विश्व दिव्यांग दिवस पर कल सीएम योगी राज्य के 16 प्रतिभाशाली दिव्यांगों को देंगे पुरस्कार

विश्व दिव्यांग दिवस पर शुक्रवार को सीएम योगी 16 प्रतिभाशाली दिव्यांगों को सम्मानित करेंगे। इससे यह संदेश दिया जाएगा कि दिव्यांगता कोई अभिशाप नहीं है बल्कि ऊपर वाले का वरदान है। दिव्यांगता को भूलकर आगे बढऩे का जज्बा ही आपको समाज में अलग खड़ा करता है।

Dharmendra MishraThu, 02 Dec 2021 11:00 AM (IST)
विश्व दिव्यांग दिवस पर सीएम योगी 16 दिव्यांगों को देंगे पुरस्कार।

लखनऊ, जितेंद्र उपाध्याय। दिव्यांगता कोई अभिशाप नहीं है बल्कि ऊपर वाले का वरदान है। दिव्यांगता को भूलकर आगे बढऩे का जज्बा ही आपको समाज में अलग खड़ा करता है। जब तक आपकी सोच और विचार नहीं बदलेंगे तब तक आप दिव्यांगता की भंवर से निकल नहीं सकते। ऐसे में सार्थक पहल ही आपको वह सबकुछ देता है जिसकी कल्पना आप नहीं कर सकते हैं।

मंजिल उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है, पंख से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है...इन पंक्तियों को जीवन में उतारने वाले ऐसे ही दिव्यांगों को तीन दिसंबर को विश्व विकलांग दिवस पर प्रदेश सरकार की ओर से पुरस्कृत किया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मोहान रोड स्थित डा.शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय में लखनऊ के दो समेत प्रदेश के 16 दिव्यांगों को पुरस्कृत करेंगे।

इसलिए मनाया जाता है विश्व दिव्यांग दिवसः दिव्यांगों को समाज की मुख्यधारा में लाने के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ की 1992 में हुई आम बैठक में तीन दिसंबर को विश्व दिव्यांग दिवस मनाने का निर्णय लिया गया। डा.शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय के कुलसचिव अमित कुमार सिंह ने बताया कि दिव्यांगता के बावजूद उत्कृष्ट कार्य करने वालों का हौसला बढ़ाने के लिए यह तीन दिसंबर को हर वर्ष पुरस्कार दिया जाता है। इस क्षेत्र में कार्य करने वाले लोगों को भी पुरस्कृत करने का भी प्रावधान है।

बदायूं के अजय कुमार को सर्वश्रेष्ठ दिव्यांग कर्मचारी का पुरस्कारः

लखनऊ के श्रवण बाधित नंद कुमार अवस्थी को सर्वश्रेष्ठ सृजनशील दिव्यांग का पुरस्कार मिलेगा तो लखनऊ के जानकीपुरम निवासी शगुन सिंह को दिव्यांगों के सशक्तीकरण के लिए पुरस्कृत किया जाएगा। बदायूं के अजय कुमार, महाराजगंज के राजेंद्र कुमार और इटावा की नीतू द्विवेदी को सर्वश्रेष्ठ कर्मचारी का पुरस्कार दिया जाएगा।

वाराणसी के कैफेबिलिटी फाउंडेशन को सर्वश्रेष्ठ नियोक्ता का पुरस्कार मिलेगा। गोरखपुर की इरफाना और वाराणसी के सी तुलसी दास को दिव्यांगों के लिए कार्य करने वाले सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति का पुरस्कार मिलेगा। सोनभद्र के लव कुमार, सिद्धार्थनगर की रति मिश्रा को उत्कृष्ट दिव्यांगता का पुरस्कार मिलेगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.