यूपी में 10 हजार से कम हुए कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज, आज से शुरू होगा टीकाकरण अभियान

यूपी में शनिवार को 31,700 स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना वैक्सीन लगाए जाने के साथ टीकाकरण अभियान शुरू होगा।

यूपी में 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित के 482 नए मरीज मिले जबकि 956 लोग स्वस्थ हुए। अब तक 5.95 लाख लोग कोरोना की चपेट में आए हैैं जिसमें 5.77 लाख रोगी स्वस्थ हो चुके हैं। रिकवरी रेट भी बढ़कर 96.95 फीसद हो गया है।

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 09:07 PM (IST) Author: Umesh Kumar Tiwari

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को कोरोना वायरस से संक्रमित मौजूदा मरीजों का आंकड़ा 10 हजार के नीचे पहुंच गया। अब राज्य में 9,581 कोरोना पेशेंट हैं। इससे पहले पिछले साल आठ जुलाई को इतने मरीज थे। इसके बाद अगस्त और सितंबर में कोरोना संक्रमण में तेजी आई। 17 सितंबर को अब तक के सर्वाधिक 68,235 मरीज थे। इसके बाद से मरीजों के कम होने का सिलसिला लगातार जारी है। वहीं, शनिवार को 31,700 स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना वैक्सीन लगाए जाने के साथ टीकाकरण अभियान शुरू होगा। पहले दिन 317 टीकाकरण केंद्रों पर सौ-सौ लाभार्थियों को टीके लगाए जाएंगे। टीकाकरण सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक चलेगा। 

यूपी में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित के 482 नए मरीज मिले, जबकि 956 लोग स्वस्थ हुए। अब तक 5.95 लाख लोग कोरोना की चपेट में आए हैैं, जिसमें 5.77 लाख रोगी स्वस्थ हो चुके हैं। रिकवरी रेट भी बढ़कर 96.95 फीसद हो गया है। इस बीच शुक्रवार को 15 और मरीजों की मौत के साथ प्रदेश में कोरोना से अब तक कुल 8,558 लोगों की जान जा चुकी है। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि बीते 24 घंटे में 1.21 लाख लोगों की कोरोना जांच की गई। अब तक कुल 2.59 करोड़ लोगों का कोरोना टेस्ट कराया जा चुका है।

317 केंद्रों पर सौ-सौ लाभार्थियों को लगेगी वैक्सीन : शनिवार को 31,700 स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना की वैक्सीन लगाए जाने के साथ टीकाकरण अभियान शुरू होगा। पहले दिन 317 टीकाकरण केंद्रों पर सौ-सौ लाभार्थियों को टीके लगाए जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन के बाद टीकाकरण शुरू किया जाएगा। पहले चरण में प्रदेश में नौ लाख स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए जाएंगे। दूसरे चरण में 18 लाख फ्रंट लाइन वर्करों को टीके लगाए जाएंगे। तीसरे चरण में 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और अंतिम चरण में 50 साल से कम उम्र के उन लोगों को टीके लगेंगे, जो गंभीर रोगों से ग्रस्त हैं। कोरोना वैक्सीन लगाए जाने में आम और खास का कोई फर्क नहीं किया जाएगा। 

यूपी के वैक्सीन की कुल 10.75 लाख डोज मिली : पहले जिन नौ लाख स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए जाएंगे, उनका कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराया गया है। अभी तक प्रदेश को कोरोना वैक्सीन की कुल 10.75 लाख डोज मिल चुकी हैैं। इसमें 10.55 लाख डोज कोविशील्ड की और 20 हजार डोज कोवैक्सीन की हैं। पहले दिन कोविशील्ड व कोवैक्सीन, दोनों लगाई जाएंगी। हर टीकाकरण केंद्र पर पांच कर्मचारी तैनात होंगे। इसमें दो पुलिस कर्मी, एक वैक्सीनेटर, एक सत्यापन करने वाला कर्मी और एक सपोर्ट स्टॉफ होगा। तीन दिन में सभी स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए जाने की तैयारी की गई है। इसके बाद हर सोमवार और शुक्रवार को टीके लगाए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि पहला टीका लगाए जाने के 28वें दिन दूसरा टीका लगाया जाएगा। इसके बाद 14 दिन में वायरस से लडऩे की प्रतिरोधक क्षमता पैदा होगी।

सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में 1,298 कोल्ड चेन प्वाइंट सेंटर : कोरोना वैक्सीन रखने के लिए प्रदेश में बनाए गए 1,298 कोल्ड चेन प्वाइंट पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। सीसीटीवी कैमरे के साथ पुलिस बल भी सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है। कहीं किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी न हो, इसके विशेष इंतजाम किए गए हैं।

वैक्सीन लगने के बाद आधा घंटा निगरानी में रहेंगे लाभार्थी : कोरोना टीकाकरण केंद्रों पर तीन कमरे बनाए गए हैं। पहले कमरे में लाभार्थियों का सत्यापन होगा, दूसरे कमरे में वैक्सीन लगाई जाएगी और तीसरे निगरानी कक्ष में लाभार्थी को आधे घंटे आब्जर्वेशन में रखा जाएगा। यदि किसी को कोई दुष्प्रभाव होता है तो उससे बचाने के लिए एनाफाइलेक्सिस किट मौजूद रहेगी।

टीकाकरण की जानकारी के लिए यहां करें संपर्क : कोरोना टीकाकरण से संबंधित जानकारी के लिए राज्य हेल्प लाइन नंबर 104 या राष्ट्रीय हेल्प लाइन नंबर 1075 पर संपर्क किया जा सकेगा। इन दोनों नंबर पर संपूर्ण जानकारी मिलेगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.