Cyber ​​Economic Fraud Case: ATS ने दिल्ली में पांच ठिकानों पर मारा छापा, 12 संदिग्धों से हो रही पूछताछ

Cyber ​​Economic Fraud Case: साइबर इकोनामिक फ्राड का मामला, 12 संदिग्धों से एटीएस कर रही पूछताछ।

Cyber ​​Economic Fraud Case साइबर इकोनामिक फ्राड का मामला 12 संदिग्धों से एटीएस कर रही पूछताछ। फर्जी दस्तावेजों के जरिये खोले गए थे ऑनलाइन खाते। छापेमारी में फर्जी आइडी पर लिए गए कई सिम व अन्य दस्तावेज बरामद।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 11:34 PM (IST) Author: Divyansh Rastogi

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। Cyber ​​Economic Fraud Case: साइबर इकोनामिक फ्राड के बड़े मामले में आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने संभल, अमरोहा व मुरादाबाद में छापेमारी के बाद शनिवार को दिल्ली के उत्तमनगर क्षेत्र में पांच स्थानों पर छापा मारा। दिल्ली में गिरोह के सरगना की भी तलाश की जा रही है। एटीएस ने छापेमारी में फर्जी आइडी पर लिए गए कई सिम व अन्य दस्तावेज बरामद किए हैं। पूरे मामले में एटीएस यूपी व दिल्ली से करीब 12 संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

एटीएस ने शुक्रवार को संभल, मुरादाबाद व अमरोहा में कई सिम विक्रेताओं के ठिकानों पर छापेमारी की थी। सूत्रों का कहना है कि यहां से फर्जी आइडी पर लिए गए सिम कार्डों के जरिये दिल्ली के कुछ बैंकों में ऑनलाइन खाते खोले गए थे। इन खातों में भेजी गई रकम को कई एटीएम से कार्डलेस ट्रांजेक्शन के माध्यम से निकाले जाने की बात भी सामने आई है। खातों में विदेश से भी रकम भेजी गई है। खातों में रकम कहां-कहां से भेजी गई और उसे निकालकर कहां इस्तेमाल किया गया, एटीएस फिलहाल इसकी गुत्थी सुलझाने में जुटी है। इन खातों में टेरर फंङ्क्षडग व हवाला से जुड़ी रकम को जमा कराए जाने के साथ ही गिरोह के देश विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने की आशंका के चलते एटीएस अपनी छानबीन के कदम तेजी से आगे बढ़ा रही है। इस पूरे नेटवर्क की तह तक पहुंचने के लिए दिल्ली में कुछ संदिग्धों तक पहुंचने का प्रयास चल रहा है।

सूत्रों का कहना है कि गिरोह के सरगना के दिल्ली से ही पूरा नेटवर्क संचालित करने की बात सामने आई है। एटीएस अब तक की छानबीन में जुटाए गए तथ्यों की कडिय़ां जोड़कर आगे बढऩे का प्रयास कर रही है। आइजी एटीएस जीके गोस्वामी का कहना है कि साइबर फ्राड से जुड़े बड़े गिरोह को लेकर छानबीन चल रही है। इस कड़ी में शनिवार को दिल्ली में भी छापेमारी की गई है। संदेह के दायरे में आए कुछ लोगों से पूछताछ की गई है। जल्द पूरे प्रकरण का राजफाश किया जाएगा। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.