सीएम योगी आदित्यनाथ बोले- यूपी में 2022 के विधानसभा चुनाव में भाजपा तोड़ेगी 2017 का रिकार्ड

सीएम योगी दित्यनाथ ने मंगलवार को मुरादाबाद सम्भल और बिजनौर जिले में जनसभाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि पीएम नरेन्द्र मोदी के रहते कोई देश की सीमाओं की तरफ देख नहीं सकता। यूपी में कानून का राज है। सरकार सख्ती नहीं करती तो उपद्रवी प्रदेश जला देते।

Umesh TiwariTue, 21 Sep 2021 09:23 PM (IST)
मुख्यमंत्री योगी दित्यनाथ ने मंगलवार को मुरादाबाद, सम्भल और बिजनौर जिले में जनसभाओं को संबोधित किया।

लखनऊ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी में 2022 के चुनाव में भाजपा अपना 2017 का रिकार्ड तोड़ने जा रही है। हमारी सरकार ने बिना भेदभाव के प्रदेश में विकास कराया है, अब आप भी बिना भेदभाव के समर्थन करें। उन्होंने कहा कि गन्ना मूल्य शीघ्र घोषित होगा। इस दौरान उन्होंने कानून व्यवस्था के मुद्दे पर विरोधियों को जमकर निशाने पर रखा। उन्होंने तालिबान के समर्थन में होने वाली बयानबाजी पर तल्ख तेवर दिखाए। यह कहकर कि अफगानिस्तान में तालिबान जो कर रहा है, वह विश्व देख रहा है। ऐसे लोगों का समर्थन करने से सपा नेताओं के चेहरे उजागर हुए हैं। जनता को घबराने की जरूरत नहीं है। भाजपा सरकार तालिबान की भाषा बोलने वालों को कानून के दायरे में लाकर सजा देगी।

मुख्यमंत्री योगी दित्यनाथ ने मंगलवार को मुरादाबाद, सम्भल और बिजनौर जिले में जनसभाओं को संबोधित किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के रहते कोई देश की सीमाओं की तरफ देख नहीं सकता। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था का राज है। सरकार सख्ती नहीं करती तो एनआरसी के मुद्दे पर उपद्रवी प्रदेश जला देते।

बिजनौर के मधुसूदनपुर देवीदास गांव में राजकीय मेडिकल कालेज का शिलान्यास करने के बाद सीएम योदी समीप ही जनसभास्थल के मंच पर पहुंचे। लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी के 70 साल में यूपी में सात मेडिकल कालेज थे। उनकी सरकार ने 30 नए मेडिकल कालेज बनवाने का बीड़ा उठाया है, इनमें गोरखपुर और रायबरेली में एम्स का निर्माण कराया जा चुका है, बाकी पर काम चल रहा है। उत्तर प्रदेश विकास की बुलंदियां छू रहा है। उन्होंने विदुर कुटी में प्राच्य विद्या अध्ययन केंद्र बनाए जाने की भी घोषणा की।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले त्योहारों पर दंगे होते थे, लेकिन अब किसी की हिम्मत नहीं कि प्रदेश में दंगा कराए। अब कांवड़ यात्रियों पर पत्थर नहीं फूल बरसाए जाते हैं। पिछले साढ़े चार साल में गोकुशी, अवैध बूचड़खाने बंद हो गए हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया की कोई ताकत अब अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के मंदिर निर्माण को नहीं रोक सकती। कहा कि प्रदेश में 30 हजार लड़कियों को नौकरी दी गई है। कोरोना से लड़ने के लिए हर माह 15 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बिजनौर की सभा में किसानों की भी नब्ज टटोली। उन्होंने कहा कि गन्ना मूल्य शीघ्र घोषित किया जाएगा। इसके लिए एक कमेटी का गठन किया गया है। राजकीय मेडिकल कालेज के शिलान्यास के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सबसे पहले महात्मा विदुर की धरती को नमन किया। बताया कि मेडिकल कालेज का नाम महात्मा विदुर मेडिकल कालेज किया गया है।

सम्भल के कैला देवी धाम में उन्होंने तालिबान की बर्बरता को लेकर जनता से भी सीधे सवाल किए। भरोसा दिलाया कि उत्तर प्रदेश के अंदर अपराध पर अंकुश है। प्रधानमंत्री की तारीफ करते हुए बोले, भाजपा सरकार में देश की सीमाएं सुरक्षित हैं। जब तक देश की कमान नरेन्द्र मोदी के हाथ में है, तब तक भारत की ओर गलत नजरें डालने की कोई हिम्मत नहीं करेगा।

इससे पहले मुरादाबाद के ठाकुरद्वारा विधानसभा क्षेत्र में गांव रतुपुरा में आयोजित जनसभा में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चुनाव से छह महीने पहले जगाने आया हूं। पिछली बार की गलती नहीं दोहराना। उन्होंने एनआरसी के विरोध में प्रदेश में हुई हिंसा का भी जिक्र किया। कहा कि विरोधी दलों ने प्रदेश को आग में झोंकने का काम किया था। अगर हम सख्ती नहीं करते तो वे प्रदेश को जला देते।

धनगर जाति को जल्द एससी-एसटी में शामिल करेंगे : मुरादाबाद के ठाकुरद्वारा में मुख्यमंत्री ने एलान किया कि धनगर जाति को एसटी एसटी में शामिल करने के लिए सरकार गंभीरता से विचार कर रही है। एक कमेटी का गठन किया है।

महिला खिलाड़ी के पिता को दिए पांच लाख : सीएम योगी बिजनौर में मारी गई खो-खो खिलाड़ी के पिता से भी मिले। मुख्यमंत्री ने पांच लाख का चेक मृतका के पिता को सौंपा। अधिकारियों को आरोपित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.