दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

UP में COVID थर्ड वेव के लिए मौर्चाबंदी शुरू, सभी मेडिकल कॉलेज में बनेगा सौ-सौ बेड का पीडियाट्रिक ICU

सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी के सभी मेडिकल कॉलेजों में सौ-सौ बेड का पीडियाट्रिक आइसीयू बनाने का निर्देश दिया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश को कोरोना की तीसरी लहर के लिए पूरी तरह तैयार रहना चाहिए। सभी मेडिकल कॉलेजों में 100-100 बेड का पीडियाट्रिक आइसीयू वार्ड तैयार किया जाए। चिकित्सा शिक्षा मंत्री इस काम की सतत निगरानी करेंगे।

Umesh TiwariMon, 17 May 2021 09:43 PM (IST)

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में बड़ी चुनौती का सामना कर चुके उत्तर प्रदेश को अब तीसरी लहर के लिए पहले से ही तैयार किया जा रहा है। विशेषज्ञों द्वारा कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों के स्वास्थ्य पर खतरे की आशंका जताए जाने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में सौ-सौ बेड का पीडियाट्रिक आइसीयू बनाने का निर्देश दिया है। सभी डॉक्टरों को बच्चों के इलाज के लिए प्रशिक्षित भी किया जाएगा।

पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया था कि सभी मंडल मुख्यालयों पर सौ-सौ बेड और जिला अस्पतालों में करीब 25-25 बेड के पीडियाट्रिक आइसीयू बनाए जाएं। गौतमबुद्धनगर, मेरठ और गाजियाबाद का निरीक्षण करने के बाद सोमवार को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों के दौरे पर निकलने से पहले सीएम योगी ने गाजियाबाद से ही टीम-9 के साथ वर्चुअल बैठक की।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश को कोरोना की तीसरी लहर के लिए पूरी तरह तैयार रहना चाहिए। सभी मेडिकल कॉलेजों में 100-100 बेड का पीडियाट्रिक आइसीयू वार्ड तैयार किया जाए। बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर और केजीएमयू लखनऊ के डॉक्टर इस संबंध में भली-भांति प्रशिक्षित हैं। उनके अनुभवों का लाभ लेते हुए प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेज और अस्पतालों के डॉक्टरों का प्रशिक्षण कराया जाए। अन्य जिलों में मुख्यालयों पर महिला अस्पतालों में भी इस तरह की व्यवस्था करें। चिकित्सा शिक्षा मंत्री इस काम की सतत निगरानी करेंगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना से जुड़ी हर तरह की चुनौती के लिए हमें तैयार रहना होगा। केस कम हो रहे हैं, फिर भी कोविड का खतरा बना हुआ है। तीसरी लहर को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग प्रदेश के सभी जिलों के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में उपकरणों की मरम्मत व मैनपावर की पर्याप्त उपलब्धता कराएं। यह सारा काम अगले एक सप्ताह में कर लिया जाए। इसी तरह प्रदेश के कुछ जिलों में ब्लैक फंगस के केस मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग व चिकित्सा शिक्षा विभाग सुनिश्चित करे कि ब्लैक फंगस के हर मरीज को समुचित इलाज मिले।

डीआरडीओ की नई दवा के लिए भेजें मांग : सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से कहा कि कोविड-19 के इलाज की दिशा में लगातार अनुसंधान हो रहे हैं। हमें इन पर नजर बनाए रखनी चाहिए। डीआरडीओ द्वारा विकसित एक नई दवा के आपातकालीन उपयोग की अनुमति मिली है। इसे लांच किया जा रहा है। प्रारंभिक तौर पर भारत सरकार के स्तर से इसका वितरण होगा। इस संबंध में आवश्यक मांग पत्र तत्काल भेजकर इसकी आपूर्ति सुनिश्चित कराई जाए।

एडीजी स्तर के अफसर से कराएं आजमगढ़ शराब कांड की जांच : आजमगढ़ सहित कई जिलों में जहरीली शराब से जुड़े मामलों पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने नाराजगी जताई है। उन्होंने निर्देश दिया कि एडीजी स्तर के एक अधिकारी को आजमगढ़ के प्रकरण की गहन जांच के लिए तत्काल नामित किया जाए। दोषियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून जैसी धाराएं लगाकर कठोरतम दंड दिलाएं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.