Ayodhya Ram Mandir Land: जमीन की जांच को लेकर कांग्रेस का प्रदर्शन, लखनऊ में कई गिरफ्तार

कांग्रेस नेताओं का कहना है की पुलिस बल ने धक्का-मुक्की करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को जबरन उठा कर-उठा कर बस में भरने लगे जिस कारण राष्ट्रपति को जो ज्ञापन जाना था वो सौंपा नहीं जा सका और संवैधानिक अधिकारों का हनन कर दिया गया।

Anurag GuptaThu, 17 Jun 2021 02:58 PM (IST)
कांग्रेस की मांग थी कि जमीन खरीदने में भस्टाचार हुआ है जिसकी जांच सीबीआई से कराया जाय।

लखनऊ, जेएनएन। अयोध्या में राम मंदिर जमीन प्रकरण की जांच को लेकर आज जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव करने जा रहे कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। कांग्रेस की मांग थी कि जमीन खरीदने में भस्टाचार हुआ है जिसकी जांच सीबीआई से कराया जाय।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट द्वारा कथित जमीन खरीद घोटाला प्रकरण के विरोध में महानगर अध्यक्ष (उत्तरी) अजय श्रीवास्तव अज्जू एवं महानगर अध्यक्ष (दक्षिणी) दिलप्रीत सिंह डीपी द्वारा सैकड़ों कांग्रेस पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं सहित जिलाधिकारी कार्यालय पर शांतिपूर्वक जिलाधिकारी लखनऊ के माध्यम से राष्ट्रपति महोदय को एक ज्ञापन देने जा रहे थे तभी भारी पुलिस-बल लगा दिया गया, वाटर-कैनन लगा दिया गया, और उनको आगे नहीं जाने दिया गया तब दोनों अध्यक्ष अपने सैकड़ो साथियों सहित स्वास्थ भवन चौराहे वाली रोड पर धरने पर बैठ गए। इस दौरान जिलाधिकारी को बुलाने का निवेदन किया लेकिन वह नही आये। कांग्रेस नेताओं का कहना है की पुलिस बल ने धक्का-मुक्की करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को जबरन उठा कर-उठा कर बस में भरने लगे जिस कारण राष्ट्रपति को जो ज्ञापन जाना था वो सौंपा नहीं जा सका और संवैधानिक अधिकारों का हनन कर दिया गया।

गिरफ्तारी से पहले दोनों अध्यक्ष ने संयुक्त रुप से कहा कि पूरे देश के लोगों की भगवान श्री राम में आस्था है, वें न्याय, धर्म के प्रतीक हैं। इसलिए देश के लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ नहीं होने देंगे। प्रदेश सरकार द्वारा जिस तरह घोटाले उजागर करने वालों की आवाज दबायी जा रही उससे यह प्रतीत होता है कि सरकार की देखरेख में यह जमीन घोटाला हुआ हैं। श्रीराम मंदिर ट्रस्ट में कुछ चंदा चोर सम्मिलित हो गए हैं, जिन्होंने चंदे के रकम से करोड़ों रुपए वारे-न्यारे कर दिए। जिसप्रकार यह प्रकरण सामने आया हैं, उसमें अभी कुछ और पर्तें भी खुलना बाकी हैं। दोनो अध्यक्षों ने कहा कि कांग्रेस पार्टी राष्ट्रपति महोदय से ये मांग करती है कि अति शीघ्र न्यायाधीश महोदय की निगरानी में उक्त प्रकरण की जांच कराई जाए तथा जल्द से जल्द घोटाले बाजों को बाहर का रास्ता दिखा कर भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण का रास्ता प्रशस्त किया जाए।

इस मौके पर शहर काँग्रेस कमेटी लखनऊ के पदाधिकारी राजेन्द्र पांडेय, रइस अहमद, जमशेद रहमान, आचार्य मनोज पाण्डेय, संजय श्रीवास्तव, हसन अब्बास, श्री विकास सक्सेना, अशोक सोनकर, श्री सतीश शर्मा, आजीत कुमार, अशोक उपाध्याय, विपुल यादव, श्री सच्चिदानंद नाथ, मो० इशाक. उत्कर्ष द्विवेदी, श्री अंकित सक्सेना, श्री अनीस, श्री अमित यादव, श्री ओमप्रकाश कनौजिया, डॉ शहजाद आलम, श्रीमती शिप्रा अवस्थी, श्री अमित सहित सैकड़ों कांग्रेसजन ने भी गिरफ्तारी दी। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.