भाजपा वैश्य सम्मेलन में सीएम योगी आदित्यनाथ बोले- प्रदेश में अब जनता नहीं, डरते हैं अपराधी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपने अपने शासन काल में समाज के सभी वर्ग को भय मुक्त किया है। अब प्रदेश में लोग नहीं बल्कि अपराधी डरते हैं। भारतीय जनता पार्टी ने हर वर्ग से जो भी कहा उसको करके दिखाया है।

Dharmendra PandeySun, 14 Nov 2021 05:53 PM (IST)
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा वैश्य-व्यापारी महासम्मेलन को संबोधित किया

लखनऊ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को लखनऊ में वैश्य समाज के प्रतिनिधियों को संबोधित करने के साथ ही भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिकता से भी अवगत कराया। लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल के साथ डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह तथा पूर्व राज्यसभा सदस्य नरेश अग्रवाल ने भी भाजपा वैश्य-व्यापारी महासम्मेलन को संबोधित किया। विधायक नितिन अग्रवाल, उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी आदि ने भी सम्मेलन को संबोधित किया। कार्यक्रम में प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल, महामंत्री जेपीएस राठौर, अशोक अग्रवाल और मेरठ के पूर्व विधायक अमित अग्रवाल आदि मौजूद थे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपने अपने शासन काल में समाज के सभी वर्ग को भय मुक्त किया है। अब प्रदेश में लोग नहीं बल्कि अपराधी डरते हैं। एनकाउंटर के डर से थाना में जाकर सरेंडर करते हैं। व्यापरी भय मुक्त होकर अपने धंधे को आगे बढ़ाने में लगा है। भारतीय जनता पार्टी ने हर वर्ग से जो भी कहा उसको करके दिखाया है। प्रदेश में तो 2017 के पहले प्रदेश के अंदर सबसे खराब स्थिति थी। जगह-जगह पर गुण्डा टैक्स वसूला जाता था। पर्व तथा त्यौहार आते थे तो दंगे शुरू हो जाते थे। आज किसी की मजाल है ऐसा करने की। आज सारे दंगाई चुप बैठे हैं या फिर उत्तर प्रदेश से निकल गए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शामली के कैराना व मुजफ्फरनगर के कांधला में लोग पलायन कर चुके थे। भाजपा के शासन में आने के बाद अधिकारियों ने जाकर इनके परिवार को समझाया और सभी ने वापसी की। मैं कैराना में उस परिवार से मिला जो पलायन कर गया था। परिवार की बच्ची से पूछा कि क्या अब भी डर लगता है उसका जवाब था कि अब हमें डर नहीं लगता अब तो अपराधी डरते हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत 2017 में जो वादा किया था, उसे भाजपा अक्षरश: लागू कर रही है। आज प्रदेश भय मुक्त है, दंगा मुक्त है, अपराध मुक्त है, भ्रष्टाचार मुक्त है। आज विकास की गति जिस तेजी से बढ़ती हुई दिखाई दे रही है। उत्तर प्रदेश देश की नंबर दो अर्थव्यवस्था बन चुका है। उन्होंने कहा कि इसके पहले क्या स्थिति थी? हम छठे-सातवें नंबर पर थे, लेकिन जब चीजें एक साथ जुड़ती हैं, तो रोजगार भी सृजित होता है। ढेर सारी संभावनाएं भी आगे बढ़ती हैं।

उन्होंने कहा कि आज पर्व और त्योहार में कोई व्यवधान नहीं है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश से जो जनप्रतिनिधि आए हैं, याद करिए, जब सावन के महीने में कांवड़ यात्रा निकलती थी। रोक लगा दी जाती थी, नहीं निकलने दिया जाता था, 2017 में मैं जैसे आया, तो जुलाई में मेरे सामने आया कांवड़ यात्रा को रोकने के लिए। मैंने कहा कि हम रोकने के लिए नहीं आए हैं। कांवड़ यात्रा क्यों रुकेगी? हमसे कहा गया कि कानून व्यवस्था का संकट खड़ा हो जाएगा। मैंने कहा, एक बार होने ही दीजिए। एक बार निकालिए, पूरे धूमधाम से निकालिए। पूरी यात्रा निकलेगी नहीं, शासकीय हेलीकाप्टर से हम पुष्प वर्षा भी कराएंगे। आपने देखा होगा कांवड़ यात्रा में चार करोड़ लोग निकलते हैं, कहीं तिनका भी नहीं हिलता।

उन्होंने कहा कि प्रयागराज कुंभ में 24 करोड़ श्रद्धालु आए। यह हमारे लिए अध्ययन का विषय भी था कि इससे हमारी इकोनॉमी पर क्या असर पड़ा है? अभूतपूर्व परिवर्तन आया है। कोई ऐसा व्यक्ति प्रयागराज का नहीं रहा होगा, नाविक से लेकर वहां का कोई बड़ा उद्यमी, जिसने अपनी सेवाएं कुंभ के अवसर पर आने वाले श्रद्धालुओं को न दी हों और वहां के व्यवसाय को बढाने और बदलने में मदद न की हो। बहुत असर पड़ता है। उन्होंने कहा कि अभी आपने देखा होगा, दीपोत्सव का कार्यक्रम अयोध्या में हुआ। कितना भव्य और दिव्य था। पर्यटक भी आएंगे। ये माटीकला बोर्ड से जुड़े कुम्हार और प्रजापति समाज के लोग एक नए रोजगार के साथ आगे बढ़ रहे हैं। पहले हमें लक्ष्मी गणेश की प्रतिमा के लिए हमें चीन पर निर्भर रहना पड़ता था।

उत्तर प्रदेश के पास सिंगल विंडो प्लेटफॉर्म का सबसे बड़ा नेटवर्क

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जीएसटी कलेक्शन के साथ ही व्यापारी कल्याण बोर्ड के साथ हर रजिस्टर्ड व्यापारी को 10 लाख रुपए का सुरक्षा बीमा का कवर भी पूरी मजबूती के साथ लागू किया गया है। आज साढ़े चार वर्ष के अंदर तमाम चुनौतियों का सामना करते हुए, जो तय किया है, उसके पीछे आप सबका सहयोग और इस बदलते हुए प्रदेश को नए भारत के नए उत्तर प्रदेश के रूप में भी हमें मदद मिली है। उन्होंने कहा कि सिंगल विंडो प्लेटफॉर्म का सबसे बड़ा नेटवर्क आज उत्तर प्रदेश के पास है। सरकार निवेश करने वाले किसी भी व्यापारी या उद्यमी के लिए उस प्रकार की सुविधा उपलब्ध करवा रही है, जब अनुकूल वातावरण हर स्तर पर होता है। केंद्र और प्रदेश सरकार जब मिलकर एक साथ काम करती है, तो डबल इंजन की सरकार का लाभ आमजन के जीवन में परिवर्तन करते हुए दिखाई देता है।

दंगा करेंगे, तो सात पीढ़ियां भरते-भरते थक जाएंगी

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आपने 2017 में प्रधानमंत्री के आह्वान पर तत्कालीन भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रणनीति के तहत भाजपा के पक्ष में समर्थन किया, सहयोग किया। सीएम योगी ने पिछली सरकारों का बिना नाम लिए कहा कि आपने देखा होगा प्रदेश के अंदर जो सबसे खराब स्थिति होती थी, भय का माहौल होता था। पर्व और त्योहार आते थे, दंगे शुरू हो जाते थे। गुंडा टैक्स वसूला जाता था। अराजकता का वातावरण था, अव्यवस्था थी। आज साढ़े चार वर्ष हो गए, कोई दंगा नहीं। सबको मालूम है कि दंगा करेंगे, तो सात पीढ़ियां भरते-भरते थक जाएंगी, लेकिन दंगों के द्वारा किसी भी व्यापारी या किसी भी शासकीय नुकसान की भरपाई कभी नहीं कर पाएंगे। इसलिए सभी दंगाई चुप बैठे हैं।

पांच साल की बच्ची बोली, आप हैं न, क्यों डरेंगे हम

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नरेश जी को याद होगा। 1991 में विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कोषाध्यक्ष नंद गोपाल रुणका वाराणसी में थे। अपहरण हुआ, सवा करोड़ रुपए फिरौती भी ली गई और उनकी निर्मम हत्या कर दी गई थी। आज किसी माफिया का दुस्साहस है। आज किसी माफिया में दुस्साहस नहीं, कुछ कर सके। अभी मैं कैराना गया था। 2017 के पहले कैराना और कांधला की क्या स्थिति थी। सभी लोग पलायन कर गए थे। कैराना कभी पश्चिमी उत्तर प्रदेश का प्रमुख बाजार माना जाता था। एक छोटी सी बच्ची मुझे मिली वहां पर। पांचवीं क्लास की बच्ची थी। मैंने उससे पूछा, तुम्हे डर तो नहीं लगता स्कूल जाने में। उसने कहा, आप हैं न, क्यों डरेंगे हम। अब डरेंगे, तो अपराधी। प्रदेश में यह माहौल देने में हम क्यों सफल हुए। क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी का मार्ग दर्शन है।

यूपी में किसी भी काम के लिए सिफारिश नहीं लगानी पड़ती

केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि मैं तो उद्योग मंत्रालय देखता हूं और देश विदेश के व्यापारियों से मिलता हूं। वो सभी यही कहते हैं कि अब हम भी उत्तर प्रदेश में उद्योग लगाना चाहते हैं। योगी आदित्यनाथ ने आज उत्तर प्रदेश में ऐसा माहौल दिया है। आज यूपी में किसी भी काम के लिए सिफारिश नहीं लगानी पड़ती। सभी के काम आसानी से होते हैं। समाज की अंतिम पंक्ति के व्यक्ति तक के काम हो रहे हैं।

गोयल ने कहा कि वैश्य समाज कभी मांगने वाला नहीं रहा बल्कि देने वाला रहा है। इसी कारण अब एक बार फिर आपके पास मौका है कि उत्तर प्रदेश को ऐसी सरकार दीजिए जैसे योगी आदित्यनाथ जी चला रहे हैं। वैश्य समाज हजारों सालों से देश की अर्थव्यवस्था को गति दे रहा है, देश को सही दिशा में लेकर जा रहा है। इसके साथ ही धार्मिक, नैतिक और साहित्य में भी वैश्य समाज ने बहुत बड़ी भूमिका अदा की है। वैश्य समाज अपने से पहले सबसे पहले दूसरों के बारे में सोचता है, दूसरों का ख्याल रखता है, राष्ट्रीयता वैश्य समाज की पहचान है।

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि एक राजू बनिया थे जो जनसंघ से जुड़े थे। उनकी दुकान में छह बार आग लगाई गई क्योंकि वह जनसंघ का झंडा अपनी दुकान पर लगाते थे। बार-बार दुकान जलाए जाने के बाद भी उन्होंने कभी जनसंघ का झंडा नहीं हटाया। आज वैश्य समाज को जो सम्मान और सुरक्षा का एहसास भाजपा की सरकार में हुआ है वह कभी और कहीं नहीं हुआ। वैश्य समाज के खून में भारतीयता है और इसी कारण हमेशा से वैश्य समाज राष्ट्रहित में खड़ा रहता है। आज भी देश में जब भी कभी संकट आता है तो वैश्य समाज सबसे आगे खड़ा रहता है और एक-दूसरे को जोडऩे का काम करता है। 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि पिछली सरकार में मियां जी का फोन आ जाता था और सहारनपुर का गुंडा छोड़ दिया जाता था। अब तो ऐसा किसी भी कीमत पर संभव नहीं है। अपराधी को सजा मिलती है। उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे इस सम्मेलन के आयोजक नरेश अग्रवाल ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में हर अपराधी के मन में भय है। अब कोई अपराधी वसूली नहीं कर सकता, आज अपराधी योगी आदित्यनाथ जी का नाम सुनकर कांपते हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.