Ayodhya Ram Mandir News: रामजन्मभूमि परिसर का होगा विस्तार, एक करोड़ में हुआ पहला बैनामा

ट्रस्ट के महासचिव चंपतराय ने खरीदा 676.85 वर्ग मीटर का भूखंड।

मंदिर पांच एकड़ में निर्मित होना है। मंदिर का पूरा परिसर अब तक 70 एकड़ में सीमित था पर मंदिर निर्माण समिति ने इसके विस्तार की योजना बनाई जिसे अब जमीन पर उतारने का कार्य आरंभ कर दिया गया है। इसे तकरीबन 107 एकड़ तक विस्तारित किया जाना है।

Anurag GuptaTue, 02 Mar 2021 07:45 PM (IST)

अयोध्या, [रमाशरण अवस्थी]। 70 एकड़ के रामजन्मभूमि परिसर को सौ एकड़ से ज्यादा क्षेत्र में विस्तार देने का स्वप्न साकार होने लगा है। मंदिर निर्माण के लिए चल रही नींव खोदाई के समानांतर रामजन्मभूमि परिसर के विस्तार की कार्यवाही शुरू हो गई है। श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपतराय ने एक करोड़ रुपये में पहला भूखंड खरीदा है। खरीदा गया भूखंड 676.85 वर्ग मीटर का है, जो नगरी की शीर्ष पीठ अशर्फी भवन से सटा है। इस भूखंड के स्वामी दीपनारायण ने ट्रस्ट को जमीन का बैनामा लिखा है। भूमि की इस खरीद में गवाह के तौर पर ट्रस्ट के सदस्य डॉ. अनिल मिश्र व गोसाईंगंज के भाजपा विधायक इंद्रप्रताप तिवारी खब्बू शामिल हैं। बैनामे पर दोनों के ही हस्ताक्षर हैं।

भगवान राम का मंदिर पांच एकड़ में निर्मित होना है। मंदिर का पूरा परिसर अब तक 70 एकड़ में सीमित था, पर मंदिर निर्माण समिति ने इसके विस्तार की योजना बनाई, जिसे अब जमीन पर उतारने का कार्य आरंभ कर दिया गया है। इसे तकरीबन 107 एकड़ तक विस्तारित किया जाना है। ट्रस्ट जल्द ही रामकोट के अन्य भवन तथा मंदिर स्वामियों से भी भूमि हासिल करने की कोशिश करेगा। ट्रस्ट अन्य भूखंडों की खरीदारी के लिए इस क्षेत्र के नागरिकों से संपर्क साधने में जुटा है। इसकी योजना पर ट्रस्ट मंथन कर रहा है। राम मंदिर परिसर में ही यज्ञशाला, श्रीराम के जीवन चरित्र से जुड़ी झांकियां, पुस्तकालय, संग्रहालय निर्मित कर इसे दुनिया का भव्यतम मंदिर बनाने की योजना है। पहले भूखंड के बैनामे के साथ ही परिसर के समीप स्थित अन्य भवनों, मंदिरों व भूमि की खरीदारी की प्रक्रिया तेज होने की उम्मीद है।  

अयोध्या धाम के नाम से जाना जाएगा नया बस स्टेशन 

अयोध्या में हाईवे किनारे बन कर तैयार नया बस स्टेशन अयोध्या धाम के नाम से जाना जाएगा। परिवहन निगम ने नए बस स्टेशन पर अयोध्या धाम बस स्टेशन का बोर्ड लगा दिया है, हालांकि इस नवर्निर्मित बस स्टेशन से बसों का संचालन कब प्रारंभ होगा, इस पर जिम्मेदार अधिकारी कुछ कह पाने की स्थिति में नहीं हैं। तैयारियां धीरे-धीरे आकार ले रही हैं, लेकिन टेक्निकल टीम के निरीक्षण और हैंडओवर की प्रक्रिया अभी बाकी है। दो विभागों के बीच झूल रही मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी परियोजना अंतरराष्ट्रीय बस स्टेशन निर्माण में अब तक 14 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं। 

वर्ष 2019 के अक्टूबर माह में हाईवे पर माझा बरेहटा के पास नए बस स्टेशन का निर्माण शुरू हुआ था। 7.35 करोड़ की लागत से 4.72 एकड़ में बस स्टेशन का निर्माण पिछले वर्ष ही पूर्ण हो जाना था। निर्माण कार्य का समय बढऩे के साथ ही लागत भी बढ़ गई। 14 करोड़ रुपये खर्च होने के बाद भी अभी तक नए बस स्टेशन से बसों का संचालन शुरू नहीं हो सका है। कार्यदायी संस्था उप्र. राजकीय निर्माण निगम का कहना है कि बजट के अनुरूप बस स्टेशन का निर्माण कर पर्यटन विभाग के सुपुर्द कर दिया गया है। पर्यटन विभाग इस विषय पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। अयोध्या धाम बस स्टेशन का संचालन परिवहन निगम के साथ ही उप्र. राज्य पर्यटन विकास निगम करेगा। पर्यटन विकास निगम अयोध्या धाम बस स्टेशन परिसर में बनी 13 दुकानों को संचालित करेगा और परिवहन निगम सिर्फ बसों का संचालन करेगा। परिवहन निगम के अधिकारी रोज नए बस स्टेशन का चक्कर लगा रहे है और बसों के संचालन और व्यवस्था को अंतिम रूप देने के लिए प्रयासरत हैं। क्षेत्रीय प्रबंधक एसपी ङ्क्षसह ने बताया कि हैंडओवर होने के बाद ही हम बसों का संचालन शुरू कर सकेंगे। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.