लखनऊ नगर निगम के 15 राजस्व निरीक्षकों को चार्जशीट, देखें पूरी ल‍िस्‍ट

भवन कर वसूली में लापरवाही पर जोन छह के सभी कर अधीक्षकों और अधीक्षकों पर कार्रवाई।

इसमें कई राजस्व निरीक्षक ऐसे हैं जो अपनी पहली तैनाती के साथ ही तीन से चार साल में एक ही जोन में तैनात हैं लेकिन भवन कर वसूली में फिसड्डी साबित हो गए। समीक्षा बैठक की रिपोर्ट शुक्रवार को जारी की गई।

Anurag GuptaSat, 16 Jan 2021 08:34 AM (IST)

लखनऊ, जेेेेेेेएनएन। भवन कर वसूली में लापरवाही बरतने वाले नगर निगम के 15 राजस्व निरीक्षकों और कर अधीक्षकों पर शुक्रवार को कार्रवाई की गई। इसमें कई राजस्व निरीक्षक ऐसे हैं, जो अपनी पहली तैनाती के साथ ही तीन से चार साल में एक ही जोन में तैनात हैं, लेकिन भवन कर वसूली में फिसड्डी साबित हो गए। समीक्षा बैठक की रिपोर्ट शुक्रवार को जारी की गई।

इन्हें मिली चार्जशीट

जोन एक में तैनात राजस्व निरीक्षक श्रेणी-2 भोलानाथ के वार्ड मशकगंज वजीरगंज और विक्रमादित्य वार्ड में कुल आवासीय भवनों के सापेक्ष 32.50 प्रतिशत और अनावासीय भवनों से 49.48 प्रतिशत की वसूली पाई गई। इसी तरह गोलागंज और जेसी बोस वार्ड में राजस्व निरीक्षक (श्रेणी वन) उबैदुर्रहमान की वसूली भी आवासीय भवनों से 33.15 प्रतिशत और अनावासीय भवनों में 35.90 प्रतिशत पाई गई। जोन दो में राजस्व निरीक्षक (श्रेणी दो) बलदेव सिंह, अजय कुमार, हरिशंकर पांडेय, मोहम्मद कासिम, संजय वर्मा, सुबोध वर्मा, विशाल श्रीवास्तव को भी कम वसूली पर चार्जशीट दी गई। जोन तीन में अयोध्यादास वार्ड प्रथम व द्वितीय के राजस्व निरीक्षक (श्रेणी दो) ओमप्रकाश वर्मा की वसूली आवासीय भवनों से 31 प्रतिशत ही पाई गई।

भारतेंदु हरिशचंद्र और लाला लाजपत राय वार्ड में अनावासीय भवनों से वसूली 39 प्रतिशत पाई गई। यहां राजस्व निरीक्षक (श्रेणी-वन) स्वाति सिंह तैनात हैं। जोन पांच में सरोजनीनगर (द्वितीय) में वसूली 40.38 प्रतिशत होने पर अनूप कुमार यादव को और सरोजनीनगर (प्रथम) में तैनात राजस्व निरीक्षक (श्रेणी वन) धीरेंद्र प्रताप सिंह की वसूली 42 प्रतिशत वसूली रही। जोन छह में निर्धारित मानक से कम वसूली मिलने पर सभी राजस्व निरीक्षक और अधीक्षकों को चार्जशीट दी गई है। पंद्रह दिन में सुधार न होने पर जोन छह में भवन कर वसूली से जुड़े निरीक्षक और अधीक्षकों के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्यवाही होगी। जोन सात में तैनात राजस्व निरीक्षक श्रेणी दो अशोक सिंह के वार्ड मैथिलीशरण गुप्त और इस्माइलगंज वार्ड में 35 प्रतिशत भवनों से वसूली पाई गई। राजस्व निरीक्षक श्रेणी वन रि‍का पटेल के बाबू जनजीवन राम वार्ड में वसूली 39.19 प्रतिशत पाई गई। उन्हें भी चार्र्जशीट दी गई।

इन्हें मिला कारण बताओ नोटिस

जोन चार में रफी अहमद किदवई वार्ड में अनावासीय भवनों से न्यूनतम वसूली 39.61 प्रतिशत मिलने पर तैनात राजस्व निरीक्षक (श्रेणी वन) नमिता सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। जोन आठ में राजा बिजली पासी वार्ड (द्वितीय) में अनावासीय भवनों से 53 प्रतिशत वसूली मिलने पर निरीक्षक राजेश पटेल और शारदानगर वार्ड (द्वितीय) के निरीक्षक पीयूष तिवारी को अनावासीय भवनों से 40 प्रतिशत वसूली मिलने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। जोन एक के कर अधीक्षक अनूप श्रीवास्तव और राकेश कुमार को भी कम वसूली के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.