सीएम योगी आदित्यनाथ का अफसरों को निर्देश- पारदर्शिता, निष्पक्षता और समयबद्धता के साथ करें भर्तियां

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विभागों में रिक्त पदों पर भर्ती की प्रक्रिया को तेजी से आगे बढ़ाने का निर्देश दिया।
Publish Date:Mon, 21 Sep 2020 10:40 PM (IST) Author: Umesh Tiwari

लखनऊ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य सरकार के अधीन सभी विभागों में रिक्त पदों पर भर्ती की प्रक्रिया को और तेजी से आगे बढ़ाने का निर्देश दिया है। नौकरियों के लिए भर्ती प्रक्रिया को पूरी पारदर्शिता और निष्पक्षता के साथ संचालित करते हुए उन्हें तय समय में पूरा करने का निर्देश दिया है। उन्होंने मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी और अपर मुख्य सचिव कार्मिक मुकुल सिंघल को प्रत्येक विभाग से रिक्त पदों का प्रामाणिक विवरण प्राप्त कर प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है।

उत्तर प्रदेश में भर्तियों को रफ्तार देने के साथ उन्हें पारदर्शिता के साथ संपन्न कराने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने सरकारी आवास पर विभिन्न भर्ती संस्थाओं/आयोगों/बोर्ड के अध्यक्षों और अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष डॉ.प्रभात कुमार, उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष प्रवीर कुमार, उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग के अध्यक्ष प्रो.ईश्वर शरण विश्वकर्मा, उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड के अध्यक्ष बीरेश कुमार, उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड के अध्यक्ष डॉ.आरके विश्वकर्मा और उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड के अध्यक्ष अरविंद कुमार से विस्तृत बातचीत करते हुए इन संस्थाओं में भर्तियों की ताजा स्थिति के बारे में जानकारी प्राप्त की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इन भर्ती संस्थाओं के तहत रिक्त पदों पर चयन प्रक्रिया पारदर्शी और समयबद्ध ढंग से पूरा किया जाए। परीक्षाओं को समय से संपन्न कराते हुए उनके परिणाम भी शीघ्र घोषित किए जाएं। चयन परीक्षाओं में कोविड-19 प्रोटोकॉल और शारीरिक दूरी का पूरी तरह पालन किया जाए। भर्ती संस्थाओं के प्रमुखों को आगाह भी किया कि परीक्षाओं को लेकर किसी भी प्रकार की अनियमितता या लापरवाही की गुंजाइश न रहे। पूरी तैयारी के साथ पारदर्शी ढंग से चयन परीक्षाओं को आयोजित किया जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि शीघ्रता के साथ रिक्त पदों का विवरण उपलब्ध कराते हुए उन्हें अधियाचन के लिए भेजा जाए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के युवाओं को नौकरी तथा रोजगार के पर्याप्त अवसर उपलब्ध कराने के लगातार प्रयास कर रही है जिससे उनका भविष्य उज्ज्वल हो। पिछले तीन वर्षों में तीन लाख से अधिक अभ्यर्थियों को नौकरी दिए जाने पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि पारदर्शितापूर्ण ढंग से योग्य और अच्छे अभ्यर्थियों का चयन करते हुए विभिन्न विभागों में रिक्त पद शीघ्र भरे जाएं।

बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बीते तीन वर्षों के दौरान विभिन्न विभागों में हुईं भर्तियों का विवरण दिया गया। उन्हें बताया गया कि मौजूदा सरकार की ओर से पुलिस विभाग में रिक्त पदों के सापेक्ष अब तक की गईं 1,37,253 भर्तियां वर्ष 2007 से 2017 के बीच की गईं भर्तियों के मुकाबले कई गुना अधिक हैं। बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी, अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा मोनिका गर्ग, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

तीन वर्ष में हुईं इतनी भर्तियां

विभाग/भर्ती संस्था : भरे गए पदों की संख्या पुलिस विभाग : 1,37,253 बेसिक शिक्षा विभाग : 54,706 चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग (समूह 'ख', 'ग' व 'घ') : 8,556 राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन : 28,622 उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग : 26,103 उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग : 16,708 माध्यमिक शिक्षा विभाग : 14,000 उच्च शिक्षा विभाग : 4,615 चिकित्सा शिक्षा विभाग : 1,112 नगर विकास विभाग : 700 सहकारिता विभाग : 726 वित्त विभाग : 614 प्राविधिक शिक्षा/व्यावसायिक शिक्षा विभाग : 365 उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन (ऊर्जा विभाग) : 6,446

इतने पदों पर भर्ती की प्रक्रिया जारी

विभाग/भर्ती संस्था : पदों की संख्या उत्तर प्रदेश  लोक सेवा आयोग : 5,421 उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन अयोग : 35,019 उच्चतर शिक्षा सेवा अयोग : 290 बेसिक शिक्षा विभाग : 69000 पुलिस विभाग : 16836 उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन (ऊर्जा विभाग) : 853

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.