Fight Against COVID-19: कोरोना संक्रमण की लड़ाई में फिर फ्रंट पर आए BJP नेता, संसाधन जुटाने को दी विधायक निधि

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य - संसदीय कार्य, चिकित्सा शिक्षा व वित्त मंत्री सुरेश खन्ना

Fight Against COVID-19 in UP डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के साथ साथ योगी आदित्यनाथ सरकार के आधा दर्जन से अधिक मंत्रियों तथा एक दर्जन से अधिक विधायकों ने अपनी निधि से एक-एक करोड़ रुपया चिकित्सीय संसाधन जुटाने के लिए दिए हैं।

Dharmendra PandeySun, 18 Apr 2021 01:58 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी स्ट्रेन के काफी गति पकडऩे के दौरान संसाधनों की कमी को दूर करने के लिए भारतीय जनता पार्टी के मंत्री तथा विधायक फ्रंट पर आ गए हैं। सूबे में कोविड-19 महामारी के चलते गंभीर होते हालात में आम लोगों को जरूरी चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध हो, इसके लिए विधायक निधि देने की होड़ फिर से दिखने लगी है।

उत्तर प्रदेश में बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण के खिलाफ हर स्तर पर लड़ाई तेज हो चुकी है। इस पर अंकुश लगाने के लिए प्रशासनिक अफसर और कर्मचारी दिन-रात मेहनत कर रहे हैं। संसाधनों की कमी न हो इसके लिए मंत्री तथा विधायकों ने भी अपनी निधि का मुंह खोल दिया है। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के साथ साथ योगी आदित्यनाथ सरकार के आधा दर्जन से अधिक मंत्रियों तथा एक दर्जन से अधिक विधायकों ने अपनी निधि से एक-एक करोड़ रुपया चिकित्सीय संसाधन जुटाने के लिए दिए हैं।

प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने प्रयागराज के मुख्य विकास अधिकारी को पत्र लिख कर निर्देशित किया है कि उनकी विधायक निधि से एक करोड़ रुपये जारी कर दिए जाएं। इस रकम से प्रयागराज में अस्थायी आरटीपीसीआर जांच केंद्र बनाने, ऑक्सीमीटर उपलब्ध कराने, होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को दवाएं, ऑक्सीजन आदि उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। इसी क्रम में उन्होंने अपने पैतृक जिला कौशांबी के लिए भी 50 लाख रुपये जारी करने को कहा है, इससे भी जरूरी संसाधन जुटाए जाएंगे।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के साथ संसदीय कार्य, चिकित्सा शिक्षा व वित्त मंत्री सुरेश खन्ना और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने भी अपनी विधायक निधि से एक-एक करोड़ रुपये की धनराशि कोविड महामारी से बचाव में खर्च करने की सहमति दी है। ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने मुख्य विकास अधिकारी मथुरा और संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने सीडीओ शाहजहांपुर को कोविड-19 महामारी से पीडि़तों के उपचार के लिए एक करोड़ रुपये उनकी विधायक निधि से अवमुक्त करने को कहा है।

प्रदेश में सबसे पहले विधि एवं न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक के अपनी विधायक निधि से एक करोड़ रुपये प्रदान करने के बाद अन्य मंत्रियों ने भी इस नेक सिलसिले को आगे बढऩा शुरू कर दिया है। लखनऊ कैंट क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के विधायक सुरेश चंद्र तिवारी ने अपनी विधायक निधि से एक करोड़ रुपया कोविड संक्रमण से राहत दिलाने की सामग्री खरीदने के लिए दी है। उप चुनाव में जीत दर्ज करने वाले तिवारी ने लखनऊ के सीडीओ को विधायक राशि दान करने के लिए पत्र लिखा है। 

लखनऊ उत्तरी विधानसभा क्षेत्र से विधायक नीरज बोरा ने भी विधायक निधि से एक करोड़ रुपया दिया है। कोरोना वायरस संक्रमण की लड़ाई में विधायक बोरा ने विधायक निधि से एक करोड़ की धनराशि दी है। इसमें से उन्होंने महिला अस्पताल, अलीगंज को 75 लाख और नगर निगम को 25 लाख की धनराशि दी है। इस बाबत विधायक नीरज बोरा ने सीडीओ को पत्र लिखा है।

लखनऊ से विधान परिषद स्नातक सदस्य अवनीश कुमार सिंह ने अपनी विधायक निधि से सात जिलों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने की घोषणा करने के साथ ही धनराशि भी आवंटित कर दी है। उन्होंने लखनऊ, रायबरेली, बाराबंकी, सीतापुर, लखीमपुर, हरदोई व प्रतापगढ़ में अपनी विधायक निधि से ऑक्सीजन प्लांट लगवाने के लिए सातों जिलाधिकारी को पत्र लिखा है। इसके साथ ही काम तेजी से करवाने का भी आग्रह किया है। 

बीते वर्ष गत वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण लाकडाउन लगने के बाद विधायकों व मंत्रियों में अपनी क्षेत्र विकास निधि से धनराशि देने की परंपरा शुरू हुई थी। बाद में महामारी से बचाव के लिए अस्पतालों में जरूरी चिकित्सीय व्यवस्थाएं करने के लिए सरकार ने 2020-21 की विधायक निधि निरस्त करने का फैसला लिया था।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.