Mission UP 2022 : किसने बिगाड़ा यूपी कैंपेन के लिए 70 हजार कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग देगी कांग्रेस

विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस प्रदेश में पार्टी के जिला और ब्लाक अध्यक्षों की ट्रेनिंगग पूरी करने के बाद अब न्याय पंचायत समितियों वार्ड और ग्राम पंचायत समितियों के अध्यक्षों को चुनावी जंग जीतने के गुर सिखाने के लिए प्रशिक्षित करेगी।

Vikas MishraThu, 05 Aug 2021 12:29 PM (IST)
तीन दशकों के दौरान चुनावों में कांग्रेस बूथ मैनेजमेंट के मोर्चे पर मात खाती रही है।

लखनऊ, राज्य ब्यूरो। विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस प्रदेश में पार्टी के जिला और ब्लाक अध्यक्षों की ट्रेनिंगग पूरी करने के बाद अब न्याय पंचायत समितियों, वार्ड और ग्राम पंचायत समितियों के अध्यक्षों को चुनावी जंग जीतने के गुर सिखाने के लिए प्रशिक्षित करेगी। पार्टी का इरादा 70 हजार कार्यकर्ता को चुनावी समर के लिए तैयार करना है। प्रशिक्षण हासिल करने वाले इन 'योद्धाओं' को कांग्रेस यह समझाएगी कि पिछले 30 वर्षों में उप्र की दुर्दशा के लिए कौन जिम्मेदार है।

तीन दशकों के दौरान चुनावों में कांग्रेस बूथ मैनेजमेंट के मोर्चे पर मात खाती रही है। वहीं हाल के वर्षों में चुनाव में इंटरनेट मीडिया के बढ़ते दखल ने भी पार्टी को इस दिशा में गंभीरता से कदम बढ़ाने के लिए मजबूर किया है। कांग्रेस के प्रदेश संगठन सचिव अनिल यादव के मुताबिक पार्टी इसके लिए प्रदेश में 675 प्रशिक्षण शिविर आयोजित करेगी। कांग्रेस विधानसभा चुनाव के मद्देनजर 300 विधानसभा क्षेत्रों पर नजरें गड़ाए है। लिहाजा 300 प्रशिक्षण शिविर इन 300 विधानसभा क्षेत्रों में आयोजित किये जाएंगे। 300 प्रशिक्षण शिविर प्रदेश के 300 ब्लाक में आयोजित किये जाएंगे जबकि 75 शिविर सूबे के 75 जिलों में होंगे। प्रशिक्षण शिविर में बूथ मैनेजमेंट और चुनाव में इंटरनेट मीडिया के इस्तेमाल पर खास फोकस होगा।

प्रशिक्षण शिविर में 'किसने बिगाड़ा उप्र' नामक विशेष सत्र होगा। इस सत्र में तीन दशकों में उप्र के हालात के लिए भाजपा, सपा और बसपा के शासनकाल को कठघरे में खड़ा कर पार्टी कार्यकर्ताओं को जनता के बीच इन तीनों दलों के खिलाफ माहौल बनाने के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी। छत्तीसगढ़ से मास्टर ट्रेनर की ट्रेनिंग हासिल करने गए पार्टी के कार्यकर्ता लौट कर इन प्रशिक्षण शिविरों में ट्रेनिंग देंगे। प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन अगस्त के दूसरे या तीसरे सप्ताह में शुरू करने की मंशा है। 

गौरतलब है कि कांग्रेस ने अपने 100 कार्यकर्ताओं को छत्तीसगढ़ की राजधानी में मास्टर ट्रेनर की ट्रेनिंग हासिल करने के लिए भेजा है। पांच दिवसीय इस ट्रेनिंग में बूथ मैनेजमेंट और इंटरनेट मीडिया के इस्तेमाल पर खास फोकस है। बुधवार को कांग्रेस महासचिव और प्रदेश प्रभारी प्रियंका वाड्रा ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये रायपुर में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे उप्र के कार्यकर्ताओं से संवाद किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.