Corona Curfew Extended in UP: उत्तर प्रदेश में 24 मई तक बढ़ाया गया कोरोना कर्फ्यू, मंत्रिपरिषद की बैठक में फैसला

अधिकांश मंत्रियों की राय कोरोना कर्फ्यू को 24 मई सुबह सात बजे तक आगे बढ़ाने की है

Corona Curfew Extension in UP बैठक में प्रदेश में कोरोना वायरस प्रबंधन पर योजना बनाने के साथ ही कोरोना कर्फ्यू को एक हफ्ते तक आगे बढ़ाने को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंत्रियों से राय उत्तर प्रदेश में 24 मई तक बढ़ाया गया कोरोना कर्फ्यू मंत्रिपरिषद की बैठक में फैसला

Dharmendra PandeySat, 15 May 2021 02:52 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के सेकेंड स्ट्रेन पर कोरोना कर्फ्यू के दौरान काफी प्रभावी असर होने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंत्रिमंडल के सदस्यों के साथ बैठक के बाद इनको और बढ़ाने का निर्णय लिया है। उत्तर प्रदेश में अब 24 मई की सुबह सात बजे तक कोरोना कर्फ्यू लागू रहेगा। नियम तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। आवश्यक सेवाओं को छूट मिलती रहेगी। मुख्यमंत्री ने यह निर्णय सभी मंत्रियों के साथ वर्चुअल बैठक में लिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पर सम्पूर्ण मंत्रिमंडल की बैठक में कैबिनेट मंत्री के साथ राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार तथा राज्य मंत्री भी शामिल थे। इसमें निर्णय लिया गया कि उत्तर प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू को 24 मई तक बढ़ाया जाए। एक हफ्ते तक इसको बढ़ाया गया है। इसके साथ ही सरकार ने सभी पंजीकृत पटरी दुकानदारों को आर्थिक सहायता के रूप में 1000 रूपया देने का भी निर्णय लिया गया। इन सभी को प्रदेश सरकार तीन महीने का राशन भी देगी। सरकार ने कोरोना कर्फ्यू के मद्देनजर रेहड़ी, ठेला, खोमचे वालों को एक हजार रुपये भरण-पोषण भत्ता देने का भी फैसला लिया है। कैबिनेट मीटिंग में यूपी ऑक्सीजन उत्पादन प्रोत्साहन योजना 2021 को भी मंजूरी दी गई है।

कसा निजी अस्पतालों पर शिकंजा: इसके साथ ही प्रदेश सरकार ने सभी कोविड संक्रमितों का उत्पीडऩ रोकने के लिए बड़ा फैसला लिया है। इसके तहत संक्रमितों से अधिक वसूली करने वालों अस्पतालों को तीन वर्ष तक के लिए सील कर दिया जाएगा। अगर किसी से भी शिकायत मिली कि किसी प्राइवेट अस्पताल ने निर्धारित दर से अधिक वसूली की तो अस्पतालों का लाइसेंस भी निरस्त होगा। 

योगी आदित्यनाथ मंत्रिमंडल बैठक में गरीबों को एक हजार रुपया महीना भत्ता तथा मुफ्त में राशन देने के साथ ही 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को नि:शुल्क वैक्सीन लगवाने पर मुहर लगी। इसके साथ ही संक्रमण बढऩे के दौरान कम्युनिटी किचन का संचालन भी होगा।

20 मई से ऑनलाइन कक्षाएं शुरू किए जाने का फैसला: मंत्रिमंडल की बैठक में विश्वविद्यालयों, डिग्री कॉलेजों और स्कूलों में 20 मई से ऑनलाइन कक्षाएं शुरू किए जाने का फैसला किया गया है। उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने बताया कि ऑनलाइन कक्षाएं चलाने के लिए उच्च शिक्षण संस्थान व माध्यमिक स्कूल ऐसे विद्यार्थी जिनके परिवार के सदस्य संक्रमित हैं या फिर वह खुद संक्रमित हैं उन्हें कक्षाएं पढ़ने के लिए बाध्य नहीं करेंगे। वही ऐसे शिक्षक जिनके परिवार के लोग या फिर वह खुद संक्रमित हैं उन पर कक्षाएं पढ़ाने के लिए दबाव नहीं बनाएंगे। संक्रमित परिवारों का ध्यान रखते हुए 20 मई से माध्यमिक व उच्च शिक्षा विभाग में ऑनलाइन शिक्षण पर भी विचार किया जाएगा। सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश दिए जा रहे हैं कि वह ऑनलाइन कक्षाओं की निगरानी करें और जोर जबरदस्ती होने पर स्कूल के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। वही कुलपति, जिला अधिकारी और जिला विद्यालय निरीक्षक जिले में कोरोना की स्थिति का आंकलन करेंगे व ऑनलाइन कक्षाएं चलाने की अनुमति देंगे।

उत्तर प्रदेश में 30 अप्रैल से कोरोना कर्फ्यू लागू किया गया है। इसके बाद इसे तीन मई तक लागू रहना था। इसको बढ़ाकर 6 मई और विस्तार देते हुए 10 मई तक कर दिया गया था। इस दौरान अच्छे परिणाम मिलने पर बढ़ाकर 17 और फिर 24 मई तक किया गया है।

कोरोना वायरस संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण करने के लिए प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू  को आगे बढ़ाने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंत्रिपरिषद की बैठक में निर्णय लिया गया। इसी बैठक में कोरोना कर्फ्यू को 17 मई से आगे बढ़ाने पर मुहर लगी। अधिकांश मंत्रियों की राय कोरोना कर्फ्यू  को 24 मई सुबह सात बजे तक आगे बढ़ाने की थी। बैठक में प्रदेश में कोरोना वायरस प्रबंधन पर योजना बनाने के साथ ही कोरोना कर्फ्यू  को एक हफ्ते तक आगे बढ़ाने को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्रियों से राय ली। इस बैठक के बाद आने वाले निर्णय पर सर्वसम्मति से फैसला लिया गया। माना जा रहा था प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू  को 24 मई सुबह सात बजे तक बढ़ाया जाएगा। अभी कोरोना कर्फ्यू  17 मई की सुबह 7:00 बजे तक है।

सीएम योगी आदित्यनाथ का कल पश्चिमी उत्तर प्रदेश का दौरा: सीएम योगी आदित्यनाथ रविवार को मेरठ, गाजियाबाद और गौतमबुद्धनगर में कोरोना वायरस के प्रभाव की समीक्षा करने के साथ ही इंटीग्रेटेड कोविड कमांड कंट्रोल रूम का निरीक्षण करेंगे। मेरठ में बीते चार दिन से कोरोना वायरस संक्रमण से तेजी पकड़ी है। इसके साथ ही गाजियाबाद और गौतमबुद्धनगर में कोरोना वायरस संक्रमण से मौत के मामले काफी बढ़ रहे हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ दिन में 12 बजे लखनऊ से चलकर दो बजे के करीब मेरठ पहुंचेंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ वहां पर कोरोना वायरस संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण के लिए तैयारियों व व्यवस्था का निरीक्षण करने के बाद अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करेंगे। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.