एंटी करप्‍शन के जाल में फंसा लेखपाल, हरदोई में क‍िसान से कब्‍जा हटवाने के नाम पर मांगे थे रुपये

एंटी करप्शन टीम सादे कपड़ों में तहसील में लग गई और जैसे ही लेखपाल विपिन यादव ने रोशन से 10 हजार रुपये लिए पहले से ही आसपास मौजूद टीम ने उसे रुपयों के साथ पकड़ लिया। लेखपाल के रंगे हाथ रुपये पकड़े जाने से तहसील में खलबली मच गई।

Anurag GuptaWed, 22 Sep 2021 06:03 PM (IST)
किसान से रुपये लेते लेखपाल को एंटी करप्शन टीम ने पकड़ा।

हरदोई, संवाद सूत्र। जमीन से अवैध कब्जा हटवाने के लिए किसान से रिश्वत में रुपये लेते लेखपाल को भ्रष्टाचार निवारण संगठन (एंटी करप्शन) की टीम ने तहसील में रंगे हाथ पकड़ लिया। अहिरोरी क्षेत्र में तैनात लेखपाल के विरुद्ध कोतवाली शहर में एफआइआर दर्ज कराकर उसे जेल भेज दिया गया। अल्हादादपुर बजरा वाजिदपुर निवासी रोशन और उसके भाई की जमीन पर कुछ लोगों ने अवैध कब्जा कर लिया था।

भ्रष्टाचार निवारण संगठन के डीआईजी और एसपी को दिए गए शिकायती पत्र में रोशन ने बताया कि प्रधान संजय के सहयोगी मनोज व चंदन के उसकी जमीन पर अवैध कब्जा करने की उसने शिकायत की, जिस पर क्षेत्रीय लेखपाल विपिन यादव ने अवैध कब्जा हटवाने के लिए उससे 50 हजार रुपये मांगे, उसने काफी प्रार्थना की, लेकिन लेखपाल ने बिना रुपये अवैध कब्जा न हटवाने की बात कही और परेशान होकर उसने पूरे मामले की शिकायत की, लेखपाल ने बुधवार को उसके रुपये लेकर तहसील में आने के लिए कहा। रोशन ने बताया कि उसके पास अभी थोड़े रुपये ही हैं, वह लेकर आ जाएगा, उसने इसकी एंटी करप्शन टीम को जानकारी दी।

निरीक्षक नूरुलहुदा खान के नेतृत्व में एंटी करप्शन टीम सादे कपड़ों में तहसील में लग गई और जैसे ही लेखपाल विपिन यादव ने रोशन से 10 हजार रुपये लिए, पहले से ही आसपास मौजूद टीम ने उसे रुपयों के साथ पकड़ लिया। लेखपाल के रंगे हाथ रुपये पकड़े जाने से तहसील में खलबली मच गई, टीम उसे लेकर कोतवाली गई। कोतवाल जगदीश ने बताया कि एंटी करप्शन की तरफ से लेखपाल के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराई गई है और उसे जेल भेज दिया गया है।

रिश्वतखोरी ने खोल दी खेल की पोल : अवैध कब्जा हटवाने के खिलाफ अभियान चलाए  जा रहे हैं। समाधान दिवस आयोजित होते, अधिकारी भी सुनवाई कर ऐसे मामलों में कड़ी कार्रवाई की बात कहते हैं, लेकिन पीड़ितों के साथ क्या हो रहा है यह अपनी ही जमीन से अवैध कब्जा हटवाने के लिए परेशान घूम रहे रोशन की शिकायत और एंटी करप्शन टीम की कार्रवाई बता रही है। रोशन से उसकी ही जमीन से अवैध कब्जा हटवाने के लिए 50 हजार रुपये मांगे जा रहे थे। जानकारों का कहना है कि एक रोशन नहीं आए दिन ऐसे ही मामले सामने आते रहते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.