Ramadan 2021: दारुल इफ्ता फरंगी महल का फतवा, कोरोना वैक्सीन लगवाने से नहीं टूटेगा रोजा

दारुल इफ्ता फरंगी महल के फतवे पर मौलानाओं ने किया हस्ताक्षर।

Ramadan 2021 माह-ए-रमजान के इस पाक महीने में कोराेना सक्रमण के चलते मस्जिदों के बजाय घरों में ही इबादत की तैयारी चल रही है। सुबह नमाज के बाद सहरी और शाम को इफ्तारी भी परिवार के साथ घरों में ही होगी।

Anurag GuptaTue, 13 Apr 2021 06:14 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। कोरोना संक्रमण काल में माह-ए-रमजान की बुधवार को शुरुआत के साथ ही दारुल उलूम इफ्ता फरंगी महल ने फतवा जारी कर माह-ए-रमजान में कोरोना वक्सीन लगाने से रोजा न टूटने की बात कही है। इमाम ईदगाह मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने बताया कि फतवे पर मेरे अलावा मौलाना नसरूल्लाह, मौलाना नईमुर्रहमान सिद्दीकी और मौलाना मुहम्मद मुस्ताक ने हस्ताक्षर किए हैं। मौलाना ने बताया कि भोपाल के अबीदुर्रशीद किदवई ने दारुल इफ्ता से यह सवाल किया था कि कोविड-19 जैसी भयानक बीमारी इस समय अपने चरम पर है।इससे बचाव के लिए वैक्सीन इंजेक्शन के माध्यम से दी जा रही है। इसकी दो खुराक दी जाएगी। पहली खुराक ले चुका हूं और अब दूसरी खुराक रमजान के महीने में लेना है, ऐसे में रोजे के हालात में वैक्सीन ली जा सकती है। इसके सवाल के जवाब के साथ फतवा जारी कर सभी से वैक्सीन लगवाने के लिए कहा गया है। फतवे में कहा गया है कि वैक्सीन इंसानी बदन के रगों में दाखिल होती है, पेट के अंदर नहीं, इसलिए इसे लगवाने पर रोजा नहीं टूटेगा।

इफ्तार और सहरी का समय

सुन्नी-इफ्तार-शाम 6:32 शिया इफ्तार-शाम 6:42 सुन्नी सहरी-सुबह 4:15 शिया सहरी-सुबह 4:08

माह-ए-रमजान बुधवार से : माह-ए-रमजान के इस पाक महीने में कोराेना सक्रमण के चलते मस्जिदों के बजाय घरों में ही इबादत की तैयारी चल रही है। सुबह नमाज के बाद सहरी और शाम को इफ्तारी भी परिवार के साथ घरों में ही होगी। रमजान महीने के पहले दिन बुधवार को दिनभर भूख-प्यास के साथ रोजेदारों ने अल्लाह की इबादत करेंगे मस्जिदों में सीमित संख्या में ही रोजेदारों को आने के लिए कहा गया है। सुबह सहरी से लेकर शाम को इफ्तार के पहले तक लोग घरों में रहेंगे और इबादत में ही पूरा दिन गुजारेंगे। ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली की ओर से फेसबुक पर ऑनलाइन दो पारे की तिलावत प्रसारित की जाएगी।

इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया के फेसबुक एकाउंट पर इसे देखा जा सकता है। शहर-ए-काजी मुफ्ती इरफान मियां ने सभी को घर में ही इबादत करने का आग्रह किया है। इमाम-ए-जुमा मौलाना कल्बे जवाद ने कहाकि रमजान-ए-पाक महीने में घर में ही रहकर कोरोना जैसी बीमारी से निजात दिलाई जा सकती है। शरीरिक दूरी बनाकर अल्लाह की इबादत से ही सबकुछ ठीक हो सकेगा। इदारा-ए-शरैया फरंगी महल के मौलाना अबुल इरफान फरंगी महली ने भी रोजेदारों से शारीरिक दूरी बनाकर इबादत करने की अपील की है।

पूछें सवाल

शिया समुदाय सुबह 10 से मध्याह्न 12 बजे के बीच आयतुल्ला अल उजमा सैयद सादिक हुसैनी शिराजी से हेल्पलाइन नंबर 9839097407, 9415580936 व 9335280700 पर फोन कर सवाल पूछ सकते हैं। सुन्नी समुदाय दोपहर दो से शाम चार बजे के बीच इस्लामिक सेंटर आफ इंडिया के चेयरमैन मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली से हेल्पलाइन नंबर, 9415023970, 9335929670, 9415102947 व 9236064987 पर फोन कर जवाब हासिल कर सकते हैं। इदारा-ए-शरइया फरंगी के शहर- ए-काजी मौलाना इरफान मियां फरंगी महली ने बताया कि रोजेदार हर दिन दोपहर 3:30 बजे से शाम 4:30 बजे के बीच मोबाइल नंबर 93358 41177 और 99181 17798 नंबर पर सवाल पूछ सकते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.