यूपी में फॉस्टैग लगे कामर्शियल वाहनों को RFID से लिंक करना जरूरी, इस वेबसाइट पर म‍िलेगा फार्म

विभाग ने जारी की वेबसाइट और लिंक।

अभी सैकड़ों कॉमर्शियल वाहन ऐसे है जिनमें आरएफआईडी नहीं लगी है। ऐसे कमर्शियल वाहनों में आरएफआईडी ( रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन डिवाइस ) टैग तत्काल लगवा लें। आपरेटर से इस संबंध में किसी भी तरह का जुर्माना नहीं लिया जाएगा।

Anurag GuptaWed, 24 Feb 2021 06:40 AM (IST)

लखनऊ, [नीरज मिश्र]। जिन कमर्शियल वाहनों में फॉस्टैग लगा है अब उन्हें आरएफआईडी (रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन डिवाइस) से लिंक करना अनिवार्य होगा। फॉस्टैग लगे वाहनों को रोका नहीं जाएगा लेकिन उन्हें आरएफआईडी से इंटीग्रेट कराया जाना जरूरी होगा। वाणिज्यकर विभाग ने वेबसाइट में इसके लिए विशेष सुविधा उपलब्ध कराई है। इसमें कमर्शियल वाहन स्वामी को गाड़ी संबंधित अपना पूरा ब्योरा अपडेट करना होगा। आपरेटर से इस संबंध में किसी भी तरह का जुर्माना नहीं लिया जाएगा।

वाहनस्वामी ऐसे कर सकतें हैं लिंक

वाणिज्यकर विभाग ने विभागीय वेबसाइट comtax.up.nic.in पर जाकर होम पेज खोला जाएगा। इसके बाद होम पेज के संबंधित टैब Link Fast Tag Entry (Form) पर क्लिक कर संबंधित वाहन नंबर समेत उसका पूरा विवरण भरकर उसे सब्मिट करना होगा।

कॉमर्शियल वाहनों पर आरएफआईडी टैग नहीं है तो इसे तत्काल लगवाएं

अभी सैकड़ों कॉमर्शियल वाहन ऐसे है जिनमें आरएफआईडी नहीं लगी है। ऐसे कमर्शियल वाहनों में आरएफआईडी (रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन डिवाइस) टैग तत्काल लगवा लें। इस संबंध में अपर मुख्य सचिव के निर्देश पर वाणिज्यकर आयुक्त अमृता सोनी ने पहले ही आदेश जारी किए हैं। इसे न लगवाने पर वाहन स्वामी को 2,000 से लेकर 20,000 तक का अर्थदंड देना पड़ेगा।

300 वाहनों पर कार्रवाई, 17 लाख रुपये की हो चुकी है अर्थदंड वसूली

अभी तक लखनऊ संभाग में करीब 300 वाहनों पर टैग न लगे होने पर कार्रवाई की जा चुकी है। इनके वाहन स्वामियों से 17 लाख से अधिक का अर्थदंड वसूला जा चुका है। अब तक 17,000 से अधिक वाहनों में आरएफआईडी टैग लगवाया जा चुका है।

आरएफआईडी को लेकर आए दिक्कत तो यहां से लें मदद

ट्रांसपोर्टरों एवं वाहनस्वामियों को अगर आरएफआईडी टैग लगवाने में किसी भी तरह की दिक्कत आ रही है तो अधिकृत आरएस चौहान मोबाइल नंबर-9634196816 पर संपर्क कर सकते हैं। वहीं टैग के लिए सचल दल इकाई-1 के वाणिज्यकर अधिकारी मारकंडेय तिवारी मोबाइल नंबर 7235003735 एवं सचल दल इकाई-4 के वाणिज्यकर अधिकारी कपिल तिवारी मोबाइल नंबर-7235003065 पर संपर्क कर दिक्कत बता हल निकाल सकते हैं।

'फॉस्टैग लगे कमर्शियल वाहनों को अब आरएफआईडी से लिंक करना जरूरी होगा। इस पर किसी तरह का जुर्माना नहीं है। वेबसाइट जारी कर दी गई है। साथ ही विभिन्न ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन को इस आशय के निर्देश भेज दिए गए हैं।'   -बृजेश कुमार त्रिपाठी, एडिशनल कमिश्नर ग्रेड-2 वाणिज्यकर 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.