Threat For Blast in Lucknow: मंदिरों में धमकी भरा पत्र भेजने वालों पर एफआइआर, धार्मिक स्थलों पर पीएसी बल तैनात

अलीगंज स्थित नए हनुमान मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी देने के मामले में पुलिस ने एफआइआर दर्ज की है। एसीपी अलीगंज अखिलेश कुमार सिंह के मुताबिक मंदिर के प्रशासनिक अधिकारी राकेश दीक्षित की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ धार्मिक कई धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है।

Vikas MishraSun, 01 Aug 2021 08:35 PM (IST)
मनकामेश्वर मंदिर में सावन के दूसरे सोमवार को देखते हुए पुलिस अतिरिक्त सतर्कता बरत रही है।

लखनऊ, जागरण संवाददाता। अलीगंज स्थित नए हनुमान मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी देने के मामले में पुलिस ने एफआइआर दर्ज की है। एसीपी अलीगंज अखिलेश कुमार सिंह के मुताबिक, मंदिर के प्रशासनिक अधिकारी राकेश दीक्षित की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ धार्मिक भावना आहत करने, वैमनस्यता फैलाने, शांति भंग प्रभावित करने और सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। धमकी भरा पत्र भेजने वालों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। सुरक्षा के लिहाज से लखनऊ पुलिस ने धार्मिक स्थलों और सार्वजनिक स्थानों पर पुलिस बल तैनात कर दिए हैं। अलीगंज स्थित नए हनुमान मंदिर में पीएसी बल मुस्तैद की गई है। रविवार को सुरक्षाकर्मी मंदिर परिसर में मार्च करते देखे गए।

वहीं, मनकामेश्वर मंदिर में भी पुलिस बल तैनात की गई है। सावन के दूसरे सोमवार को देखते हुए पुलिस अतिरिक्त सतर्कता बरत रही है। मंदिरों में आने वाले संदिग्ध लोगों पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। उधर, रविवार को डाक विभाग बंद होने के कारण पुलिस यह पता नहीं लगा सकी कि किसने पत्र भेजे थे। एटीएस की टीम दुबग्गा से पकड़े गए अलकायदा माड्यूल के आतंकी मिनहाज और उसके साथी मसीरुद्दीन से उनके अन्य मददगारों के बारे में जानकारी कर रही है। सुरक्षा एजेंसियां धमकी भरे पत्र के पीछे आतंकी संगठनों के लिए काम करने वाले स्लीपर सेल की भूमिका से इंकार नहीं कर रही हैं। पत्र भेजने वाले ने दोनों आतंकियों को छोडऩे की मांग की है और ऐसा नहीं करने पर 15 अगस्त को परिणाम भूगतने की धमकी दी है। इंस्पेक्टर हसनगंज यशकांत सिंह के मुताबिक मनकामेश्वर मंदिर प्रशासन की ओर से कोतवाली में कोई तहरीर नहीं दी गई है। तहरीर मिलने के बाद एफआइआर दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। हालांकि सुरक्षा के लिहाज से पीएसी व पुलिस की टीम वहां तैनात की गई है। 

सीसी फुटेज खंगाले गएः छानबीन में पता चला है कि मंदिरों में धमकी भरे पत्र त्रिवेणीनगर स्थित डाकघर से भेजे गए हैं। पत्र में हाल में गिरफ्तार किए गए मुजाहिदों को रिहा करने की मांग की गई है। धमकी भरे पत्र में आरएसएस कार्यालय और वहां के कुछ बड़े पदाधिकारियों को उड़ाने का जिक्र है। खुफिया एजेंसियों ने डाक घर व उसके आसपास लगे सीसी कैमरे खंगाले हैं। पिछले कुछ दिनों में डाक घर आने वाले लोगों की सूची भी तैयार की जा रही है। इसके साथ ही जोगिंदर सिंह और इंतजार नाम के व्यक्ति के बारे में भी पता लगाया जा रहा है। पुलिस कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.