top menutop menutop menu

Coronavirus Lucknow News Update: लखनऊ में कोरोना के 50 नए मरीज, अब तक 140 की मौत; आकड़ा 11 हजार पार

Coronavirus Lucknow News Update: लखनऊ में कोरोना के 50 नए मरीज, अब तक 140 की मौत; आकड़ा 11 हजार पार
Publish Date:Sat, 08 Aug 2020 08:11 AM (IST) Author: Divyansh Rastogi

लखनऊ, जेएनएन। Coronavirus Lucknow News Update: उत्तर प्रदेश में कोरोना का प्रकोप जारी है। राजधानी लखनऊ में शनिवार को 50 नए लोगों में वायरस की पुष्टि हुई है। बता दें, बीते दिन कोरोना के रिकॉर्ड केस दर्ज किए गए। शुक्रवार को 707 मरीज नए पाए गए। वहीं, छह की मौत भी हो गई। जिसमें पांच शहर निवासी थे। इससे पहले राजधानी में गुरुवार को सर्वाधिक एक दिन में 664 मरीज पाए गए। वहीं, शुक्रवार को 707 मरीजों में कोरोना निकला। ऐसे में शहर में मरीजों की संख्या 11 हजार पार कर गई। वहीं, शहर में मृतकों की संख्या 140 गई है। 

हालांकि, स्वास्थ्य विभाग ने डेथ ऑडिट कर 13 मरीजों की मौत की पुष्टि की। सरकारी आंकड़ों में अब तक 138 की मौत की पुष्टि की गई। वहीं, 216 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया।

सीतापुर : जिला कुष्ठ अधिकारी कार्यालय के सुपरवाइजर सहित 90 कोरोना पॉजिटिव

जिले में शुक्रवार देर रात को सीएमओ कार्यालय को प्राप्त हुई सैंपलों की जांच रिपोर्ट में जिला कुष्ठ अधिकारी कार्यालय के सुपरवाइजर सहित 90 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। इसमें मेले की सुरक्षा में लगा शहर कोतवाली का कांस्टेबल और तंबौर थाने का बुजुर्ग कर्मी भी शामिल है। वहीं पीएसी 11 बटालियन के कॉन्स्टेबल और पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में पूर्व में पॉजिटिव मिले तीन कांस्टेबल की पत्नियां भी कोरोना से संक्रमित पाई गई हैं। उनके साथ ही पीएसी 2 बटालियन का एक कांस्टेबल और लहरपुर ब्लाक कार्यालय का एक कर्मचारी भी कोरोना से संक्रमित मिला है। इस तरह शनिवार को सामने आए कोरोना के ताजा मामलों में 90 नए केस शामिल हैं।

राजधानी में शुक्रवार को कहांं- कितने केस

कोरोना वायरस का कहर आलमबाग में बरकरार है। यहां 27 लोग वायरस की चपेट में पाए गए हैं। अब तक इलाके में ढाई सौ से ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इसके अलावा नाका में 14, कैंट में 6, रायबरेली रोड के 15, सुशांत गोल्फ सिटी के तीन, चिनहट के 10, गोसाईगंज के चार, आशियाना के 13, महानगर के 18, हजरतगंज में 18, गोसाईगंज में चार, आशियाना में 13, महानगर में 18, गोमती नगर विस्तार में 14, काकोरी में तीन, सरोजिनी नगर में 8, इंदिरा नगर में 13,तालकटोरा में 10, जानकीपुरम में पांच, ठाकुरगंज में 15, विकासनगर में सात, सहादतगंज में पांच, आलमबाग में पांच, कृष्णा नगर में 7, कैसरबाग में 10, बाजार खाला पांच व गोमती नगर 10 लोग संक्रमित मिले है।

यहां हुईं मौतें

मोहान रोड के बुद्धेश्वर कॉलोनी निवासी 68 वर्षीय पुरुष को एक अगस्त को एकेजीएमयू में भर्ती कराया गया था। शुक्रवार को उसकी मौत हो गई। वहीं, शिव कॉलोनी निवासी 40 वर्षीय मरीज की केजीएमयू में मौत हो गई। इंटीग्रल कॉलेज में उदयगंज निवासी 22 साल की महिला की भी मौत हो गई। बालागंज की नेवाजगंज निवासी ओम कुमारी की घर पर मौत हो गई।

 

तीन साइबर ठग निकले कोरोना पॉजिटिव

पेंशन धारकों के खातों से ठगी करने वाले झारखंड से गिरफ्तार नौ में तीन साइबर ठग के कोरोना संक्रमित होने से हजरतगंज थाने में स्थित साइबर सेल के दफ्तर को 24 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। वहीं साइबर क्राइम सेल के एसीपी समेत 14 पुलिस कर्मी क्ववारंटाइन हो गए। इन सबका शनिवार को कोरोना टेस्ट होगा। वहीं थाना परिसर को भी कुछ देर के लिए बंद कर सेनिटाइज कराया जाएगा। साइबर सेल व हजरतगंज पुलिस ने गुरुवार को सभी साइबर ठगों को लखनऊ लेकर आई थी। एसीपी साइबर क्राइम सेल प्रभारी विवेक रंजन राय ने बताया कि नौ में से तीन ठग कोरोना संक्रमित निकले। जिसके आधार पर साइबर क्राइम सेल के दफ्तर को 24 घंटे के लिए बंद किया गया है।

कोरोना पॉजिटिव बंदियों को लेकर भटकते रहे पुलिसकर्मी

कोरोना जांच में पॉजिटिव पाए गए बंदियों को भर्ती कराने के लिए उनके साथ आए पुलिसकर्मी शुक्रवार को दिन भर भटकते रहे। बाद में एंबुलेंस बुलाकर लेवल-1 स्तरीय कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया। हजरतगंज पुलिस आठ बंदियों को कोरोना जांच के लिए सिविल अस्पताल लाई। यहां सभी का एंटीजन टेस्ट हुआ, जिसमें तीन बंदी संक्रमित निकले। डॉक्टरों ने उन्हें कहीं भर्ती कराने की सलाह दी। पुलिसकर्मियों ने उच्च अधिकारियों को सूचना दी। डॉक्टरों के मुताबिक पुलिस दोबारा बंदियों का आरटीपीसीआर टेस्ट कराने पहुंच गई। डॉक्टरों ने कहा कि पॉजिटिव मरीजों को न टहलें, इससे दूसरे लोग भी संक्रमित हो सकते हैं। तब पुलिसकर्मियों ने कहा कि इनका आरटीपीसीआर टेस्ट कराने को कहा गया है। इस पर केजीएमयू के डॉक्टरों ने भी पुलिस को सुझाव दिया कि वह रिपोर्ट करीब 48 घंटे बाद आती है। इसलिए मरीजों को कहीं भर्ती कराएं।

एसीपी हजरतगंज अभय कुमार मिश्र ने बताया कि बंदियों को कोई भटक नहीं रहा था। कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार ही रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें किसी अस्पताल में भर्ती कराने पर बात की जा रही थी। अब एंबुलेंस बुलाकर तीनों कैदियों को एल-1 स्तरीय कोविड अस्पताल में भेज दिया गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.