top menutop menutop menu

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा- यूपी में एक साथ चलेंगे जल जीवन मिशन के चारों चरण

लखनऊ, जेएनएन। केंद्र सरकार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आश्वस्त किया है कि जल जीवन मिशन के तहत हर घर नल योजना हर हाल में वर्ष 2022 तक पूरी कर ली जाएगी। केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सीएम योगी ने कहा कि मिशन के चारों चरण एक साथ चलेंगे और हर महीने वह खुद इसकी समीक्षा करेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अपने सरकारी आवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को बताया कि जल जीवन मिशन के चार चरणों में बुंदेलखंड, विंध्य क्षेत्र, आर्सेनिक व फ्लोराइड और जेई व एईएस से प्रभावित क्षेत्र शामिल हैं। हर घर नल योजना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। इसी रास्ते पर चलते हुए 30 जून को बुंदेलखंड क्षेत्र के झांसी, ललितपुर और महोबा जिले की 12 ग्रामीण पाइप पेयजल परियोजनाओं के निर्माण कार्यों का शुभारंभ किया जा चुका है। शेष चार जिलों के निर्माण कार्य भी जल्द शुरू हो जाएंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इसके साथ ही विंध्य क्षेत्र के मीरजापुर व सोनभद्र में काम शुरू होने जा रहा है, जबकि आर्सेनिक, फ्लोराइड और जेई व एईएस प्रभावित क्षेत्रों के लिए डीपीआर बन रही है। खुली निविदा के माध्यम से उच्च गुणवत्ता वाली एजेंसियों का चयन कर योजना का काम कराया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन की तर्ज पर ही जल जीवन मिशन की योजनाओं को मिशन मोड पर चलाया जाएगा। लक्ष्यों को समयबद्ध ढंग से पूरा कराने के लिए प्रत्येक माह वह खुद समीक्षा करेंगे।

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2024 तक हर घर नल योजना से पेयजल पहुंचाने का लक्ष्य तय किया था, जिसे वर्ष 2022 तक पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में इसकी सफलता के लिए समयबद्ध ढंग से काम किया जाना जरूरी है। धनराशि की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। इस अवसर पर प्रदेश के जलशक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह, केंद्रीय सचिव जलशक्ति मंत्रालय परमेश्वरन अय्यर, केंद्रीय अपर सचिव जलशक्ति भरत लाल, प्रमुख सचिव नमामि गंगे एवं ग्रामीण जल संसाधन अनुराग श्रीवास्तव, अपर मुख्य सचिव ङ्क्षसचाई टी.वेंकटेश, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल व प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.