यूपी फिल्म सिटी को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने तय किया लक्ष्य, वर्ष 2022 में बनने लगेंगी फिल्में

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट कहा कि फिल्म सिटी में 2022 तक फिल्मों की शूटिंग शुरू हो जानी चाहिए।

Uttar Pradesh Film City सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में फिल्म सिटी के विकास के लिए सभी जरूरी संसाधन हैं। यीडा क्षेत्र में एक हजार एकड़ में विकसित होने जा रही इस फिल्म सिटी में फिल्म टीवी ओटीटी निर्माण से जुड़े सभी आयामों का पूरा समावेश होना चाहिए।

Umesh TiwariMon, 01 Mar 2021 11:19 PM (IST)

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। Uttar Pradesh Film City: अब तक सिर्फ घोषणाओं के ट्रेलर तक सिमटी रही यूपी फिल्म सिटी को जमीन पर उतारकर अपने प्रोजेक्ट को 'रिलीज' करने का समय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तय कर दिया है। उन्होंने स्पष्ट कहा कि गौतमबुद्धनगर (नोएडा) में बन रही फिल्म सिटी में 2022 तक फिल्मों की शूटिंग शुरू हो जानी चाहिए। सरकार का जोर शूटिंग के साथ ही कलाकार भी तैयार करने पर है, ताकि युवा अपने सपनों को सच कर सकें।

यूपी फिल्म सिटी की विस्तृत कार्ययोजना विश्वस्तरीय कंसल्टेंट सीबीआरई ने बनाई। इसका प्रस्तुतीकरण सोमवार को यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पर किया। मुख्य कार्यपालक अधिकारी अरुणवीर सिंह ने फिल्म सिटी की ड्रॉफ्ट फीजिबिलिटी स्टडी के विषय में विस्तार से बताया। मीडिया एंड एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के वर्तमान स्वरूप, फिल्म निर्माण, डिस्ट्रीब्यूशन व मार्केटिंग, एग्जीबिशन इत्यादि के विषय रखे। साथ ही स्टूडियो संचालक, अभिनेता, विज्ञापन एजेंसियों, फिल्म संघों, प्रशिक्षण संस्थानों आदि के प्रतिनिधियों की अपेक्षाओं से भी अवगत कराया।

इस पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में फिल्म सिटी के विकास के लिए सभी जरूरी संसाधन हैं। यीडा क्षेत्र में एक हजार एकड़ में विकसित होने जा रही इस फिल्म सिटी में फिल्म, टीवी, ओटीटी निर्माण से जुड़े सभी आयामों का पूरा समावेश होना चाहिए। अभिनय से लेकर फिल्म और टीवी से जुड़े सभी प्रशिक्षण देने के लिए चालीस एकड़ क्षेत्र में इंस्टीट्यूट भी बनाया जाएगा। प्रदेश के युवा यहां प्रशिक्षण लेकर अपने सपनों को साकार कर सकेंगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया कि वीएफएक्स, एनिमेशन और गेमिंग इंडस्ट्री के सुनहरे भविष्य को देखते हुए यहां इसके विकास की व्यवस्था भी की जाए। थीम आधारित मनोरंजन पार्कों की स्थापना इसे पर्यटन स्थल के रूप में भी लोकप्रिय बनाएगी। उन्होंने कहा कि प्रोजेक्ट के स्वरूप के संबंध में भारत के साथ-साथ विश्व के प्रतिष्ठित फिल्म निर्माताओं, निर्देशकों, स्टूडियो, तकनीशियनों से भी परामर्श लिया जाए, ताकि उत्तर प्रदेश की फिल्म सिटी के रूप में दुनिया की एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को नया ठिकाना मिल सके। उन्होंने कहा कि ऐसे प्रयास हों, जिससे वर्ष 2022 तक यहां शूटिंग शुरू हो सके।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.