CM Yogi Adityanath COVID Positive: मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की सेहत में तेजी से सुधार, ऑक्सीजन स्तर सामान्य; बुखार भी नहीं

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है

CM Yogi Adityanath COVID Positive उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है। योगी आदित्यनाथ बीते बुधवार को कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे। जिसके बाद से वह लखनऊ में होम आइसोलेशन में हैं।

Dharmendra PandeySun, 18 Apr 2021 07:33 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर की चपेट में आने वाले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सेहत में तेजी से सुधार हो रहा है। चैत्र नवरात्र में नौ दिन का व्रत रखने वाले सीएम योगी आदित्यनाथ संक्रमित होने के बाद भी लगातार उत्तर प्रदेश की समीक्षा कर रहे हैं। वह हर दिन टीम-11 के साथ कोरोना वायरस के उत्तर प्रदेश में प्रकोप की समीक्षा करने के साथ अफसरों को निर्देश भी दे रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है। योगी आदित्यनाथ बीते बुधवार को कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे। जिसके बाद से वह लखनऊ में होम आइसोलेशन में हैं। मुख्यमंत्री की स्थिति पर डॉक्टर्स लगातार कड़ी नजर रख रहे हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ को अब बुखार नहीं है। इसके साथ ही अब उनके ऑक्सीजन का स्तर भी सामान्य है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को भी प्रदेश में कोरोना की स्थिति पर टीम-11 के साथ की बैठक की। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक के दौरान उन्होंने टीम-11 को सुझाव देने के साथ ही सभी डीएम को भी निर्देश दिया।

तीन मंत्रियों जिम्मेदारी: सीएम योगी आदित्यनाथ ने समीक्षा बैठक के दौरान प्रदेश में औषधियों और इंजेक्शन की कमी की समीक्षा और वितरण की जिम्मेदारी स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह और अतुल गर्ग (राज्यमंत्री, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) को सौंपी है। ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ ही कोविड से प्रभावित 12 जि़लों में आईसीयू और बेड्स का इंतजाम करने का काम चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना को सौंपा है।

ना हो लापरवाही: कोविड-19 को लेकर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भी प्रदेश के सभी अस्पतालों में दवाओं, ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की व्यवस्था सुनिश्चित करने की बात कहते हुए कहा कि किसी भी मरीज से निर्धारित शुल्क से अधिक वसूली ना हो। इस बात का विशेष ध्यान रखें। कोविड से संबंधित जानकारी देने के लिए स्थापित हेल्प सेंटर ठीक तरह से काम करें। राज्यपाल ने जिलाधिकारियों को कहा कि इस कार्य में विश्वविद्यालय का भी सहयोग ले सकते हैं। राज्यपाल ने लखनऊ के केजीएमयू और संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में चल रहे कोविड उपचार के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कोरोना की रोकथाम के उपायों पर संतोष व्यक्त किया और चिकित्सकों की हौसला अफजाई की।

मास्क ना पहनने वालों के साथ हो कड़ाई: बढ़ते कोरोना संक्रमण से चिंतित राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी और कानपुर के जिलाधिकारियों से फोन पर बात की। राज्यपाल ने अधिकारियों से कोरोना संक्रमण की रोकथाम, उपचार और सुरक्षात्मक उपायों की जानकारी ली। राज्यपाल ने कोविड वैक्सीन लगाए जाने की प्रगति भी जानी और वैक्सीन लगाए जाने की गति बढ़ाने की अपील भी की। कोविड वैक्सीन लगाने की गति बढ़ाने के साथ ही यह निर्देश दिए कि किसी भी मरीज से निर्धारित शुक्ल से अधिक वसूली ना हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए। राज्यपाल ने यह भी कहा कि सभी से मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से कराया जाए और इसका उल्लंघन करने वाले लोगों के साथ कड़ाई की जाए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.