सीएम योगी आदित्यनाथ की अपील- कोविड प्रोटोकाल के साथ घर से ही मनाया जाए अंतरराष्ट्रीय योग दिवस

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि 21 जून को मनाए जाने वाले सातवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस में सहभागिता तो बढ़े लेकिन घर में रहकर परिवार के साथ इसका आयोजन कोविड प्रोटोकाल व शारीरिक दूरी के पालन के साथ किया जाए।

Umesh TiwariWed, 16 Jun 2021 07:30 AM (IST)
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने योग दिवस की तैयारियों की समीक्षा की।

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस में अधिक से अधिक जनभागीदारी के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रयास शुरू कर दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि 21 जून को मनाए जाने वाले सातवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस में सहभागिता तो बढ़े, लेकिन घर में रहकर परिवार के साथ इसका आयोजन कोविड प्रोटोकाल व शारीरिक दूरी के पालन के साथ किया जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को अपने सरकारी आवास पर योग दिवस की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने योग के प्रति प्रदेशवासियों में जागरूकता और स्वास्थ्य लाभ का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित प्रतियोगिताओं का आयोजन और विजेताओं का चयन पूरी तरह मानकों के अनुसार किया जाए।

इस दौरान आयुष विभाग ने एक प्रस्तुतीकरण किया। इसमें बताया कि योग दिवस पर आयुष मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा सुबह 6:30 बजे से दूरदर्शन पर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम का प्रसारण होगा। सुबह 6:40 से सात बजे तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन होगा। इसके बाद सुबह सात से 7:45 बजे तक सामान्य योग प्रोटोकाल का प्रसारण होगा। 7:45 बजे से राज्यस्तरीय कार्यक्रमों और शाम 6:30 से 7:30 बजे तक योग विशेषज्ञों के सम्मेलन का प्रसारण किया जाएगा।

इसके साथ ही बताया कि कामन योग प्रोटोकाल के अनुसार मुख्यमंत्री का एक वीडियो सूचना विभाग द्वारा तैयार कराकर उसका सजीव प्रसारण राज्य के आधिकारिक फेसबुक, ट्विटर और उत्तर प्रदेश आयुष विभाग के आधिकारिक फेसबुक, ट्विटर व यूट्यूब चैनल पर किया जाएगा। आयुष कवच एप पर भी इसका प्रसारण कराया जाएगा। आयुष विभाग के अधिकारियों ने बताया कि योग दिवस चैलेंज के तहत योग वीडियो प्रतियोगिता, योग कला प्रतियोगिता और योग क्विज प्रतियोगिता का आयोजन होगा।

योग वीडियो प्रतियोगिता के तहत राज्य व जिला स्तर पर प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार दिए जाएंगे। महिला, पुरुष और योग पेशेवर की तीन पुरस्कार श्रेणियां होंगी। प्रत्येक श्रेणी में पांच से 18 वर्ष के बच्चे, 18 से 40 वर्ष के युवा, 40 से 60 वर्ष के वयस्क और 60 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिक शामिल हो सकेंगे। राज्य स्तर पर हर श्रेणी के प्रत्येक वर्ग में कम से कम 500 और जिला स्तर पर 50 प्रतिभागियों का पंजीकरण कराना आवश्यक है।

योग कला प्रतियोगिता के तहत योग और भारतीय सांस्कृतिक विरासत पर एक पेंटिंग, पोस्टर या स्केच बनाकर आनलाइन जमा करना होगा। सर्वश्रेष्ठ रचनात्मक कला को नकद पुरस्कार मिलेगा। चयनित कलाकृति को सार्वजनिक पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा। इसी तरह योग क्विज प्रतियोगिता आनलाइन आयोजित की जाएगी। प्रतिभागियों को 50 वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के उत्तर देने के लिए 30 मिनट का समय दिया जाएगा। विजेताओं को प्रशस्ति-पत्र और नकद पुरस्कार मिलेगा।

प्रतियोगिता योग, पर्यावरण और वर्तमान परिवेश में रोगों के उपचार में घरेलू औषधियों के उपयोग पर आधारित होगी। बैठक में आयुष राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धर्म सिंह सैनी, मुख्य सचिव आरके तिवारी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव आयुष प्रशांत त्रिवेदी, प्रमुख सचिव लोक निर्माण नितिन रमेश गोकर्ण सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.