Protest Against Kisan Bill in UP: किसान बिलों के खिलाफ कांग्रेस का जोरदार प्रदर्शन, अजय कुमार लल्लू सहित सैकड़ों हिरासत में

जगह जगह से कांग्रेस नेता हिरासत में, कई घरों में नज़रबंद।
Publish Date:Mon, 28 Sep 2020 01:04 PM (IST) Author: Anurag Gupta

लखनऊ, जेएनएन। Protest Against Kisan Bill in UP : संसद में हाल ही पारित किए गए किसान बिलों के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस के आह्वान पर सोमवार को राजधानी में जगह जगह पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। परिवर्तन चौक से राजभवन तक जीपीओ होते हुए हजारों कांग्रेस जमा होने की फिराक में थे मगर पुलिस ने सख्ती कर के उनको हजरतगंज के बाहर ही पकड़ कर कांशीराम ईको गार्डेन भेज दिया गया। 

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू भी इनमें शामिल रहे। लल्लू ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार दमनकारी नीति अपना रही है। लल्लू ने दावा किया करीब पांच हजार नेताओं और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

दोपहर करीब 12 बजे कुछ कांग्रेसी परिवर्तन चौक के पास पहुंचे। जिनमें सेवादल के कार्यकर्ता थे। उनको पुलिस ने तत्काल हिरासत में लिया। ये सिलसिला दोपहर करीब दो बजे तक चलता रहा और अध्यक्ष लल्लू को भी पुलिस ने डिटेन किया। ईको गार्डेन में अजय कुमार लल्लू ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि प्रदेश में अराजकता का विरोध किया था। लल्लू ने कहा कि सरकार ने दमनकारी नीति अपनाई है। हमारा संघर्ष जारी रहेगा। 

उन्होंने कहा कि हमारे कार्यकर्ताओं को घरों से हिरासत में लेकर नजरबंद कर दिया गया। जिलों से भी ऐसे ही समाचार सामने आ रहे हैं। मगर कांग्रेस कार्यकर्ता अडिग हैं। वे किसानों के खिलाफ लाए गए काले कानूनों का विरोध करते रहें। महानगर कांग्रेस अध्यक्ष मुकेश सिंह चौहान ने बताया कि उनको घर से ही पुलिस दबोचना चाह रही थी मगर वे छत से कूद कर भाग गए। वे प्रदर्शन में शामिल हुए। कांग्रेस नेता आशीष अवस्थी के अलावा जिले और महानगर के सभी प्रमुख नेता प्रदर्शन में शामिल हुए।

हरदोई में कांग्रेसियों को पुलिस ने रोका 

हरदोईः केंद्र सरकार के विरोध में लखनऊ धरना प्रदर्शन में शामिल होने जा रहे कांग्रेसियों को पुलिस ने रोका। सुबह से ही शुरू हुई धरपकड़। कई कांग्रेसी पुलिस को चमका देकर निकले। किसान अध्यादेश के विरोध में कांग्रेसियों ने 28 सितंबर को लखनऊ में धरना प्रदर्शन का ऐलान किया था। जिन्हें रोकने के लिए सुबह से ही फोर्स सतर्क हो गई। घरों से ही कांग्रेसियों उठा लिया गया। वहीं पूर्व जिलाध्यक्ष राजीव सिंह को लखनऊ चुंगी पर पुलिस ने रोका। सभी को पुलिस लाइन ले जाया गया। जबकि जिलाध्यक्ष आशीष सिंह अपने साथियों समेत गायब हो गए उन्हें पुलिस खोजती रही। कांग्रेसियों का कहा है कि जिलाध्यक्ष लखनऊ पहुंच गए।

रायबरेली में कांग्रेस‍ियों को पुलिस रोका

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर सोमवार को लखनऊ में किसान विरोधी कानून का विरोध करने जा रहे कांग्रेसियों को पुलिस ने उनके घरों में ही कैद कर दिया। जिले में कई स्थानों पर कांग्रेस नेताओं-कार्यकर्ताओं को रोका-टोका गया। पार्टी के कोषाध्यक्ष अशोक कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस ने रात में पहुंचकर मुख्य द्वार पर ताला जड़ दिया और घर से बाहर निकलने पर पूरी तरह से पाबंदी लगाते हुए घर के मुख्य द्वार पर पुलिस का पहरा लगा दिया गया। कांग्रेस द्वारा आमजन के मुद्दों को लेकर सदैव संघर्ष करती रही है। जिसकी आवाज को दबाने के लिए प्रदेश सरकार दमनकारी नीति पर उतर आई‌ है। पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष संदीप चौधरी ने कहा कि  किसान विरोधी बिल को सरकार जबरन किसानों पर थोप रही है। जिसका विरोध कांग्रेस पार्टी लोकतांत्रिक ढंग से कर रहीं हैं, लेकिन सरकार की नींदें उडी हुई हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.