सीएम योगी आदित्यनाथ का निर्देश, ओमिक्रोन से बचाव के लिए पांच चिकित्सा संस्थानों में करें जीनोम सिक्वेंसिंग

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से बचाव के लिए उपाए किए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने कहा कि विश्व के अनेक देशों में नए वैरिएंट के संक्रमित मिलने की संख्या में बढोतरी हो रही है। ऐसे में हमें बहुत सतर्कता-सावधानी की जरूरत है।

Umesh TiwariWed, 01 Dec 2021 04:16 PM (IST)
सीएम योगी आदित्यनाथ ने ओमिक्रोन से बचाव के लिए उपाए किए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।

लखनऊ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से बचाव के लिए सभी जरूरी उपाए किए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने कहा कि विश्व के अनेक देशों में नए वैरिएंट के संक्रमित मिलने की संख्या में बढोतरी हो रही है। ऐसे में हमें बहुत सतर्कता-सावधानी की जरूरत है। सभी जगहों पर मास्क को अनिवार्य कराएं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को उच्च स्तरीय बैठक में निर्देश दिए कि राजधानी स्थित किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) व संजय गांधी पीजीआइ के अलावा गोरखपुर, झांसी व मेरठ के मेडिकल कालेजों में जीनोम सिक्वेंसिंग के पुख्ता इंतजाम किए जाएं। इसके अलावा दूसरे देशों और प्रदेशों से उत्तर प्रदेश आ रहे हर व्यक्ति की जांच जरूर की जाए। बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन व एयरपोर्ट पर अतिरिक्त सतर्कता बरतने की जरूरत है, बिना किसी की जांच किए उसे बाहर न आने दिया जाए। केंद्र सरकार की तरफ से गाइडलाइंस को प्रभावी रूप से लागू किया जाए। पहले चरण में इंटरस्टेट कनेक्टिविटी वाले बस स्टेशन पर जांच को तेजी से बढ़ाते हुए अतिरिक्त सतर्कता बरतें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए कि सभी 80 हजार निगरानी समितियां सक्रिय रहें ताकि समय पर कोरोना संक्रमित की पहचान कर उसके सैंपल की जीनोम सिक्वेंसिंग कराई जा सके। ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में सैनिटाइजेशन व स्वच्छता पर विशेष जोर दिया जाए। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि अब तक सरकारी अस्पतालों में 524 आक्सीजन प्लांट शुरू हो चुके हैं। सीएम ने कहा कि टीकाकरण अभियान में तेजी लाई जाए और दिव्यांग, निराश्रित व वृद्धजनों से संपर्क कर उन्हें टीका लगवाया जाए। सभी जिलों में मुख्य चिकित्साधिकारी इस कार्य के लिए पार्षदों व ग्राम प्रधानों से सहयोग लें। टीकाकरण से छूटे लोगों को सूचीबद्ध करें और उन्हें वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित व प्रोत्साहित करें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड से बचाव के लिए ट्रेसिंग, टेस्टिंग, ट्रीटमेंट और टीकाकरण की नीति के सही क्रियान्वयन से प्रदेश में महामारी पूरी तरह नियंत्रित है। बीते 24 घंटों में हुई एक लाख 53 हजार 569 सैम्पल की जांच में कुल सात संक्रमितों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में तीन संक्रमित कोरोना मुक्त भी हुए। आज प्रदेश में कुल एक्टिव कोविड केस की संख्या 92 है। कोविड पर प्रभावी नियंत्रण बनाए रखने के लिए सावधानी और सतर्कता जरूरी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि कोविड टीके की दोनों खुराक पाने वालों की संख्या सबसे अधिक उत्तर प्रदेश में है। यहां पांच करोड़ तीन लाख अधिक लोगों को टीके की दोनों डोज देकर कोविड का सुरक्षा कवर प्रदान कर दिया गया है। 11 करोड़ 23 लाख लोगों ने टीके की पहली डोज प्राप्त कर ली है। यह संख्या टीकाकरण के लिए पात्र प्रदेश की कुल आबादी की लगभग 76.20 फीसदी से अधिक है। इस प्रकार प्रदेश में अब तक 16 करोड़ 27 लाख से अधिक कोविड वैक्सीन डोज लगाए जा चुके हैं। कोविड टेस्टिंग और टीकाकरण में उत्तर प्रदेश देश में शीर्ष स्थान पर है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.