलटिंग इंजीनियर्स द्वारा प्रस्तुत की गई भाग-एक की डीपीआर के तहत होने वाले कार्यों की कुल लागत 817 करोड़ रूपये है। इसके अंतर्गत आइआइएम रोड से लाल ब्रिज तक गोमती नदी के दोनों किनारों पर लगभग सात किमी. लंबा बंधा निर्माण/चैड़ीकरण तथा उसके ऊपर फोर लेन सड़क का निर्माण प्रस्तावित है। इसके अलावा गऊघाट पर 270 मी. लम्बाई का पुल, कुड़ियाघाट से लाल ब्रिज तक 1050 मीटर लंबाई का फ्लाई ओवर तथा खदरा से लाल ब्रिज तक 660 मी. लम्बाई का फ्लाई ओवर निर्माण प्रस्तावित किया गया है। इस कारिडोर प्रोजेक्ट में आइआइएम रोड व हार्डिंग ब्रिज के अतिरिक्त कैटल कालोनी (बुद्धेश्वर मार्ग), गऊघाट, प्रबन्ध नगर योजना एवं फैजुल्लागंज पर इन्ट्री व एग्जिट का प्रस्ताव किया गया है।

प्रोजक्ट इम्प्लीमेंटेशन यूनिट के सदस्य अनिल कुमार सिंह सेंगर ने बताया कि इस परियोजना में सिंचाई विभाग के कार्यों में बंधा निर्माण व चैड़ीकरण, आरइ वॉल और बैरल आदि निर्माण कार्यों के लिए लगभग लागत 216 करोड़ रूपये है। वहीं, लोक निर्माण विभाग से संबंधित सड़क निर्माण कार्य के लिए 171 करोड़, ब्रिज व फ्लाई ओवर के लिए 256 करोड़ धनराशि आंकलित की गई है। उक्त के अतिरिक्त बंधा निर्माण के लिए प्रस्तावित अधिग्रहण के लिए भूमि 27 हेक्टेयर अनुमानित लागत 62 करोड़ रूपये, कारिडोर के एलाइनमेंट में आने वाले पावर कारपोरेशन तथा नगर निगम की परिसम्पत्तियों की शिफ्टिंग के लिए 20 करोड़ रुपये का प्राविधान किया गया है। प्रोजेक्ट के इस भाग में गोमती नदी के दोनों किनारों पर 10.6 किलोमीटर लंबाई का फोर लेन हाइवे और तीन स्थानों पर लगभग दो किलोमीटर लंबाई का ब्रिज/फ्लाई ओवर निर्माण कार्य का प्राविधान किया गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.