लखनऊ के विभूतिखंड थाने में भाई-बहन के साथ मारपीट, पुलिस आयुक्त ने द‍िए जांच के आदेश

मंगलवार रात में दोनों सिपाही दोबारा गस्त पर थे। आरोप है कि विराजखंड चार में एक कार ने उन्हें ओवरटेक कर रोक लिया। कार में दोनों युवक एक युवती के साथ मौजूद थे जिन्होंने पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट और अभद्रता की।

Anurag GuptaThu, 16 Sep 2021 08:55 PM (IST)
पुलिस आयुक्त ने डीसीपी पूर्वी को सौंपी मामले की जांच, वीडियो वायरल।

लखनऊ, जागरण संवाददाता। विभूतिखंड पुलिस पर भाई-बहन ने अभद्रता और मारपीट का आरोप लगाया है। गुरुवार को इंटरनेट मीडिया पर भाई बहन का वीडियो वायरल हो गया, जिसमें दोनों पुलिसकर्मियों पर गंभीर आरोप लगा रहे हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर ने डीसीपी पूर्वी को प्रकरण की जांच सौंपी है। पुलिस आयुक्त का कहना है कि जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

चिनहट निवासी हरिओम त्रिपाठी और उनकी बहन शीनू का आरोप है कि मंगलवार रात में पुलिस ने दोनों को विभूतिखंड थाने ले जाकर मारपीट की। वायरल वीडियो में शीनू रोते हुए नजर आ रही हैं। वहीं, उनके भाई का आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने उनका मोबाइल फोन छीन लिया और उसका सारा डाटा डीलीट कर दिए। उधर, इंस्पेक्टर विभूतिखंड चंद्रशेखर सिंह का कहना है कि 13 सितंबर की रात में सिपाही सुरेंद्र कुमार और फूलचंद बाइक से गस्त कर रहे थे। हनीमेन चौराहे के पास दो युवक बैठे थे। दोनों से पूछताछ की गई तो उन्होंने अभद्रता की। एक युवक ने सीडीओ से फोन पर बात भी कराई्, जिसके बाद सिपाही वहां से चले गए।

मंगलवार रात में दोनों सिपाही दोबारा गस्त पर थे। आरोप है कि विराजखंड चार में एक कार ने उन्हें ओवरटेक कर रोक लिया। कार में दोनों युवक एक युवती के साथ मौजूद थे, जिन्होंने पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट और अभद्रता की। थाने से पुलिसबल आने के बाद हरिओम, शीनू और आनंद प्रकाश और एक अन्य युवक को पुलिस थाने लेकर गई। इसके बाद तीनों युवकों का शांति भंग में चालान कर दिया गया, जबकि युवती को उसके घर भेज दिया गया। इंस्पेक्टर ने पुलिस पर लगे आरोप को निराधार बताया है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.