top menutop menutop menu

Ayodhya Ram Temple News: रामनगरी की तर्ज पर आज रोशन होगी लक्ष्मणनगरी, मनाया जाएगा दीपोत्‍सव

Ayodhya Ram Temple News: रामनगरी की तर्ज पर आज रोशन होगी लक्ष्मणनगरी, मनाया जाएगा दीपोत्‍सव
Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 07:10 AM (IST) Author: Anurag Gupta

लखनऊ, जेएनएन। Ayodhya Ram Temple News: श्रीराम के प्रति आस्था और विश्वास की दास्तां हजारों साल पुरानी है। पांच अगस्त को अयोध्या में होने वाले श्रीराम मंदिर के शिलान्यास को लेकर वहां की तर्ज पर लक्ष्मणनगरी में भी तैयारियां पूरी हो गई हैं। रामनगरी की तर्ज पर लक्ष्मणगरी को रोशन करने को लेकर समितियों की ओर से मंगलवार से ही तैयारियां शुरू हो गई हैं। मंदिर मठ के साथ ही घरों में भी दीपोत्सव का नजारा आम होगा।

जलेंगे रामनामी घी के दीपक

मनकामेश्वर मंदिर-मठ की ओर से आयोजन क क्रम शुरू हो गया है। मंदिर में जहां रोशनी होगी वहीं सोमवार से दीपकों में श्रीराम लिखने का कार्य शुरू हो गया। महंत देव्या गिरि ने बताया कि 500 साल संघर्ष के बाद मंदिर निर्माण का समय आया है। इसके चलते 501 रामनामी दीपक जलाए जाएंगे। श्रीराम मंदिर बनाने के संघर्ष को दीपकों के माध्यम से दिखाया जाएगा। श्रीराम के नाम के साथ 501 घी के दीपक के साथ ही मंदिर परिसर में 24 घंटे का श्रीराम जाप का आयोजन होगा। बुधवार को मंदिर परिसर में हवन यज्ञ के साथ दीपदान होगा।श्रद्धालुओं से भी मंदिर के साथ ही अपने घरों मेें 11 दीपक जलाने की अपील की गई है।

ऐशबाग रामलीला मैंदान में महायज्ञ

ऐशबाग रामलीला मैदान में 500 साल पहले गोस्वामी तुलसी दास ने रामलीला का मंचन शुरू किया था। श्रीराम मंदिर निर्माण में तुलसी अखाड़े की मिट्टी भेजने के बाद अब परिसर में श्रीराम मंदिर शिलान्यास को उत्सव के रूप में मनाने की तैयारी शुरू हो गई है। संयोजक पं.आदित्य द्विवेदी ने बताया कि समिति के अध्यक्ष हरिश्चंद्र अग्रवाल की अध्यक्षता में हुई बैठक में 501 घी के दीपक जलाने अौर पूरे परिसर काे रोशन करने का निर्णय लिया गया है। सोवमार से तैयारियां शुरू हो गई हैं। रामलीला मैदान के आसपास के लोगों को भी घरों में दीपक जलाने की अपील की गई है। बुधवार को हवन पूजन के साथ महायज्ञ होगा।

सुंदरकांड पाठ के साथ मनेगा दीपोत्सव

राजेंद्र नगर द्वितीय मार्ग स्थित महाकाल मंदिर में सुंदरकांड पाठ के साथ मंदिर को सजाने का कार्य शुरू हो गया है। व्यवस्थापक अतुल कुमार मिश्रा ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते श्रद्धालुओं को नहीं बुलाया गया है, लेकिन मंदिर समिति के लोग सुंदरकांड के साथ ही बुधवार को 501 घी के दीपक जलाएंगे। जय श्रीराम के जयकारे के साथ पूरे मंदिर परिसर को सजाने का कार्य शुरू हो गया।

कुड़ियाघर पर दीपदान

श्रीराम मंदिर के शिलान्यास के अवसर पर बुधवार को कुड़ियाघाट पर दीपदान होगा। श्री शुभ संस्कार समिति के महामंत्री ऋद्धि किशोर गौढ़ ने बताया कि शाम को श्रीराम के जयकारे के साथ ही कुड़ियाघाट पर 2020 दीपक जलाकर आदि गंगा गोमती की आरती की जाएगी। कोरोना संक्रमण के चलते लोगों से घरों में ही दीपक जलाने की अपील की गई है।

रोशन होगा बड़ा शिवाला

चौक के एेतिहासिक रानी कटरा के बड़ा शिवाला और चारों धाम मंदिर के श्रीराम दरबार काे दीपकों की रोशनी के साथ ही झालरों से भी सजाया जाएगा। इसके अलावा कोनेश्वर मंदिर, सिद्धनाथ मंदिर, श्रीराम जानकी मंदिर व शास्त्री नगर के दुर्गा मंदिरों में दीपोत्सव होगा। शास्त्रीनगर दुर्गा मंदिर के प्रबंधक राजेंद्र गोयल ने बताया कि मंदिर में श्रीराम के जयकारे के साथ सजावट की जाएगी।

शिव शांति आश्रम में मनेगी दीपावली

जय श्रीराम के जयकारे के साथ संत आसूदाराम शिव शांति आश्रम के पीठाधीश संत साईं चांडू महाराज के सानिध्य में आश्रम की मिट्टी के साथ ही चांदी का कलश श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास महाराज को दिया गया। उप्र सिंधी अकादमी के उपाध्यक्ष नानक चंद लखमानी ने बताया कि 180 साल पहले सिंध प्रांत में स्थापित मिट्टी को लाकर 1977 में आलमबाग के वीआइपी रोड स्थित संत आसूदा राम शिव शांति आश्रम की स्थापना की गई थी। मंगलवार से आश्रम में तैयारियां शुरू हो गई हैं। बुधवार को अाश्रम में दीपाेत्व होगा। झालरों से सजाने के साथ ही आश्रम में दीपदान होगा। 

चौक में बंटेंगे एक लाख दीपक

चौक के ठाकुरद्वारा और बानवाली गली में दीपदान और सुंदरकांड का पाठ मंगलवार से शुरू हो गया। संयोजक अनुराग मिश्रा ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते लोगों को घरों में दीपक जलाने के लिए कहा गया है। एक लाख दीपकों के साथ ही तेल व बाती का वितरण किया जाएगा। मंगलवार से पैकिंग शुरू हो गई है।

चंद्रिका देवी मंदिर में दीपदान

बंगलाबाजार के चंद्रिका देवी मंदिर और श्रीराम जानकी मंदिर में बुधवार को दीपदान होगा। संयोजक रमाशंकर द्विवेदी ने बताया कि बुधवार की शाम को दीपदान के साथ श्रीराम की आरती होगी। 500 साल के संघर्ष के बाद श्रीराम मंदिर का निर्माण होने जा रहा है। सभी काे घरों में दीपक जलाने और कोरोना संक्रमण के चलते मंदिर में न आने की अपील की गई है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.