अंबेडकरनगर में अंतरजनपदीय जहरखुरानी गिरोह के सरगना समेत चार गिरफ्तार

Jahar Khurani Gang अजमगढ़ जिले के बिलरियागंज अतरौलिया व अहिरौला थाने के आरोपित। अकबरपुर बस अड्डे एवं रेलवे स्टेशन के बीच यात्रियों को निशाना बनाने के लिए यह जहरखुरान गिरोह गत रविवार की रात ओवरब्रिज के नीचे बैठा था।

Anurag GuptaMon, 20 Sep 2021 05:50 PM (IST)
कोतवाली पुलिस व स्वाट टीम ने बरामद किए दो कार और 25 हजार रुपये।

अंबेडकरनगर, संवाद सूत्र। यात्रियों को निशाना बनाने वाले अंतरजनपदीय जहरखुरानी गिरोह के सरगना समेत चार सदस्यों को स्वाट टीम व कोतवाली अकबरपुर की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आजमगढ़ जिले के बिलरियागंज, अहिरौला व अतरौलिया थाने के इन आरोपितों से पुलिस ने दो कार और 25 हजार रुपये समेत प्रतिबंधित दवाएं भी बरामद की हैं। मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने आरोपितों को जेल भेजा है।

अकबरपुर बस अड्डे एवं रेलवे स्टेशन के बीच यात्रियों को निशाना बनाने के लिए यह जहरखुरान गिरोह गत रविवार की रात ओवरब्रिज के नीचे बैठा था। मुखबिर की सूचना पर स्वाट टीम व कोतवाली पुलिस ने आपरेशन में घेराबंदी कर गिरोह के सरगना समेत तीन आरोपितों को दबोच लिया। गिरोह से पूछताछ के बाद पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए इल्तिफातगंज मार्ग पर रेलवे क्रासि‍ंग के पास कार से इनके चौथे साथी को पकड़ लिया। पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि आजमगढ़ जनपद में अहिरौला थाने के लेदौरा गांव का पंकज निषाद गिरोह का सरगना है। बिलरियागंज थाने के अलाउद्दीन पट्टी का प्रकाश यादव और शहाबुद्दीन गांव के परशुराम यादव समेत अतरौलिया थाने के गोपालपट्टी गांव के रवि निषाद जहरखुरानी गिरोह के सदस्य हैं। इन्हें जेल भेजा गया है। कार्रवाई के दौरान एक साथी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकला। इसकी तलाश चल रही है।

मजबूरी में मदद का देते थे झांसा : गिरोह के सरगना ने बताया कि रेलवे स्टेशन एवं बस अड्डे पर रात में आने वाले यात्रियों को मुसीबत में फंसा देखकर मदद करने की पहल करते हैं। खुद उनके गंतव्य की ओर जाने का झांसा देकर ये बीच सफर में घटना को अंजाम देते रहे। गिरोह के सदस्य जिला मुख्यालय के प्रमुख एवं सुनसान मार्ग पर भी घात लगाकर बैठे रहते हैं। इनके पास से आजमगढ़ जिले से चोरी की दो कारें एवं प्रतिबंधित दवा की 70 गोलियां मिली हैं। इसके जरिए गिरोह यात्रियों को बेहोश कर लूटपाट करते हैं। दवा देने की मात्रा के बारे में ये प्रशिक्षित हैं। वजह, अधिक मात्रा में इसे देने से मौत हो सकती है। बेहोश करने की मात्रा तक ही दवा चाय आदि में मिलाकर देते हैं।

सरगना और सदस्यों का लंबा आपराधिक इतिहास : जहरखुरानी की घटना को ताबड़तोड़ अंजाम देने के बाद यह लौट कर खामोश हो जाते हैं। पुलिस की तलाशी के दौरान इनके पास से कई जोड़ी कपड़े मिले हैं। सरगना समेत सदस्यों का लंबा इतिहास है। गिरोह के सरगना पंकज निषाद पर आजमगढ़ एवं अंबेडकनरगर के विभिन्न थानों में 12 मुकदमे दर्ज हैं। लालबहादुर यादव पर भी आजमगढ़ जिले में दो मुकदमे पहले से दर्ज हैं। गिरोह पकडऩे वाली पुलिस टीम में कोतवाल अमित प्रताप सि‍ंह, उप निरीक्षक धर्मेंद्र सि‍ंह, आरक्षी कुलदीप, अजीत यादव और बिट्टू सि‍ंह को एसपी ने शाबाशी दी है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.