विवेकानंद ने दी सर्वधर्म समभाव की सीख : राम नाईक

लखनऊ(जेएनएन)। स्वामी विवेकानंद के शिकागो भाषण की 125वीं वर्षगाठ के अवसर पर विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी की लखनऊ शाखा द्वारा विश्व बंधुत्व दिवस का आयोजन किया गया। लखनऊ विश्वविद्यालय के मालवीय सभागार में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि विवेकानंद के भाषण में सहिष्णुता और सर्वधर्म समभाव की सीख मिलती है। कार्यक्रम में हाईकोर्ट लखनऊ खंडपीठ के न्यायमूर्ति शबीहुल हसनैन और महापौर संयुक्ता भाटिया की भी उपस्थिति रही। कार्यक्रम में स्वामी विवेकानंद के ऐतिहासिक शिकागो भाषण पर आधारित भाषण प्रतियोगिता में चयनित 273 प्रातिभागियों को सम्मानित भी किया गया।

लविवि के कुलपति प्रो. एसपी सिंह, सेवानिवृत्त आइएएस दयानंद लाल, मेजर जनरल अजय चतुर्वेदी आदि उपस्थित रहे। विवेकानंद केंद्र लखनऊ के संगठक अश्वनी ने बताया कि शिकागो भाषण की 125वीं वर्षगाठ के अवसर पर उनके भाषण पर आधारित भाषण प्रतियोगिता लगभग 60 विद्यालयों तथा विश्वविद्यालयों में लगभग 3000 प्रतिभागियों के बीच कराई गई थी। उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से स्वामी विवेकानंद के विचारों से विद्यार्थी अवगत हुए होंगे और उन्हें उनसे राष्ट्र निर्माण के लिए प्रेरणा भी मिली होगी।

भारतीय संस्कृति और सभ्यता का संदेश:

मुख्य वक्ता न्यायमूर्ति शबीहुल हसनैन ने कहा कि शिकागो की धर्म संसद में दिया गया भाषण भारत की संस्कृति और सभ्यता के प्रत्येक पहलुओं का संदेश देता है। विशिष्ट अतिथि संयुक्ता भाटिया ने कहा कि विवेकानंद केंद्र द्वारा इस तरह के राष्ट्र निर्माण के कार्यक्त्रमों की जितनी सराहना की जाए कम है।

स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ें युवा: ब्रजेश पाठक

स्वामी विवेकानंद द्वारा 11 सितंबर 1893 में शिकागो धर्म संसद में दिए गए ऐतिहासिक भाषण की 125वीं वर्षगाठ के मौके पर केजीएमयू में कार्यक्रम आयोजित किया गया। नेशनल मेडिको ऑर्गेनाइजेशन व यूथ ऑफ मेडिकोज के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस कार्यक्त्रम में विधि एवं न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि स्वामी विवेकानंद युवाओं के लिए आदर्श हैं। इस ऐतिहासिक दिन पर सभी युवाओं को स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने का संकल्प लेना होगा। उन्होंने कहा कि युवाओं को चाहिए कि वह अपने अच्छे कार्यो से देश का मान-सम्मान पूरी दुनिया में बढ़ाएं।

कार्यक्रम में केजीएमयू के कुलपति प्रो. एमएलबी भट्ट ने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में सेवा करने का मौका सबसे ज्यादा है। कार्यक्त्रम में सैफई चिकित्सा विश्वविद्यालय के प्रो. राजकुमार भी मौजूद रहे। मंच संचालन नेशनल मेडिको ऑर्गेनाइजेशन के प्रो. राजकुमार ने किया।

रामकृष्ण मठ में भजन संध्या:

शिकागो में 11 सितंबर 1893 को आयोजित विश्व धर्म संसद में स्वामी विवेकानंद द्वारा दिए गए भाषण के 125वीं वर्षगाठ पर मंगलवार को रामकृष्ण मठ लखनऊ में स्वामी मुक्तिनाथानंद के नेतृत्व में भजन संध्या आयोजित की गई, जिसमें स्वामी कृपाकरानंद के द्वारा प्रस्तुत भजनों को सुनकर भक्त भाव विभोर हो उठे। स्वामी मुक्तिनाथानंद ने बताया कि स्वामी विवेकानंद जी स्वयं शास्त्रीय संगीत के जानकार थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.