भगवान श्रीराम के नाम पर होगा अयोध्या हवाई अड्डा, योगी कैबिनेट में प्रस्ताव को मिली मंजूरी

रामनगरी अध्योध्या में निर्माणाधीन हवाई अड्डे का नाम भी भगवान श्रीराम के नाम पर होगा।

रामनगरी अध्योध्या में निर्माणाधीन हवाई अड्डे का नाम भी भगवान श्रीराम के नाम पर होगा। अध्योध्या हवाई अड्डे का नामकरण मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा अयोध्या किए जाने का प्रस्ताव मंगलवार को योगी कैबिनेट ने स्वीकृत कर दिया।

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 09:33 PM (IST) Author: Umesh Tiwari

लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। रामनगरी अध्योध्या में निर्माणाधीन हवाई अड्डे का नाम भी भगवान श्रीराम के नाम पर होगा। हवाई अड्डे का नामकरण मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा किए जाने का प्रस्ताव मंगलवार को कैबिनेट ने स्वीकृत कर दिया। इस संबंध में विधानसभा में पारित कराने के लिए प्रस्तावित संकल्प के आलेख को अनुमोदित कर दिया गया है। उसके बाद प्रस्ताव नागर विमानन मंत्रालय, भारत सरकार को प्रेषित करने का निर्णय भी लिया गया है।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार रामनगरी अयोध्या को नंबर वन धार्मिक पर्यटन डेस्टिनेशन के रूप में विकसित कर रही है। श्रीराम मंदिर निर्माण के साथ अयोध्या के विकास को पंख लगने वाले हैं। योगी सरकार यहां एयरपोर्ट निर्माण के कार्यों को करा रही है। एयरपोर्ट बन जाने से अयोध्या के साथ इसके आस-पास के पर्यटन स्थलों के विकास को पंख लगेंगे। अयोध्या में देश-विदेश के सैलानियों की सुविधाजनक पहुंच सुनिश्चित होगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व में ही अयोध्या में प्रस्तावित एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा रखने की घोषणा कर दी थी। बीते साल नवंबर में नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने संसद में बताया था कि एएआई को उत्तर प्रदेश सरकार से अयोध्या हवाई अड्डे से जुडा प्रस्ताव मिला है। यह हवाई पट्टी एनएच-27 और एनच-330 के बीच सुल्तानपुर नाका के पास है। इसी हवाई पट्टी को आधुनिक एयरपोर्ट का रूप दिया जा रहा है।

अयोध्या में हवाई पट्टी को अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का आकार देने के लिए तेजी से कार्य किया जा रहा हैं। इस हवाई पट्टी को बडे़ विमानों के लिए तैयार किया जा रहा है। एएआई ने पूर्व में ही प्री-फिजिबिलटी स्टडी पूरी कर ली है. इसके अनुसार राज्य सरकार अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के लिए लगभग 600 एकड़ भूमि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को उपलब्ध कराएगी। हवाई पट्टी को एयरपोर्ट के रूप में विकसित करने एवं अन्य आवश्यक निर्माण कार्यों के लिए 525 करोड़ रुपये की मंजूरी दी गई है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम एयरपोर्ट के पूर्व के मास्टर प्लान के अनुसार राज्य सरकार ने 263.47 एकड़ भूमि खरीदने के लिए 525.91 करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

यह भी पढ़ें : यूपी में झूठ बोलकर धर्म परिवर्तन कराने पर अब दस साल तक की सजा, जानिए अध्यादेश के मुख्य बिंदु

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.