top menutop menutop menu

Good News: मौका है बना सकते आशियाना, बालू और मौरंग की कीमतें तेजी से गिरीं

Good News: मौका है बना सकते आशियाना, बालू और मौरंग की कीमतें तेजी से गिरीं
Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 07:51 PM (IST) Author: Divyansh Rastogi

लखनऊ, जेएनएन। Good News: खपत में कमी और लेबर की दिक्कतों से मौरंग ओर बालू की कीमतों में कमी आई है। तेजी से गिरे भाव ने मरम्मत का काम करा रहे और आशियाना बनाने वाले लोगों की राह  आसान कर दी है। 90 रुपये घनफुट मौरंग और 30 रुपये प्रति घनफुट पहुंच गई बालू की कीमतों में तेजी से कमी  हुई हैं। इस वक्त बाजार में मौरंग जहां प्रति घनफुट 70 रुपये तो बालू 22 से 25 रुपये घनफुट में आ गई है। 

करीब 20 रुपये प्रति घनफुट मौंरग में तो बालू में पांच से आठ रुपये की कमी आई है। डीजल दरों में बढ़ोत्तरी और बारिश के चलते खदान बंद होने का असर भवन निर्माण सामग्री पर सीधा दिखता था, लेकिन खपत में काफी गिरावट होने के कारण कीमतें लगातार घट रही हैं।

एक हजार घनफुट वाला ट्रक पर आया अंतर

भवन सामग्री-पहले- अब

मौरंग का ट्रक-90,000-70,000

बालू का ट्र्रक-30,000-22,000 से 25,000

क्या कहता है उत्तर प्रदेश सीमेंट व्यापार संघ  

उत्तर प्रदेश सीमेंट व्यापार संघ अध्यक्ष श्याममूर्ति गुप्ता के मुताबिक, तीस जून से मौरंग की खदानें बंद होने के बाद बारिश का मौसम शुरू हो गया था। इससे कीमतें तेजी से चढ़ी थीं। लेकिन अब बढ़ता कोरोना संक्रमण के ग्राफ की वजह से ग्राहक ही बाजार में नहीं हैं। खपत कम हो गई है। वहीं लेबर की दिक्कत से मरम्मत और निर्माण कार्य में लगातार कमी आती जा रही है। यही वजह है किकीमतें गिरतीं चली जा रही हैं। मौरंग के एक हजार घनफुट के ट्र्क पर बीस हजार रुपया का अंतर आया है। वहीं बालू के ट्रक पर पांच से आठ हजार की कमी आई है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.